LAC पर चीन अपनी हरकतें करे बंद तभी सामान्य होंगे संबंध, राज्यसभा में जयशंकर बोले-सैन्य कमांडर्स निर्णय ले रहे

| Dec 07 2022, 06:45 PM IST

LAC पर चीन अपनी हरकतें करे बंद तभी सामान्य होंगे संबंध, राज्यसभा में जयशंकर बोले-सैन्य कमांडर्स निर्णय ले रहे

सार

भारत-चीन के बीच एलएसी पर चीन लगातार सैन्य ढांचा तैयार कर रहा है। लद्दाख में चीन का अतिक्रमण जारी है। इस साल की शुरुआत में अमेरिका के एक शीर्ष जनरल ने एलएसी पर चीन की गतिविधि को आंखें खोलने वाला बताया था।

Parliament Winter session: एलएसी पर चीन की हरकतों पर भारत ने चेतावनी दी है। विदेश मंत्री एस.जयशंकर ने कहा कि चीन के साथ भारत का संबंध तबतक सामान्य नहीं हो सकता है जबतक बीजिंग अपनी आदतों से बाज नहीं आएगा। चीन मनमाने ढंग से एलएसी पर एकतरफा बदलाव करने की कोशिशें बंद करे और सीमा पर शांति स्थापित करने में सहयोग करे। दो दिन पहले ही भारत ने पाकिस्तान को भी आतंकवाद का समर्थन बंद करने की नसीहत दी थी। 

भारत कभी भी एलएसी पर एकतरफा बदलाव बर्दाश्त नहीं करेगा

Subscribe to get breaking news alerts

संसद के शीतकालीन सत्र के दौरान राज्यसभा में विदेश नीति पर बयान देते हुए जयशंकर ने कहा कि भारत ने चीन को स्पष्ट कर दिया है कि वह वास्तविक नियंत्रण रेखा (एलएसी) में एकतरफा बदलाव को बर्दाश्त नहीं करेगा। सांसदों के सवालों पर जवाब देते हुए उन्होंने कहा कि राजनयिक स्तर पर हम चीन के साथ बहुत स्पष्ट रहे हैं। हम किसी भी सूरत में वास्तविक नियंत्रण रेखा पर कोई बदलाव स्वीकार नहीं कर सकते, यह हम यहां कहने के साथ ही चीनियों को भी हर बार चेतावनी दी है। उन्होंने कहा कि चीन के साथ हमारे रिश्ते तबतक सामान्य नहीं हो सकते जबतक वह सीमा पर अपनी ताकत बढ़ाना जारी रखते हैं और एलएसी पर एकतरफा बदलाव करते रहे हैं।

सैन्य कमांडर बातचीत कर रहे, मामला संवेदनशील है

संसद में एस.जयशंकर ने कहा कि पिछले कई वर्षों से भारत-चीन के संबंध सामान्य नहीं रहे। दोनों देशों के सैन्य कमांडर आपस में बातचीत कर रहे हैं। मामला बेहद संवेदनशील है और कुछ मामले ऐसे हैं जो सैन्य कमांडरों पर छोड़ देना चाहिए। उन्होंने कहा कि सदन को ऐसे नाजुक मामले की राष्ट्रीय संवेदनशीलता को समझना चाहिए। कुछ लोग इस मामले को लेकर देश को भ्रमित करने की कोशिश कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि दोनों देश आपसी सम्मान, आपसी संवेदनशीलता और आपसी हित के आधार पर संबंध को टिकाऊ बना सकते हैं।

एलएसी पर चीन कर रहा निर्माण

दरअसल, भारत-चीन के बीच एलएसी पर चीन लगातार सैन्य ढांचा तैयार कर रहा है। लद्दाख में चीन का अतिक्रमण जारी है। इस साल की शुरुआत में अमेरिका के एक शीर्ष जनरल ने एलएसी पर चीन की गतिविधि को आंखें खोलने वाला बताया था। भारतीय सेना और चीनी पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (PLA) मई 2020 में पूर्वी लद्दाख में एलएसी पर आपस में हिंसक रूप से भिड़े थे। इसमें कई सैनिक मारे गए थे। तबसे पूर्वी लद्दाख में LAC पर गतिरोध है।

यह भी पढ़ें:

महाराष्ट्र-कर्नाटक सीमा विवाद: बेलगावी में प्रदर्शनकारियों ने महाराष्ट्र के नंबर वाले ट्रकों में की तोड़फोड़

महिलाओं के कपड़ों पर निगाह रखती थी ईरान की मॉरल पुलिस, टाइट या छोटे कपड़े पहनने, सिर न ढकने पर ढाती थी जुल्म