Asianet News Hindi

केदारनाथ मंदिर के कपाट को कल खोला जाएगा, तस्वीरों में देखिए, कैसे की गई है सजावट

कोरोना की वजह से लॉकडाउन के बीच केदारनाथ मंदिर के कपाट को बुधवार को खोला जाएगा। कपाट को परंपरागत तरीके और फूलों से सजाया गया है। मुख्य द्वार खुलने पर मंदिर के पुजारी सहित 16 लोग मौजूद रहते हैं।

Kedarnath temple doors will be opened at 6 am on April 29 kpn
Author
New Delhi, First Published Apr 28, 2020, 7:44 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई दिल्ली. कोरोना की वजह से लॉकडाउन के बीच केदारनाथ मंदिर के कपाट को बुधवार को खोला जाएगा। कपाट को परंपरागत तरीके और फूलों से सजाया गया है। मुख्य द्वार खुलने पर मंदिर के पुजारी सहित 16 लोग मौजूद रहते हैं। लॉकडाउन की वजह से भक्तों के लिए दर्शन की अनुमति नहीं होगी। केदारनाथ धाम रुद्रप्रयाग जिले में स्थित है। यह भगवान शंकर का धाम है।

सुबह 6.10 बजे खुलेगा मंदिर का कपाट

बाबा केदार की डोली सोमवार शाम को धाम पहुंच गई है। अब बुधवार को सुबह 6 बजकर 10 मिनट पर केदारनाथ मंदिर के कपाट मेष लग्न में खोले जाएंगे।

Image

 

केदारनाथ मन्दिर भारत के उत्तराखण्ड राज्य के रूद्रप्रयाग जिले में स्थित है। उत्तराखण्ड में हिमालय पर्वत की गोद में केदारनाथ मन्दिर बारह ज्योतिर्लिंग में सम्मिलित होने के साथ चार धाम और पंच केदार में से भी एक है। 

Image

 

यहां की प्रतिकूल जलवायु के कारण यह मन्दिर अप्रैल से नवंबर महीने के बीच ही दर्शन के लिए खुलता है। 

Image

 

पत्‍थरों से बने कत्यूरी शैली से बने इस मन्दिर के बारे में कहा जाता है कि इसका निर्माण पाण्डव वंश के जनमेजय ने कराया था। यहां स्थित स्वयम्भू शिवलिंग बहुत  प्राचीन है। 

जून 2013 में आई थी भयानक बाढ़

जून 2013 में  उत्तराखण्ड और हिमाचल प्रदेश में अचानक आई बाढ़ और भूस्खलन के कारण केदारनाथ सबसे अधिक प्रभावित क्षेत्र रहा। मंदिर की दीवारें गिर गई और बाढ़ में बह गईं। बाढ़ में भी इस ऐतिहासिक मन्दिर का मुख्य हिस्सा और सदियों पुराना गुंबद सुरक्षित रहे, लेकिन मन्दिर का प्रवेश द्वार और उसके आस-पास का इलाका पूरी तरह तबाह हो गया।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios