Asianet News Hindi

कोलकाता मेडिकल काॅलेज में 11 लाख रुपये का इंजेक्शन चोरी, डाॅक्टर ने लिया टीएमसी विधायक का नाम

मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने इस मामले में राजनीतिक स्टैंड न लेने की बात कहते हुए साफ किया है कि कानून अपना काम करेगा। कार्रवाई करने के लिए स्वास्थ्य विभाग है, मेडिकल काॅलेज के पास भी एक्शन लेने के लिए पर्याप्त शक्तियां हैं। 

Kolkata medical college injection theft case, Doctor blamed TMC MLA in viral audio DHA
Author
Kolkata, First Published Jun 2, 2021, 6:57 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

कोलकाता। मेडिकल काॅलेज कोलकाता से 11 लाख कीमत के Tocilizumab इजेक्शन की कथित चोरी का मामला तूल पकड़ता जा रहा है। चोरी के पीछे सत्ताधारी तृणमूल कांग्रेस के एक विधायक के करीबी का नाम सामने आ रहा है। पश्चिम बंगाल कांग्रेस के सोशल मीडिया पेज पर इस कथित चोरी के मामले में कई सनसनीखेज आरोप लगाए गए हैं। उधर, मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने इस मामले में राजनीतिक स्टैंड न लेने की बात कहते हुए साफ किया है कि कानून अपना काम करेगा। कार्रवाई करने के लिए स्वास्थ्य विभाग है, मेडिकल काॅलेज के पास भी एक्शन लेने के लिए पर्याप्त शक्तियां हैं। 

यह है मामला

पश्चिम बंगाल कांग्रेस समर्थक एक फेसबुक पेज है। इस पेज पर कोविड काल के दौरान पिछले 24 अप्रैल को एक गंभीर मामला सामने लाया गया। पेज से दावा किया गया कि 24 अप्रैल को कोलकाता मेडिकल काॅलेज के अस्पताल से इमरजेंसी मेडिकल अफसर ने बिना किसी रसीद के कोविड वार्ड से टॉसिलिजुमाब इंजेक्शन की 26 वायल ली। इस अवैध निकासी में कोविड वार्ड की सिस्टर-इंचार्ज भी शामिल रहीं। 

audio वायरल होने के बाद मामला और तूल पकड़ा

इंजेक्शन वायल निकाले जाने का मामला और तूल पकड़ लिया जब कोविड वार्ड की सिस्टर इंचार्ज और आरोपी डाॅक्टर का कथित आॅडियो भी वायरल हो गया। कथित आॅडियो में डाॅक्टर कोविड वार्ड की सिस्टर इंचार्ज से बता रहे हैं कि उन्होंने इंजेक्शन टीएमसी विधायक डाॅ.निर्मल माजी की खातिर निकाले थे। 

मेडिकल काॅलेज ने जांच शुरू किया, स्वास्थ्य विभाग ने मांगी रिपोर्ट

उधर, यह मामला सामने आने के बाद मेडिकल काॅलेज प्रशासन ने इंजेक्शन मामले की जांच शुरू करा दी है। राज्य के स्वास्थ्य विभाग ने भी इस प्रकरण में विस्तृत रिपोर्ट मांग ली है।

मामला सामने आने के बाद आरोपी डाॅक्टर लापता

प्रकरण सामने आने के बाद आरोपी इमरजेंसी मेडिकल अफसर का बयान सामने नहीं आ सका है। बताया जा रहा है कि वह अपने आवास पर भी नहीं हैं न ही ड्यूटी पर आ रहे हैं। 

बोली ममता-कानून करेगा अपना काम, मेडिकल काॅलेज के पास शक्तियां

उधर, इस प्रकरण का राजनीतिकरण होने के बाद मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कहा कि शिकायत हुई है यह ठीक बात है। वह राजनीतिक स्टैंड नहीं लेंगी। कानून अपना काम करेगा। स्वास्थ्य विभाग कार्रवाई करेगा। मेडिकल काॅलेज और स्वास्थ्य विभाग इस मामले में कार्रवाई के लिए स्वतंत्र हैं और दोनों के पास एक्शन लेने के लिए पाॅवर भी है। 

विधायक बोले- वह चुनाव में व्यस्त थे

इस मामले में नाम आने के बाद टीएमसी विधायक निर्मल माजी ने मेडिकल काॅलेज के इंजेक्शन घोटाले में संलिप्तता से इनकार किया है। उन्होंने कहा कि जब यह सब हुआ है तो वह चुनाव में व्यस्त थे।
 

Asianet News का विनम्र अनुरोधः आईए साथ मिलकर कोरोना को हराएं, जिंदगी को जिताएं... जब भी घर से बाहर निकलें माॅस्क जरूर पहनें, हाथों को सैनिटाइज करते रहें, सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें। वैक्सीन लगवाएं। हमसब मिलकर कोरोना के खिलाफ जंग जीतेंगे और कोविड चेन को तोडेंगे। #ANCares #IndiaFightsCorona

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios