जावेद अख्तर बोले-पति एक से अधिक बीवी रख सकता है, तो औरत क्यों नहीं, लव जिहाद पर शिव ने दी कड़ी चेतावनी

| Dec 06 2022, 08:02 AM IST

जावेद अख्तर बोले-पति एक से अधिक बीवी रख सकता है, तो औरत क्यों नहीं, लव जिहाद पर शिव ने दी कड़ी चेतावनी

सार

देश में इस समय दो बड़े मुद्दों को लेकर राजनीति गर्माई हुई है। एक है कॉमन सिविल कोड बिल और दूसरा लव जिहाद। दोनों ही मुद्दे मुस्लिम कम्युनिटी से जुड़े हैं। इन मुद्दों पर लगातार लोगों; खासकर राजनीति और अन्य फील्ड से जुड़े प्रबुद्ध लोगों की राय सामने आ रही हैं। 

नई दिल्ली. देश में इस समय दो बड़े मुद्दों को लेकर राजनीति गर्माई हुई है। एक है कॉमन सिविल कोड बिल और दूसरा लव जिहाद। दोनों ही मुद्दे मुस्लिम कम्युनिटी से जुड़े हैं। खासकर ऐसे कथित लोगों से जुड़ा है ये मुद्दा, जो धर्म की आड़ में साम्प्रदायिक सद्भाव और सामाजिक ताना-बाना बिगाड़ रहे हैं। इन मुद्दों पर लगातार लोगों; खासकर राजनीति और अन्य फील्ड से जुड़े प्रबुद्ध लोगों की राय सामने आ रही हैं। पढ़िए फिल्म गीतकार-लेखक जावेद अख्तर ने कॉमन सिविल कोड बिल के मुद्दे पर मुस्लिम पर्सनल लॉ के बारे में क्या बोला और लव जिहाद पर मप्र के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह ने क्या चेतावनी दी?

जावेद अख्तर ने कहा- औरतों को भी मिले कई पति रखने का हक
फिल्म लेखक और गीतकार जावेद अख्तर अपनी बेबाकी के लिए जाने जाते हैं। कोई भी राष्ट्रीय मुद्दा हो, वे अपनी राय अवश्य रखते हैं। अब उन्होंने कॉमन सिविल कोड बिल(Uniform Civil Code-UCC) पर एक ऐसी सलाह दी है, जो वायरल है। दैनिकभास्कर की एक रिपोर्ट के अनुसार, जैसा कि जावेद अख्तर ने मुस्लिम पर्सनल लॉ को आड़े हाथों लेते हुए कहा-"मुस्लिम पर्सनल लॉ में एक से ज्यादा बीवी रखने की इजाजत है, जो समानता के खिलाफ है। अगर पति कई पत्नियां रख सकता है तो फिर औरत को भी यही हक मिलना चाहिए। अख्तर ने दो टूक कहा कि एक से ज्यादा शादी करना हमारे कानून के खिलाफ है। अगर कोई अपनी रिवायतें बरकरार रखना चाहे, तो रखे, लेकिन संविधान से कोई समझौता बर्दाश्त नहीं होगा।"

Subscribe to get breaking news alerts

'लव जिहाद' के खिलाफ कानून को और मजबूत किया जाएगा-शिवराज की चेतावनी
इंदौर-मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि आदिवासी महिलाओं की जमीन हड़पने की नीयत से पुरुषों द्वारा शादी करने की घटनाओं पर अंकुश लगाने के लिये जरूरत पड़ने पर ‘लव जिहाद’ के खिलाफ राज्य के मौजूदा कानून(law against love jihad) को और मजबूत किया जाएगा। चौहान ने रविवार को मध्य प्रदेश धर्म स्वतंत्रता अधिनियम, 2021(Madhya Pradesh Freedom of Religion Act, 2021) का जिक्र करते हुए यह बात कही। यह एक्ट गलत बयानी( misrepresentation), बल, अनुचित प्रभाव, जबरदस्ती( force, undue influence, coercion), किसी भी अन्य धोखाधड़ी के साधन, प्रलोभन या शादी के वादे के जरिए एक धर्म से दूसरे धर्म में धर्म परिवर्तन पर रोक लगाता है।

शिवराज सिंह चौहानआदिवासी स्वतंत्रता सेनानी टंट्या भील( tribal freedom fighter Tantya Bhil) की पुण्यतिथि पर यहां जनजातीय लोगों की एक सभा को संबोधित कर रहे थे। शिवराज ने कड़े शब्दों में कहा-    "जरूरत पड़ी तो 'लव जिहाद' के कानून को और मजबूत किया जाएगा, ताकि कोई भी अपराधी बख्शा न जाए। खने में आया है कि कुछ लोग आदिवासी लड़कियों से शादी कर लेते हैं और उनका मकसद उनकी संपत्ति हड़पना होता है। परिवार की जमीन हड़पने के लिए आदिवासी महिलाओं से शादी करने वाले पुरुषों की घटनाओं को रोकने के लिए धार्मिक स्वतंत्रता कानून को और अधिक मजबूत बनाया जाएगा। यह उनकी जमीन हड़पने के उद्देश्य से लव जिहाद को रोकेगा।"

बता दे कि 'लव जिहाद' दक्षिणपंथी हिंदू समूहों द्वारा इस्तेमाल किया जाने वाला एक शब्द है, जो दावा करते हैं कि हिंदू लड़कियों को शादी के लिए लुभाने और उन्हें इस्लाम में परिवर्तित करने की एक साजिश है।

यह भी पढ़ें
ट्रेंड में है यूनिफॉर्म सिविल कोड, कांग्रेस को क्यों नहीं कबूल? पढ़िए कांग्रेस नेता जयराम रमेश का तर्क
Big Controversy: 40 की उम्र के बाद हिंदू कैसे अधिक बच्चे पैदा करें, MP बदरुद्दीन ने सुझाया 'मुस्लिम फॉर्मूला'