Asianet News HindiAsianet News Hindi

श्रीलंका के साथ युद्धाभ्यास करेगी भारतीय सेना, 120 जवानों का एक शस्‍त्र सैन्‍य दल रवाना

इस युद्धाभ्यास का उद्देश्य दोनों देशों की सेनाओं के बीच घनिष्ठ संबंधों को प्रोत्‍साहित करना और अंतर-संचालन में बढ़ोतरी करने के साथ-साथ उग्रवाद एवं आतंकवाद विरोधी संचालनों में सर्वोत्तम प्रक्रियाओं को साझा करना है।

Indian Army to conduct exercises with Sri Lanka
Author
New Delhi, First Published Oct 2, 2021, 5:41 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp


नई दिल्ली.  भारत-श्रीलंका द्विपक्षीय संयुक्त युद्धाभ्यास मित्र शक्ति का 8वां संस्करण 4 से 15 अक्टूबर तक श्रीलंका के कॉम्बैट ट्रेनिंग स्कूल, अम्पारा में आयोजित किया जाएगा। भारतीय सेना के 120 जवानों का एक शस्‍त्र सैन्‍य दल श्रीलंका की सेना की एक बटालियन के साथ युद्धाभ्‍यास में भाग लेगा।

इसे भी पढे़ं- चाचा-भतीजे को चुनाव आयोग का झटका: चिराग या पशुपति में से कोई भी इस्तेमाल नहीं कर पाएगा LJP का सिंबल

इस युद्धाभ्यास का उद्देश्य दोनों देशों की सेनाओं के बीच घनिष्ठ संबंधों को प्रोत्‍साहित करना और अंतर-संचालन में बढ़ोतरी करने के साथ-साथ उग्रवाद एवं आतंकवाद विरोधी संचालनों में सर्वोत्तम प्रक्रियाओं को साझा करना है। इस युद्धाभ्‍यास में अंतर्राष्ट्रीय उग्रवाद और आतंकवाद विरोधी माहौल में उप-इकाई स्‍तर पर सामरिक स्‍तर के संचालन शामिल होंगे। यह अभ्‍यास दोनों दक्षिण एशियाई देशों के बीच संबंधों को और मजबूत करने के लिए एक लंबा रास्ता तय करेगा।

इसे भी पढ़ें- पूर्वी लद्दाख में चीन ने बढ़ाई सेना, PAK बार-बार सीजफायर तोड़ रहा; भारत ने भी तैनात कीं K9-वज्र तोपें

यह दोनों सेनाओं के बीच जमीनी स्‍तर पर समन्‍वय और सहयोग लाने के लिए उत्‍प्रेरक के रूप में भी कार्य करेगा। युद्धाभ्‍यास मित्र शक्ति का 7वां संस्करण वर्ष 2019 में विदेशी प्रशिक्षण नोड (एफटीएन), पुणे, महाराष्ट्र  में आयोजित किया गया था।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios