Asianet News HindiAsianet News Hindi

10 साल की उम्र से ही बेटी का यौन शोषण करने लगा था बाप, 17 की हुई तो पुलिस से की शिकायत

हरियाणा के अंबाला में पुलिस ने अपनी ही नाबालिग बेटी का यौन शोषण करने वाले एक पिता को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है। वह 10 साल की उम्र से बेटी का यौन शोषण कर रहा था। 
 

Man arrested for raping minor daughter for seven years vva
Author
First Published Aug 31, 2022, 3:54 PM IST

अंबाला। हरियाणा के अंबाला में नाबालिग बेटी का यौन शोषण करने वाले बाप को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। 31 साल का आरोपी अपनी 17 साल की बेटी का पिछले सात साल से यौन शोषण कर रहा था। पुलिस ने बुधवार को बताया कि आरोपी के खिलाफ पॉक्सो (Protection of Children from Sexual Offences) एक्ट के तहत केस दर्ज किया गया है।

पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार पीड़िता ने सोमवार को अपने पिता के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई थी। पुलिस ने उसके पिता को मंगलवार को गिरफ्तार कर कोर्ट में पेश किया था। उसे न्यायीक हिरासत में भेज दिया गया है। अपनी शिकायत में लड़की ने आरोप लगाया है कि पिता उसका बार-बार यौन उत्पीड़न करते हैं। पिता ने 10 साल की उम्र में उसके साथ यौन उत्पीड़न शुरू कर दिया था। 

जिंदा जलाने की दी थी धमकी
लड़की ने पुलिस को बताया है कि 7 साल पहले वह अपने पिता के साथ एक रिश्तेदार के घर चंडीगढ़ गई थी। उस समय पिता ने उसके साथ पहली बार यौन उत्पीड़न किया था। इसके बाद वह लगातार यौन उत्पीड़न करने लगा। पिता ने बेटी को धमकी दी थी कि अगर उसने अपने साथ हो रही घटना की जानकारी किसी को दी तो उसे और उसकी मां को जिंदा जला देगा। 

ऐसे सामने आया मामला
पीड़िता ने कहा कि जब पिता उसके साथ लगातार यौन उत्पीड़न करने लगे तो उसने इसके बारे में एक रिश्तेदार को बताया। इसके बाद दूसरे रिश्तेदारों को भी इसकी जानकारी मिल गई। पीड़िता एक सरकारी स्कूल में पढ़ती है। स्कूल की प्रिंसिपल को इस संबंध में जानकारी मिली तो उन्होंने चाइल्ड हेल्पलाइन को खबर दी। चाइल्ड हेल्पलाइन की टीम ने पीड़िता से बात की। इसके बाद शिकायत दर्ज कराया गया।  

यह भी पढ़ें- निकाह हलाला, बहु विवाह पर SC ने मानवाधिकार आयोग, महिला आयोग व अल्पसंख्यक आयोग को भेजा नोटिस

अंबाला कैंट थाना के एसएचओ नरेश कुमार ने कहा कि एक लड़की ने शिकायत दर्ज कराई थी। लड़की के पिता के खिलाफ पॉक्सो एक्ट के तहत केस दर्ज हुआ है। मंगलवार को लड़की की मेडिकल जांच कराई गई। इसके साथ ही पीड़िता का बयान कोर्ट में रिकॉर्ड कराया गया है।

यह भी पढ़ें- धर्मांतरण कर मुस्लिम व ईसाई धर्म अपनाने वाले दलितों को आरक्षण पर सुप्रीम कोर्ट ने कहा-सरकार क्लियर करे स्टैंड

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios