Asianet News HindiAsianet News Hindi

कोरोना वायरस में अपराधियों की चांदी, महाराष्ट्र सरकार ने 50% कैदियों को छोड़ने का किया फैसला

कोरोना वायरस के चलते जेल में बंद कैदियों को बड़ी राहत मिली है। महाराष्ट्र सरकार द्वारा बनाई गई कमेटी ने फैसला किया है कि 50% कैदियों को अस्थाई तौर पर छोड़ा जाएगा। यह फैसला कोरोना वायरस को देखते हुए जेल से भीड़ कम करने के चलते लिया गया है। 

maharashtra Govt panel decides to release 50 per cent prisoners from jails KPP
Author
Mumbai, First Published May 12, 2020, 3:38 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

मुंबई.  कोरोना वायरस के चलते जेल में बंद कैदियों को बड़ी राहत मिली है। महाराष्ट्र सरकार द्वारा बनाई गई कमेटी ने फैसला किया है कि 50% कैदियों को अस्थाई तौर पर छोड़ा जाएगा। यह फैसला कोरोना वायरस को देखते हुए जेल से भीड़ कम करने के चलते लिया गया है। 

इस कमेटी में बॉम्बे हाईकोर्ट के जस्टिस ए सयद, एडिशनल चीफ सेक्रेटरी गृह संजय चहांदे और महाराष्ट्र डीजीपी एनएन पांडेय शामिल हैं। यह कमेटी सुप्रीम कोर्ट के उस आदेश के बाद गठित की गई थी, जिसमें कोर्ट ने कोरोना वायरस को देखते हुए जेलों में कैदियों की संख्या को कम करने के लिए कहा था। 

बेल या पैरोल पर छोड़े जाएंगे कैदी 
कमेटी ने फैसला किया है कि 50% कैदियों को अस्थाई बेल या पैरोल पर छोड़ा जाएगा। हालांकि, इन्हें कब तक छोड़ा जाएगा, इसकी कोई जानकारी नहीं आई है। कमेटी ने कहा, जेल में कुल 35239 कैदी बंद हैं। इनमें से 50% कैदियों को छोड़ने का फैसला किया गया है। 

आर्थर रोड जेल में मरीजों को हुआ कोरोना
सरकार का यह आदेश ऐसे वक्त में आया जब मुंबई की आर्थर रोड जेल में करीब 100 से ज्यादा कैदी और स्टाफ संक्रमित पाए गए हैं। 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios