Asianet News Hindi

कर्नाटक फ्लोर टेस्ट: सदन स्थगित, आज नहीं होगा फ्लोर टेस्ट, कुमार स्वामी सरकार को एक दिन की मोहलत

कर्नाटक में 15 दिनों से चला रहा राजनीतिक घटना क्रम थम सकता है। कुछ देर में कुमार स्वामी सरकार विश्वास मत साबित करेगी।

karnataka governement flour test
Author
Karnataka, First Published Jul 18, 2019, 1:16 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

बेंगलोर. कर्नाटक में विश्वास मत प्रस्ताव को लेकर बहस के बाद स्पीकर ने सदन की कार्रवाई को शाम 6:30 शुक्रवार के लिए स्थगित कर दी। जिसके बाद नाराज बीजेपी विधायकों ने विधानसभा में रात भर धरना देने की बात कही है। इससे पहले बीजेपी ने आरोप लगाया था कि, सत्ताप7 लंबे लंबे भाषण दे रहे हैं, जिससे वक्त बीत रहा है। उन्होंने स्पीकर रमेश कुमार पर विश्वास मत टालने की आरोप लगाया था। बीजेपी विधायकों ने राज्यपाल वजुभाई वाला को ज्ञापन सौंपा। जिसके बाद राज्यपाल ने स्पीकर को विश्वास मत आज ही कराने को लेकर विचार करने को कहा है। इससे पहले सदन की शुरुआत मेंमुख्यमंत्री कुमारस्वामी ने सदन में विश्वास प्रस्ताव रखा। इस दौरान सदन में जमकर हंगामा देखने को मिला। बीजेपी और कांग्रेस के विधायकों के बीच बहस भी देखने को मिली। बहस के दौरान अपनी बात रखते वक्त सदन में कांग्रेस नेता और पूर्व मुख्यमंत्री सिद्धारमैया का दर्द छलक गया। उन्होंने कहा- ''अगर सुप्रीम कोर्ट का आदेश लागू होता है या फिर हमारा व्हिप काम में आता है, तो दोनों ही तरफ से हमारी सरकार पर संकट बरकरार है।''  बुधवार को सुप्रीम कोर्ट ने 15 बागी विधायकों पर बुधवार को फैसला सुनाया था। जिसमें सुप्रीम कोर्ट ने कहा , हमें इस मामले में संवैधानिक संतुलन बनाए रखना है। स्पीकर 15 बागी विधायकों के इस्तीफों पर अपने अनुसार विचार करें, वे खुद फैसला लेने के लिए स्वतंत्र हैं। 

इस कारण से सरकार गिरना तय

कांग्रेस जेडीएस के 15 बागी विधायक अभी भी मुंबई में मौजूद हैं। इसके अलावा कांग्रेस के 2, बसपा का 1 और 2 निर्दलीय विधायक सदन नहीं पहुंचे हैं। वहीं 20 अनुपस्थित विधायकों और स्पीकर को हटा दें तो सदन में 203 विधायक मौजूद हैं। इस हिसाब से बहुमत साबित करने के लिए 102 विधायक  की जरुरत है। फिलहाल कांग्रेस जेडीएस के पास 98 विधायकों की संख्या बची है। बीजेपी के पास 105 हैं।  इस कारण कुमारस्वामी सरकार का गिरना तय माना जा रहा है।  
 

बीजेपी का 100% जीत का दावा
इस बीच पूर्व मुख्यमंत्री और राज्य भाजपा प्रमुख बीएस येदियुरप्पा ने कहा कि हमें 100% जीत का भरोसा है। उनके पास 100 से कम विधायक हैं, जबकि हमारे पास 105। उनका विश्वास मत का प्रस्ताव गिर जाएगा। कर्नाटक में कांग्रेस-जेडीएस के 16 विधायक इस्तीफा दे चुके हैं। इसके बाद से कांग्रेस-जेडीएस की गठबंधन सरकार संकट में है। येदियुरप्पा ने दावा किया है कि भाजपा 4-5 दिन में सरकार बना लेगी। वहीं विधानसभा पहुंचने पर बीजेपी नेता येदियुरप्पा ने दावा करते हुए कहा, कर्नाटक सरकार फ्लोर टेस्ट में हारेगी।


आंकड़ों के खेल में कौन भारी

आंकड़ों के हिसाब से बीजेपी फिलहाल जेडीएस-कांग्रेस गठबंधन से आगे है। इस्तीफा देने वाले विधायक अगर विश्वास मत से दूर रहते हैं तो सदन में कुल 209 विधायक होंगे। बहुमत का आंकड़ा 105 रह जाएगा। बीजेपी के पास 105 विधायकों के अलावा दो निर्दलीय का भी समर्थन है। कांग्रेस-जेडीएस गठबंधन के पास 101 विधायक। 

जेडीएस ने जारी किया व्हिप

मुख्यमंत्री कुमारस्वामी ने जेडीएस के सभी 37 विधायकों को सदन में मौजूद रहने के लिए व्हिप जारी किया है। इनमें उनकी पार्टी के तीन बागी विधायक नारायण गौड़ा, गोपालैया और एच विश्वनाथ भी शामिल हैं। जेडीएस ने कहा-  अगर विधायक गैर-मौजूद रहते हैं या विश्वास मत के खिलाफ वोटिंग करते हैं तो दल बदल कानून के तहत उनपर कार्रवाई होगी। इस्तीफा देने वाले कांग्रेस विधायक रामलिंगा रेड्डी ने कहा - वह पार्टी में हैं और सरकार के पक्ष में वोटिंग करेंगे।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios