Asianet News HindiAsianet News Hindi

जामिया हिंसाः अब तक 10 लोगों को किया गया गिरफ्तार, लेकिन इसमें एक भी छात्र नहीं

नागरिकता संशोधन कानून को लेकर जामिया मिलिया इस्लामिया यूनिवर्सिटी के बाहर 15 दिसंबर की रात को हुए बवाल में दिल्ली पुलिस ने 10 युवकों को गिरफ्तार किया है। जिसमें पुलिस का दावा है कि इसमें सिर्फ बाहरी लोगों को गिरफ्तार किया गया है। 

Jamia violence: 10 people arrested, police claim, all accused have criminal records kps
Author
New Delhi, First Published Dec 17, 2019, 10:27 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई  दिल्ली. जामिया मिलिया इस्लामिया यूनिवर्सिटी के बाहर 15 दिसंबर की रात को हुए बवाल में दिल्ली पुलिस ने 10 युवकों को गिरफ्तार किया है। पुलिस का कहना है कि सभी युवकों का आपराधिक रिकॉर्ड है। हालांकि पुलिस ने यह भी साफ किया कि इनमें से कोई भी जामिया यूनिवर्सिटी के छात्र नहीं है। पुलिस ने बवाल के दौरान बस जलाए जाने वाले मामले में आरोपी युवकों से पूछताछ शुरु कर दी है। वहीं, पुलिस ने यह भी कहा है कि छात्रों को अभी क्लीन चिट नहीं दी गई है और मामले की जांच की जा रही है। 

बवाल में शामिल लोग गिरफ्तार 

गौरतलब है कि दिल्ली पुलिस ने जिन युवकों को गिरफ्तार किया है उन पर रविवार की रात हुए बवाल में शामिल होने का आरोप है। इन सभी आरोपियों की गिरफ्तारी सीसीटीवी फुटेज के आधार पर की गई है। हिंसा में चार सरकारी बसों को आग लगा दी गई थी। राहगीरों के वाहनों में भी तोड़फोड़ की गई थी। जिसके बाद पुलिस ने जामिया मिल्लिया इस्लामिया यूनिवर्सिटी के छात्रों को लाठीचार्ज कर खदेड़ दिया था। आरोप है कि पुलिस ने यूनिवर्सिटी के अंदर तक घुसकर आंसू गैस के गोले दागे थे। 

दर्ज हुआ था दो केस 

नागरिकता संशोधन कानून के विरोध में जामिया में भड़की हिंसा को लेकर दिल्ली पुलिस ने सोमवार को दो केस दर्ज किए थे। पहला केस न्यू फ्रेंड्स कॉलोनी और दूसरा मामला जामिया नगर थाने में दर्ज किया गया। पुलिस ने आगजनी, दंगा फैलाने, सरकारी संपत्ति को नुकसान और सरकार काम में बाधा पहुंचाने के तहत केस दर्ज किया है। 

करेंगे प्रेस कांफ्रेंस 

जामिया और अलीगढ़ विश्वविद्यालय के छात्र पुलिस के रवैये को लेकर प्रेस क्लब ऑफ इंडिया में प्रेस कांफ्रेंस करेंगे। जिसमें वह पुलिस की कार्रवाई और स्थितियों को लेकर अपनी बात रखेंगे।

जारी रहेगा विरोध प्रदर्शन

नागरिकता संशोधन एक्ट के खिलाफ जामिया में हो रहा प्रदर्शन आज भी जारी रहेगा। आज होने वाला प्रोटेस्ट जामिया के बाहरी इलाके में होना है, यही कारण है कि जामिया मस्जिद इलाके की सभी दुकानें आज बंद रहेंगी। इससे पहले जामिया मिलिया यूनिवर्सिटी को 5 जनवरी तक बंद कर दिया गया है। सोमवार को यूनिवर्सिटी के कई छात्र कैंपस छोड़कर घर वापस जाते भी दिखे। 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios