Asianet News Hindi

देवी अन्नपूर्णा की मूर्ति जल्द ही आएगी कनाडा से, 'मन की बात' में पीएम मोदी ने की घोषणा

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने घोषणा की है कि जल्द ही हिंदू देवी अन्नपूर्णा की प्रतिमा कनाडा से वापस आएगी। देवी अन्नपूर्णा की यह प्रतिमा करीब एक सदी से ज्यादा समय पहले भारत से कनाडा ले जाई गई थी। 
 

Hindu Goddess Annapoorna statue will soon return from Canada MJA
Author
New Delhi, First Published Feb 1, 2021, 10:28 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नेशनल डेस्क। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने घोषणा की है कि जल्द ही हिंदू देवी अन्नपूर्णा की प्रतिमा कनाडा से वापस आएगी। देवी अन्नपूर्णा की यह प्रतिमा करीब एक सदी से ज्यादा समय पहले भारत से कनाडा ले जाई गई थी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने लोकप्रिय रेडियो कार्यक्रम 'मन की बात' के जरिए देश को संबोधित करते हुए कहा कि यह जानकर हर भारत के हर नागरिक को खुशी होगी कि देवी अन्नपूर्णा की प्रतिमा कनाडा से वापस आ रही है। प्रधानमंत्री मोदी ने प्रतिमा की वापसी के लिए कनाडा सरकार को धन्यवाद भी दिया। 

सदियों पुरानी है प्रतिमा
देवी अन्नपूर्णा की यह प्रतिमा सदियों पुरानी है। यह प्रतिमा कनाडा की रेजिना यूनिवर्सिटी (University of Regina) के मैकेंजी आर्ट गैलरी (MacKenzie Art Gallery) के कलेक्शन में शामिल थी। प्रतिमा को 19 नवंबर, 2020 को एक वर्चुअल प्रोग्राम में यूनिवर्सिटी के वाइस चांसलर और डॉक्टर थॉमस चेस (Dr.Thomas Chase) ने भारत को सौंपने की घोषणा की। ग्लोबल अफेयर्स कनाडा और कनाडा बॉर्डर सर्विस एजेंसी के अधिकारी भी इस आयोजन में शामिल हुए थे।

मैकेंजी के आर्ट कलेक्शन का थी हिस्सा
देवी अन्नपूर्णा की यह प्राचीन ऐतिहासिक मूर्ति मैकेंजी आर्ट गैलरी का का हिस्सा थी। पहले यह नॉर्मन मैकेंजी के संग्रह में शामिल थी, जिनकी मृत्यु 1936 में हो गई थी। हाल ही में यूनिवर्सिटी ने यह पता लगाया गया था कि मूर्ति को साल 1913 में भारत से लाया गया था। जब यूनिवर्सिटी के अधिकारियों को इसके बारे में पता चला, तो उन्होंने भारत की इस सांस्कृतिक धरोहर को वापस करने के लिए तत्काल कदम उठाए और इसकी वापसी के लिए भारतीय उच्चायोग से संपर्क किया।

क्या कहा भारत के उच्चायुक्त ने
इस सांस्कृतिक धरोहर की वापसी को स्वीकार करते हुए कनाडा में भारत के उच्चायुक्त अजय बिसारिया ने कहा कि हमें खुशी है कि अन्नपूर्णा देवी अब अपने घर चली जाएंगी। उच्चायुक्त ने प्रतिमा को लौटाने के लिए रेजिना यूनिवर्सिटी के प्रति आभार व्यक्त किया। उन्होंने कहा कि इससे भारत-कनाडा संबंधों की मजबूती और समझ का बेहतर स्तर दिखता है।

यूनिवर्सिटी करेगी प्रतिमा भेजने की व्यवस्था
रेजिना यूनिवर्सिटी देवी अन्नपूर्णा की प्रतिमा को भारत भेजने की व्यवस्था कर रही है। अन्नपूर्णा भोजन की देवी हैं। उन्हें भगवान शिव की पत्नी देवी पार्वती का अवतार माना जाता है। अन्नपूर्णा देवी को उत्तर प्रदेश में काशी या वाराणसी की संरक्षक देवी भी माना जाता है। 

कनाडा के प्रधानमंत्री ने भेंट की थी मोदी को मूर्ति  
साल 2015 में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की कनाडा यात्रा के दौरान तत्कालीन कनाडाई प्रधान मंत्री स्टीफन हार्पर (Stephen Harpe) ने उन्हें 900 साल पुरानी लाल बलुआ पत्थर की  'तोता लेडी' (Parrot Lady) मूर्ति भेंट की थी। बता दें कि भारत की कई प्राचीन मूर्तियां दुनिया के कई देशों में सार्वजनिक और निजी संग्रहों में शामिल हैं। भारत सरकार इन सांस्कृतिक धरोहरों की जल्द वापसी के लिए अपने सहयोगियों के साथ काम कर रही है।
 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios