Asianet News HindiAsianet News Hindi

विनोद दुआ की हालत बेहद गंभीर, बेटी बोली- निधन की अफवाहें न फैलाएं, प्रार्थना करें कि उन्हें कम से कम तकलीफ हो

सोमवार दोपहर पत्रकार विनोद दुआ (Vinod Dua) के निधन की खबर फैल गई। इसके बाद उनकी बेटी कॉमेडियन मल्लिका दुआ (Mallika Dua) ने अफवाहें नहीं फैलाने की अपील की। इससे पहले मल्लिका ने 
एक पोस्ट में बताया था कि दुआ की हालत बेहद गंभीर है। 

Journalist Vinod Dua critical Covid 19 ICU Mallika Dua Coronavirus
Author
New Delhi, First Published Nov 29, 2021, 7:44 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp


नई दिल्ली। वरिष्ठ पत्रकार विनोद दुआ की हालत बेहद गंभीर है। वे आईसीयू (ICU) में भर्ती हैं। सोमवार दोपहर उनके निधन की खबरें फैल गईं, जिसके बाद उनकी बेटी कॉमेडियन मल्लिका दुआ (Mallika dua) ने अफवाहें नहीं फैलाने की अपील की। इससे पहले मल्लिका ने एक पोस्ट में बताया था कि दुआ की हालत बेहद गंभीर है। विनोद दुआ को इस साल की शुरुआत में कोरोना वायरस (Covid 19) से संक्रमित होने के बाद अस्पताल में भर्ती कराया गया था। दूरदर्शन और कई जैसे समाचार चैनलों में काम कर चुके हुआ हिंदी पत्रकारिता के जाने माने चेहरे थे। 67 वर्षीय विनोद दुआ की पत्नी पद्मावती दुआ का कोविड-19 से लंबी लड़ाई लड़ने के बाद जून में निधन हो गया था। 

बेटी ने लिखा था- प्रार्थना करें, पिता को कम तकलीफ हो 
उनके निधन की अफवाह से पहले मल्लिका ने सोशल मीडिया पर लिखा था- मेरे पिता जी आईसीयू में हैं और उनकी हालत बहुत ही नाजुक है। उनकी तबीयत इसी साल अप्रैल से तेजी से खराब हो रही थी। वह अपने जीवन की किरण खो जाने के सदमे से अभी तक उबर नहीं पाए हैं। उन्होंने असाधारण जीवन जिया है और हमें भी ऐसा ही जीवन दिया है। वह किसी तकलीफ के हकदार नहीं हैं। वह बहुत प्रिय और श्रद्धेय हैं। मैं आप सबसे यह प्रार्थना करने का अनुरोध करती हूं कि उन्हें कम से कम तकलीफ हो। मल्लिका के इसी पोस्ट के कुछ देर बाद दुआ के निधन की खबरें फैलने लगीं। कोविड-19 (Coronavirus) की दूसरी लहर (Second wave) के दौरान विनोद दुआ और उनकी पत्नी गुड़गांव (Gurugram) के एक अस्पताल में भर्ती हुए थे। पत्रकार की हालत तभी से खराब है और उन्हें कई बार अस्पताल में भर्ती होना पड़ा है। विनोद दुआ की एक और बड़ी बेटी बकुल दुआ हैं, जो मनोवैज्ञानिक हैं।

यह भी पढ़ें
साउथ अफ्रीका ने क्यों कहा, कोरोना के नए वेरिएंट Omicron से डरने की जरूत नहीं है, बताईं 5 बड़ी वजहें
तीन कृषि कानून खत्म करने वाला विधेयक संसद में पास, खड़गे बोले- एक साल तीन महीने बाद सरकार को ज्ञान प्राप्त हुआ

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios