Asianet News HindiAsianet News Hindi

पाकिस्तान का 'व्हाट्सएप' प्लान, भारतीय सेना और उनके परिवार को ऐसे निशाना बनाने की साजिश

पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई लगातार भारतीय सेना को सोशल मीडिया के जरिए निशाना बनाए हुए है। ताजा मामला व्हाट्सएप के जरिए सामने आया है। सेना के अधिकारी ने बताया कि उन्हें शिकायत मिली है कि सेना का एक अधिकारी खुद ब खुद एक व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़ गया।

Indian Army issues advisory to personnel to change Whatsapp settings
Author
New Delhi, First Published Nov 22, 2019, 4:24 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई दिल्ली. पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई लगातार भारतीय सेना को सोशल मीडिया के जरिए निशाना बनाए हुए है। ताजा मामला व्हाट्सएप के जरिए सामने आया है। सेना के अधिकारी ने बताया कि उन्हें शिकायत मिली है कि सेना का एक अधिकारी खुद ब खुद एक व्हाट्सएप ग्रुप से जुड़ गया। जब उसने उस नंबर को स्क्रीन शॉट लेने चाहा तो उसे ग्रुप से निकाल दिया गया। बाद में नंबर की पड़ताल की गई तो वह एक पाकिस्तानी नंबर निकला। इस घटना के बाद सेना ने अपने कर्मियों को एक एडवाइजरी जारी की। 

Image

व्हाट्सएप सेटिंग्स में चेंज करने की सलाह
- सेना ने कहा कि एक मामला सामने आया है कि एक संदिग्ध पाकिस्तानी नंबर +923033336969307 पर सेना के एक अधिकारी को खुद ब खुद व्हाट्सएप ग्रुप में जोड़ा गया। राहत की बात ये है कि जैसे ही उस अधिकारी का नंबर ग्रुप में एड हुआ उसने स्क्रीन शॉट ले लिया और ग्रुप से बाहर हो गया। 

- एडवाइजरी में कहा गया कि इससे यही लगता है कि पाकिस्तानी खुफीया एजेंसी भारतीय सेना को टारगेट कर रही है। इतना ही नहीं उनके परिवारों को भी टारगेट किया जा रहा है। खासकर सोशल मीडिया और व्हाट्सएप के जरिए उन्हें निशाना बनाया जा रहा है।

- एडवाइजरी में कहा गया कि अगर अधिकारी के व्हाट्सएप सेटिंग्स में अनाधिकृत या अवांछित समूहों को प्रतिबंधित कर दिया जाता, तो यह स्थिति टाली जा सकती थी।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios