Asianet News HindiAsianet News Hindi

दिशा से दरिंदगी करने वालों का कैमरे के सामने दोबारा हुआ पोस्टमार्टम, अब परिजनों को मिलेगा शव

तेलंगाना कोर्ट ने चारों आरोपियों के शवों का दोबारा पोस्टमार्टम कराने का आदेश दिया था। जिसके बाद आज सोमवार को आरोपियों के शवों का दोबारा पोस्टमार्टम किया गया। 

Hyderabad encounter Post-mortem of four accused resurrected kps
Author
Hyderabad, First Published Dec 23, 2019, 5:08 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

हैदराबाद. तेलंगाना प्रांत के हैदराबाद में वेटनरी डॉक्टर के साथ हुए गैंगरेप के मामले के चारों आरोपी पुलिस एनकाउंटर में मारे गए। जिसके बाद से मामले की जांच जारी है। इन सब के बीच तेलंगाना कोर्ट ने चारों आरोपियों के शवों का दोबारा पोस्टमार्टम कराने का आदेश दिया था। जिसके बाद आज सोमवार को आरोपियों के शवों का दोबारा पोस्टमार्टम किया गया। 

एम्स के डॉक्टर कर रहे पीएम 

कोर्ट के आदेश के बाद एम्स दिल्ली के डॉक्टरों की तीन सदस्यीय टीम सोमवार सुबह हैदराबाद के गांधी मेडिकल कॉलेज पहुंची। जहां चारों आरोपियों के शवों को सुरक्षित रखा गया है। एम्स के डॉक्टर सुधीर गुप्ता, डॉक्टर अभिषेक यादव और डॉक्टर आदर्श कुमार ने सुबह 9 बजे से पोस्टमार्टम शुरू किया। इस दौरान कोर्ट के आदेश के बाद वीडियो रिकॉर्डिंग भी कराई गई। 

परिजनों को सौंपे जाएंगे शव 

एनकाउंटर के बाद से मामले पर नजर रख रही अदालत ने गांधी अस्पताल के अधीक्षक को 23 दिसंबर की शाम पांच बजे से पहले एम्स  एक टीम से पोस्टमार्टम करने का निर्देश दिया। अदालत ने इसके बाद शवों को उनके परिवारों को सौंपने के भी निर्देश जारी किए।

कोर्ट को दी जाएगी रिपोर्ट 

चीफ जस्टिस आरएस चौहान और जस्टिस ए. अभिषेक रेड्डी की खंडपीठ ने अधिकारियों से कहा कि पोस्टमार्टम की वीडियोग्राफी करें और अदालत में इसे दायर करें। अदालत ने सामाजिक कार्यकर्ता के. सजया और अन्य की ओर से दायर जनहित याचिका पर आदेश दिया। सुप्रीम कोर्ट में दायर जनहित याचिका को हाईकोर्ट में भेजकर इस पर संज्ञान लेने को कहा गया।

जब्त किए जाएंगे हथियार 

अदालत ने विशेष जांच दल को भी निर्देश दिया कि वह कथित मुठभेड़ की जांच करे, मुठभेड़ में इस्तेमाल किए गए हथियारों को जब्त करें और इन्हें केंद्रीय फोरेंसिक विज्ञान प्रयोगशाला को भेज दिया जाए। इसके साथ ही एसआईटी को भी मामले में एफआईआर, केस डायरी और अन्य रिकॉर्ड इकट्ठा करने को कहा गया है। एसआईटी से कहा गया है कि इन रिकॉर्ड को मुठभेड़ की जांच के लिए सुप्रीम कोर्ट की ओर से गठित न्यायिक आयोग के सामने प्रस्तुत किया जाए।

ऐसे रखा गया है शव 

पुलिस एनकाउंटर में मारे गए आरोपियों के शव को कोर्ट के आदेश के बाद सुरक्षित रखा गया था। जानकारों की माने तो शव को -2 डिग्री सेल्सियस के तापमान में रखा गया है। बावजूद इसके शव का अधिकाश भाग सड़ चुका है। 

6 दिसंबर को मारे गए थे आरोपी

27 नवंबर को घर लौट रही वेटनरी डॉक्टर से दरिंदगी की घटना को अंजाम देने वाले आरोपियों को पुलिस ने 48 घंटे के भीतर गिरफ्तार कर लिया था। जिसके बाद कोर्ट के आदेश पर उन्हें पुलिस रिमांड पर भेजा गया था। जिसके बाद पुलिस आरोपियों से घटना के बारे में पूछताछ कर रही थी। बताया जा रहा कि पुलिस आरोपियों को सीन रिक्रिएट कराने के लिए घटनास्थल पर ले गई थी। पुलिस के मुताबिक आरोपियों ने पुलिस पर हमला कर भागने की कोशिश की। जिसके बाद पुलिस ने जवाबी कार्रवाई करते हुए एनकाउंटर कर दिया। जिसमें चारों आरोपियों की मौत हो गई थी।  

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios