Asianet News Hindi

गीतिका शर्मा सुसाइड के असली पन्ने, गोपाल कांडा की करतूतें लिख दुनिया छोड़ गई थी एयरहोस्टेस

एयरहोस्टेस और केबिन क्रू की भर्ती के लिए गीतिका गुड़गांव में इंटरव्यू देने आई थी, उसी इंटरव्यू में कांडा पहली बार गीतिका से मिला और इंटरव्यू खत्म होते ही उसे ट्रेनी केबिन क्रू के पद पर रखा लिया। फिर छह महीने बाद जैसे ही गीतिका 18 साल की हुई उसे एयरहोस्टेस बना दिया।

geetika suicide orginal notes gopal kanda was the accused haryana
Author
Chandigarh, First Published Oct 26, 2019, 8:21 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

चंडीगढ़. हरियाणा विधानसभा चुनाव के परिणाम के बाद रेप और मर्डर केस के आरोपी गोपाल कांडा भाजपा को समर्थन देने के बाद आधिक चर्चा में है। हरियाणा में सरकार बनाने के लिए बीजेपी ने कांडा को भी अपनी पार्टी में ले लिया है। ऐसे में कांडा पर साल 2006 का गीतिका शर्मा रेप और मर्डर केस फिर से सुर्खियों में आ गया है। एयरहोस्टेस गीतिका शर्मा ने कांडा पर मानसिक और शारीरिक शोषण, हत्या की साजिश, सुसाइड करने के लिए दवाब डालने, धोखाधड़ी जैसे गंभीर आरोप लगाए थे। गीतिका के सुसाइड नोट के आधार पर कांडा पर केस दर्ज किया गया था। वह दो साल जेल की सजा भी काट चुका है फिलहाल जमानत पर बाहर है।

आइए जानते हैं आखिर गीतिका ने अपने सुसाइड नोट में क्या लिखा था..

साल 2006 की बात है, गोपाल कांडा ने जूता फैक्ट्री चल जाने के बाद ब्लिडर्स के बिजनेस से जमकर पैसा कमाया और एमडीएलआर नाम की एयरलाइंस कंपनी शुरू की। इसी हवाई कंपनी में कांडा ने कई लड़कियों को नौकरियां दी थीं। जिसमें एक नाम गीतिका शर्मा का भी था। एयरहोस्टेस और केबिन क्रू की भर्ती के लिए गीतिका गुड़गांव में इंटरव्यू देने आई थी। 

गीतिका पर फिदा हो गया था कांडा-

उसी इंटरव्यू में कांडा पहली बार गीतिका से मिला और इंटरव्यू खत्म होते ही उसे ट्रेनी केबिन क्रू के पद पर रखा लिया। फिर छह महीने बाद जैसे ही गीतिका 18 साल की हुई उसे एयरहोस्टेस बना दिया। कांडा गीतिका पर न सिर्फ मेहरबान था बल्कि पूरी तरह फिदा था। उसके फेवर से गीतिका कंपनी में सक्सेज की सीढ़ियां चढ़ती चली गई। गीतिका से शादी नहीं करना चहाता था कांडा तीन साल के अंदर ही गीतिका ट्रेनी से कंपनी की डायरेक्टर तक बन गई। 

कांडा को नहीं करनी थी शादी-

कांडा गीतिका को सिर्फ शारीरिक संबंध चाहता था इसलिए वह उसे चार गुना सैलरी की जॉब दे चुका था। दोनों का अफेयर था और गीतिका चाहती थी कि कांडा उससे शादी करे। पर आशिक मिजाज कांडा बहुत सी महिलाओं के संबंध चाहता था। गीतिका कांडा पर शादी के लिए दवाब बनाने लगी लेकिन वह दूसरी महिलाओं के साथ अफेयर्स करता रहा। फिर अचानक एक दिन गीतिका ने कंपनी छोड़ दी और दुबई निकल गई।

गीतिका को टॉर्चर करता कांडा-

गीतिका के दुबई जाते ही कांडा बौखला गया और फोन और मैसेज पर गीतिका को टॉर्चर करने लगा। कांडा ने उसे दिल्ली वापस आने पर मजबूर करने लगा लेकिन गीतिका आगे बढ़ चुकी थी। दिल्ली आने के बाद भी कांडा ने गीतिका का पीछा नहीं छोड़ा, इसी वजह से उसका दम घुटने लगा और उस लड़की ने सुसाइड कर लिया। गीतिका ने दो पेज का सुसाइड नोट लिखा जिसमें उसने कांडा पर यौन शोषण, धोखा, धमकाना मौत के लिए उकसाना और हत्या की साजिश जैसे कई गंभीर आरोप लगाए।  एक स्कूल में गीतिका का ट्रस्टी के तौर पर नाम दर्ज था उसी स्कूल की डायरेक्टर अरूणा चड्डा थी, गीतिका और अरूणा एक दूसरे को फूटी आंख नहीं देख पाती थीं। दोनों के बीच हमेशा झगड़ा रहा जिसके बाद गीतिका केस में अंकिता का नाम भी शामिल रहा है, गीतिका ने सुसाइड नोट में अरूणा चड्डा को भी जिम्मेदार ठहाराया था और कांडा के साथ मिले हुए होने की बात कही।

नाजायज रिश्ते से ऊब चुकी थी गीतिका-

फिर आरोपी अरुणा चड्ढ़ा ने इसमें कई खुलासे किए, अरुणा चड्ढ़ा ने बताया था कि, गोपाल कांडा गीतिका शर्मा के साथ केवल शारीरिक संबंध रखना चाहता था, जबकि गीतिका उससे शादी के लिए जोर रही थी। वह गीतिका के अलावा और महिलाओं से भी संबंध बनाए रखना चाहता था इसलिए गीतिका इस नाजायज रिश्ते से ऊब चुकी थी।

गिरफ्तारी के लिए खुद ही सरेंडर किया-

उस समय कांडा एक निर्दलीय उम्मीदवार के तौर पर चुनाव मैदान में था। ऐसे में इस केस के बाद कांडा की साख धूमिल होने लगी। मामले की जाच हुई, फिर कांडा ने गिरफ्तारी के लिए खुद ही सरेंडर कर दिया। इस केस में मोड़ तब आया जब गीतिका की मां ने भी बेटी की तरह सुसाइड करके मौत को गले लगा लिया। गीतिका की मां ने भी अपने सुसाइड नोट में कांडा पर गंभीर आरोप लगाते हुए कांडा को अपनी मौत के लिए जिम्मेदार ठहराया। 

कांडा की बीवी को सब मालूम था-

चौंकाने वाली बात यह है कि गोपाल कांडा की पत्नी सरस कांडा को अपने पति गोपाल की हरकतों और एक्स्ट्रा मैरिटल अफेयर्स के बारे में सब पता था। एक स्टेटमेंट देते हुए कांडा की पत्नी ने कहा था कि गोपाल कांडा तो गीतिका को अपनी बेटी जैसा मानते थे, कांडा की पत्नी ने अपने पति का हर संभव सपोर्ट किया था। 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios