Asianet News Hindi

मेरा बेटा मरा नहीं, वो शहीद हुआ है, अपनी मातृभूमि के लिए... कश्मीर में सरपंच की हत्या पर बोले पिता

जम्मू-कश्मीर में बौखलाए आतंकियों ने सोमवार को अनंतनाग जिले में कश्मीरी पंडित सरपंच की गोली मार कर हत्या कर दी। लारकीपुरा इलाके के सरपंच और कांग्रेस के सदस्य अजय पंडित की हत्या घर से सिर्फ 50 मीटर की दूरी पर हुई। अशोक पंडित का मंगलवार को अंतिम संस्कार किया गया।

Kashmiri Pandit Sarpanch Ajay Pandita Shot Dead By Terrorists cremated today in jammu kashmir KPP
Author
Jammu, First Published Jun 9, 2020, 8:41 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

जन्मू. जम्मू-कश्मीर में बौखलाए आतंकियों ने सोमवार को अनंतनाग जिले में कश्मीरी पंडित सरपंच की गोली मार कर हत्या कर दी। लारकीपुरा इलाके के सरपंच और कांग्रेस के सदस्य अजय पंडित की हत्या घर से सिर्फ 50 मीटर की दूरी पर हुई। अशोक पंडित का मंगलवार को अंतिम संस्कार किया गया। अजय के पिता द्वारका नाथ पंडित ने कहा, उनका बेटा राष्ट्रभक्त था। वह अपनी मातृभूमि के लिए शहीद हुआ है। 

द्वारका नाथ पंडित लकबावन गांव से फिर जम्मू आ गए। 30 साल पहले भी वे इस गांव से जम्मू आए थे। लेकिन उस वक्त उनका बेटा उनके साथ था। लेकिन इस बार उसी बेटा का शव था। 

घर से 50 मीटर की दूरी पर मारी गोली
आतंकियों ने अजय को पीछे से गोली मारी। वे घर से सिर्फ 50 मीटर की दूरी पर थे। इससे थोड़ी देर पहले वही वे अपने पिता के साथ सेब के बाग से लौटे थे। कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने अजय की मौत पर दुख जताया। इसके अलावा पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती और उमर अब्दुल्ला ने भी ट्वीट कर दुख जताया। 

मेरा बेटा देशभक्त था
द्वारका नाथ पंडित ने कहा, जिस गांव में अजय पैदा हुआ, वहां लौटने के बाद कड़ी मेहनत की। द्वारका 1996-97 में दोबारा जम्मू से अपने गांव लौट आए थे। द्वारका ने बताया कि उनका बेटा किसी से डरता नहीं था। कहता था कि सेना के जवान जब ड्यूटी कर रहे हैं तो हमें यहां से क्यों भागना। यहीं जीऊंगा और यहीं मरूंगा। 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios