Asianet News HindiAsianet News Hindi

FIFA World Cup में भारत का भगोड़ा देगा लेक्चर, कतर में इस्लामिक व्याख्यान के लिए आमंत्रण पर भड़की बीजेपी

गृह मंत्रालय ने मार्च 2022 में जाकिर नाइक द्वारा स्थापित इस्लामिक रिसर्च फाउंडेशन (आईआरएफ) को गैरकानूनी संगठन घोषित किया था। मंत्रालय ने जाकिर नाइक पर पांच साल के लिए प्रतिबंध लगा दिया था।

Indian fugitive Zakir Naik invited to Qatar FIFA World Cup football for Islamic lectures, Who is Zakir Naik, DVG
Author
First Published Nov 22, 2022, 4:00 PM IST

Zakir Naik news: भारत से फरारी काट रहे विवादित इस्लामिक उपदेशक जाकिर नाइक को कतर के फीफा विश्व कप फुटबॉल में आमंत्रित किया गया है। भारतीय भगोड़े को कतर से आमंत्रण मिलने के बाद बीजेपी ने फीफा विश्व कप के बहिष्कार का आह्वान किया है। बीजेपी प्रवक्ता सावियो रोड्रिग्स ने कहा कि भारतीय फुटबॉल संघों और कतर की यात्रा करने वाले फुटबॉल प्रेमियों को इस आयोजन का बहिष्कार करना चाहिए। बताया जा रहा है कि वर्ल्ड कप के दौरान जाकिर नाइक को इस्लाम पर लेक्चर के लिए आमंत्रित किया गया है।

सावियो रोड्रिग्स ने क्या कहा? 

बीजेपी प्रवक्ता सावियो रोड्रिग्स ने फीफा वर्ल्ड कप का बहिष्कार करने का आह्वान करते हुए कहा कि ऐसे समय में जब दुनिया आतंकवाद से जूझ रही है, नाइक को एक मंच देना नफरत फैलाने के लिए एक आतंकवादी सहानुभूति देने जैसा है। उन्होंने कहा कि फीफा विश्व कप एक वैश्विक कार्यक्रम है। दुनिया भर से लोग इस शानदार खेल को देखने आते हैं और लाखों लोग इसे टीवी और इंटरनेट पर देखते हैं। जाकिर नाइक को एक मंच देना, एक आतंकवादी को उसकी कट्टरता और नफरत फैलाने के लिए एक मंच देना है। भाजपा नेता ने देश के लोगों और आतंकवाद के शिकार विदेशों के लोगों से आतंकवाद के खिलाफ वैश्विक लड़ाई के साथ एकजुटता दिखाते हुए विश्व कप के आयोजन का बहिष्कार करने की अपील की है। 

भारत का भगोड़ा है जाकिर

जाकिर नाइक भारत का वांटेड है। उस पर मनी-लॉन्ड्रिंग अपराधों और घृणा फैलाने वाले भाषणों का आरोप लगाया गया है। उस पर एक आतंकवादी हमदर्द होने का आरोप है। आरोप है कि उसने खुले तौर पर आतंकवादी ओसामा बिन लादेन का समर्थन किया है और भारत में इस्लामी कट्टरवाद और नफरत फैलाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है।

पांच साल के लिए प्रतिबंधित है जाकिर नाइक का संगठन

गृह मंत्रालय ने मार्च 2022 में जाकिर नाइक द्वारा स्थापित इस्लामिक रिसर्च फाउंडेशन (आईआरएफ) को गैरकानूनी संगठन घोषित किया था। मंत्रालय ने जाकिर नाइक पर पांच साल के लिए प्रतिबंध लगा दिया था। गृह मंत्रालय की अधिसूचना में कहा गया है कि आईआरएफ के संस्थापक जाकिर नाइक के भाषण आपत्तिजनक थे क्योंकि वह ज्ञात आतंकवादियों का गुणगान करता रहा है। आईआरएफ संस्थापक युवाओं के जबरन धर्म परिवर्तन को बढ़ावा देने के साथ आत्मघाती बम विस्फोटों को सही ठहराता रहा है। उस पर हिंदुओं व हिंदू देवी-देवताओं पर आपत्तिजनक टिप्पणी करने का भी आरोप है।

यह भी पढ़ें:

बिगबॉस प्रतिभागी सोनाली फोगाट हत्याकांड में सीबीआई ने दाखिल किया चार्जशीट, बताया हत्या की रात क्या हुआ था

AAP विधायक गुलाब सिंह को कार्यकर्ताओं ने दौड़ा-दौड़ाकर पीटा, वीडियो शेयर कर बीजेपी ने कसा तंज

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios