Asianet News HindiAsianet News Hindi

जम्मू-कश्मीर में पर्यटन को बढ़ावा देने सरकार की कोशिशें रंग लाईं, देश-विदेश के इन्वेस्टर्स दिखा रहे रुचि

जम्मू-कश्मीर में पर्यटन और इंडस्ट्रीज को बढ़ावा देने सरकार की कोशिशें रंग ला रही हैं। केंद्रीय वाणिज्यिक और उद्योग मंत्री पीयूष गोयल(Piyush Goyal) अपनी दो दिनी यात्रा के समापन पर काफी खुश नजर आए।

Jammu Kashmir, interest of investors from across the country and abroad in the valley  increased
Author
New Delhi, First Published Oct 20, 2021, 3:36 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई दिल्ली. केंद्रीय वाणिज्य और उद्योग, उपभोक्ता कार्य और खाद्य तथा सार्वजनिक वितरण और वस्त्र मंत्री पीयूष गोयल केंद्र सरकार के सार्वजनिक जनसम्पर्क कार्यक्रम के हिस्से के रूप में पहलगाम की दो दिवसीय यात्रा के समापन पर काफी खुश नजर आए। यह यात्रा 19 अक्टूबर को खत्म हुई।

पर्यटन कुटिया के उद्घाटन पर बोले गोयल
केंद्रीय मंत्री ने गोल्फ कोर्स, पहलगाम में पहलगाम विकास प्राधिकरण की पर्यटक कुटिया का भी उद्घाटन किया। गोयल ने हरित जम्मू-कश्मीर अभियान के बैनर तले चलाए जा रहे वन विभाग के देवदार पौधारोपण अभियान का उद्घाटन भी किया। अभियान के तहत कुल एक लाख पौधे लगाए जाएंगे। पौधरोपण के बाद की देखभाल के बारे में पूछताछ करते हुए गोयल को अवगत कराया गया कि बाड़ लगाने और अन्य उचित निगरानी और देखभाल के उपाय किए गए हैं।

यह भी पढ़ें-Kushinagar: मोदी बोले- ये समाजवादी नहीं, परिवारवादी हैं, योगी के आगे माफी मांग रहे माफिया

पहलगाम में एक सभा को संबोधित करते हुए पीयूष गोयल ने कश्मीर के लोगों को विकास प्रक्रिया में उनकी भागीदारी के लिए धन्यवाद दिया और पर्यटन गतिविधि को बढ़ावा देने के लिए उनके समर्पण की सराहना की। उन्होंने कहा कि विकास की दिशा में केंद्र शासित प्रदेश जम्मू-कश्मीर प्रशासन के ठोस प्रयासों का फल मिलना शुरू हो गया है। उन्होंने कहा कि देश और विदेश के निवेशक केंद्र शासित प्रदेश में निवेश करने के लिए उत्सुक हैं। गोयल ने पर्यटन परिदृश्य में विकास पर चर्चा की और यह देखकर प्रसन्नता व्यक्त की कि पहलगाम में पर्यटक गतिविधि तेज है। उन्होंने अधिक विदेशी पर्यटकों को आकर्षित करने के लिए पर्यटन बुनियादी ढांचे को बढ़ाने की आवश्यकता पर प्रकाश डाला।

यह भी पढ़ें-Good News: भारत में Corona वैक्सीनेशन ऐतिहासिक 100 करोड़ डोज के करीब

सीर जलापूर्ति योजना का उद्घाटन
केंद्रीय मंत्री गोयल ने 250 मिलीमीटर सीर जलापूर्ति योजना का उद्घाटन किया। इस परियोजना से लगभग 10,000 लोगों को लाभ होगा और यह जल जीवन मिशन के तहत तीन महीने के भीतर पूरी हो जाएगी। उन्होंने विकास कार्यों की तीव्र गति की सराहना की और सभी घरों के लिए नल के पानी के प्रधानमंत्री के सपने को साकार करने की दिशा में काम करने के लिए अग्रिम पंक्ति के कार्यकर्ताओं की सराहना की।

यह भी पढ़ें-VHP ने बांग्लादेश को बताया एहसान फरामोश: हिंदुओं पर हमले के बाद कहा-'आज CAA का महत्व सबको समझ आ रहा होगा'

लघु उद्योगों में भी आई गति
गोयल ने अकड़ पार्क स्थित राही शॉल इकाई का भी दौरा किया। उन्होंने स्थानीय कारीगरों के साथ बातचीत की और विभिन्न हस्तशिल्प जैसे जरी, सोजनी, टेपेस्ट्री आदि का भी निरीक्षण किया। श्री गोयल ने कारीगरों द्वारा किए जा रहे जटिल कार्यों की सराहना की। उन्होंने कहा कि कश्मीर के हस्तशिल्प प्रतीकात्मक कहानी बताते हैं और सरकार यह सुनिश्चित करने के लिए प्रतिबद्ध है कि यह कहानी दुनिया के सभी हिस्सों तक पहुंचे।

यह भी पढ़ें-CVC और CBI के कार्यक्रम में बोले PM मोदी-'सरकार देश को धोखा देने और लूटने वालों को नहीं बख्शती'

केंद्रीय मंत्री गोयल ने मार्तंड में सूर्य मंदिर का भी दौरा किया। एक पहाड़ी के ऊपर स्थित, मंदिर कोणार्क और मोढेरा की तुलना में सबसे पुराने ज्ञात सूर्य मंदिरों में से एक है। मंत्री ने जगह के ऐतिहासिक महत्व की सराहना करते हुए जिला प्रशासन को मंदिर का व्यापक प्रचार-प्रसार करने और इसे पर्यटन मानचित्र पर लाने के निर्देश दिए। उन्होंने ऐसे अन्य कम ज्ञात ऐतिहासिक स्थलों को पर्यटन मानचित्र पर लाने की आवश्यकता पर भी बल दिया।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios