Asianet News HindiAsianet News Hindi

मुंद्रा पोर्ट से बरामद 3 हजार किलो हेरोइन मामले में दो अरेस्ट, NIA ने 20 जगहों पर किया रेड

एजेंसी ने Mundra Port Heroine केस में बुधवार को 20 स्थानों पर दिल्ली में 14, पश्चिम बंगाल में तीन, गुजरात में दो और पंजाब में एक जगह पर एक साथ रेड किया। Directorate of Revenue Intelligence ने पिछले साल 13 सितंबर को गुजरात के मुंद्रा बंदरगाह से 2,988 किलोग्राम हेरोइन जब्त की थी।

Gujarat Mundra Port drugs recovery case, NIA raided 20 places and arrested two members of International racket, DVG
Author
First Published Aug 25, 2022, 10:37 PM IST

नई दिल्ली। गुजरात (Gujarat) के मुंद्रा पोर्ट (Mundra Port) पर तस्करी से लाई गई हेरोइन ड्रग्स के केस में दो लोगों को अरेस्ट किया गया है। एनआईए 4 राज्यों के 20 जगहों पर इस सिलसिले में रेड किया था। बीते साल सितंबर में डीआरआई (Directorate of Revenue Intelligence) ने मुद्रा पोर्ट पर 3 हजार किलोग्राम हेरोइन जब्त किया था। यह हेरोइन अफगानिस्तान से तस्करी कर मंगाई गई थी। हेरोइन की इस खेप के पकड़े जाने के बाद पूरे देश में हड़कंप मच गया था।

इंटरनेशनल रैकेट का हिस्सा हैं दोनों आरोपी

एनआईए के प्रवक्ता ने बताया कि मुंदा पोर्ट पर बरामद हेरोइन को अफगानिस्तान से लाया गया था। इस तस्करी में इंटरनेशनल ग्रुप शामिल है। एनआईए ने गुरुवार को दिल्ली के दो लोगों को अरेस्ट किया है। गिरफ्तार आरोपी हरप्रीत सिंह तलवार उर्फ ​​कबीर तलवार और प्रिंस शर्मा अफगानिस्तान से भारत में आने वाली बड़ी मात्रा में हेरोइन की तस्करी में शामिल एक अंतरराष्ट्रीय रैकेट का हिस्सा हैं। प्रवक्ता ने बताया कि हरप्रीत सिंह तलवार और प्रिंस शर्मा को दिल्ली से गिरफ्तार किया गया।

गिरफ्तारी के लिए 20 जगहों पर रेड

एजेंसी ने इस केस में बुधवार को 20 स्थानों पर दिल्ली में 14, पश्चिम बंगाल में तीन, गुजरात में दो और पंजाब में एक जगह पर एक साथ रेड किया। राजस्व खुफिया निदेशालय (Directorate of Revenue Intelligence) ने पिछले साल 13 सितंबर को गुजरात के मुंद्रा बंदरगाह से 2,988 किलोग्राम हेरोइन जब्त की थी।

Adani port पर खतरनाक रसायन भी बरामद हुआ था

बीते साल नवम्बर महीने में अडानी समूह के मुंद्रा पोर्ट पर खतरनाथ रेडियोएक्टिव पदार्थ काफी अधिक मात्रा में बरामद किया गया था। DRI और कस्टम की टीम ने एक विदेशी जहाज पर संदेह के आधार पर कई कंटेनर की जांच की थी। इन कंटेनरों पर हाजर्ड क्लास 7 का चिन्ह वाला पदार्थ था, जो रेडियो एक्टिव पदार्थों वाली सामग्री के लिए होता है। इसे पाकिस्तान (Pakistan)के कराची से भारत के मुंद्रा या किसी अन्य बंदरगाह नहीं बल्कि चीन के शंघाई भेजा जा रहा था। 

यह भी पढ़ें:

सोनाली फोगाट का रेप कर किया मर्डर! घरवालों के आरोप के बाद PA सुधीर व सुखविंदर अरेस्ट

अरविंद केजरीवाल विधायकों के साथ पहुंचे राजघाट बापू की शरण में, BJP ने गांधी की समाधि पर छिड़का गंगाजल

पेगासस जांच कमेटी का केंद्र सरकार द्वारा सहयोग नहीं करने पर कांग्रेस ने उठाए सवाल, बोली-कुछ तो छिपाया जा रहा

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios