Asianet News HindiAsianet News Hindi

Jammu Kashmir : जोजिला टनल निर्माण में बड़ी उपलब्धि, दोनों सुरंगों की ट्यूब का काम पूरा

जम्मू-कश्मीर (Jammu Kashmir) के विकास को रफ्तार देने वाली जोजिला टनल (Zojila Tunnel) के निर्माण में सोमवार को बड़ी उपलब्धि हासिल हुई। इसकी टनल -1 के ट्यूब-2 का काम पूरा हो गया। 

Jammu Kashmir Zojila Tunnel Infrastructure development Meil
Author
Srinagar, First Published Nov 22, 2021, 7:54 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

बालटाल। जम्मू-कश्मीर में लेह-श्रीनगर मार्ग को जोड़ रही जोजिला टनल (zojila tunnel) निर्माण कर रही मेघा इंजीनियिरंग एंड इन्फ्रास्ट्रक्चर लिमिटेड (MEIL) की टीम को सोमवार को बड़ी सफलता मिली। यहां टनल-1 के टयूब-2 से दिन का उजाला निकला। यह प्रोजेक्ट 1 अक्टूबर 2020 को इस कंपनी को दिया गया था। 32 किमी लंबाई की इस टनल का निर्माण कार्य बेहद दुर्गम परिस्थितियों में किया जा रहा है, क्योंकि इस वक्त कश्मीर और लद्दाख में बर्फबारी हो रही है। इस प्रोजेक्ट में दो सुरंगें हैं। टनल टी-1 में दो ट्यूब हैं। 472 मीटर लंबाई वाली ट्यूब-2 को सोमवार की दोपहर में पूरा किया गया। इसकी एक ट्यूब दिवाली के दिन पूरी हो गई थी। 

2 किमी लंबाई वाली ट्विन ट्यूब पर काम जारी 
MEIL ने मई 2021 में एक्सेस रोड के निर्माण के बाद परियोजना का काम शुरू किया था। हिमालय (Himalaya) के माध्यम से सुरंग बनाना हमेशा कठिन काम होता है, लेकिन प्रोजेक्ट ने तय समय सीमा के अंदर सुरक्षा, गुणवत्ता और तेज गति से दोनों सुरंगों का काम किया है। अब 2 किलोमीटर की लंबाई वाली ट्विन ट्यूब का काम जोरों पर है। यह अप्रैल 2022 में पूरा होने वाला है। 13.3 किलोमीटर लंबी जोजिला मेन टनल का काम भी रफ्तार से चल रहा है। 

गडकरी चाहते हैं 2024 के चुनाव से पहले पूरा हो प्रोजेक्ट
जोजिला टनल का प्रोजेक्ट 2026 तक पूरा होना है। लेकिन सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी (Nitin Gadkari) यह प्रोजेक्ट 2023 में पूरा करना चाहते हैं। सितंबर में जोजिला टनल का काम देखने पहुंचे गडकरी ने कहा था - हम चाहते हैं कि काम 2023 में काम पूरा हो, क्योंकि 2024 के चुनाव में हमें बताने के लिए कुछ होना चाहिए। 

यह भी पढ़ें
IIT Bombay: टेक्निकल फाल्ट के कारण फीस नहीं जमा कर पाया छात्र, सुप्रीम कोर्ट ने कहा- अलग से सीट बनाएं
Exclusive : मोदीजी के मंत्रियों ने पहले समझाया होता तो कृषि कानून वापस करने का फैसला बहुत पहले आ जाता : टिकैत

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios