Asianet News HindiAsianet News Hindi

झारखंड में सूखे जैसे हालात, दिल्ली में 14 साल में सबसे कम पानी गिरा, लेकिन कुछ राज्यों में भारी बारिश का अलर्ट

दक्षिण-पश्चिम मानसून की एक बार फिर सक्रियता से कम बारिश होने से परेशान राज्यों को राहत मिलने की उम्मीद है। खासकर झारखंड सूखे जैसी स्थिति का सामना कर रहा है। बिहार और यूपी में के कई हिस्सों में कम बारिश हुई है। इस बीच कई राज्यों में फिर से भारी बारिश का अलर्ट जारी किया गया है।

Monsoon rains in India, 112 Jharkhand blocks facing drought like conditions, Delhi receives lowest rainfall in 14 years kpa
Author
First Published Sep 3, 2022, 6:26 AM IST

मौसम डेस्क. भारत मौसम विज्ञान विभाग (IMD) ने सितंबर में भी अच्छी बारिश का पूर्वानुमान जताया है। इस बीच झारखंड जैसे राज्य सूखे जैसी स्थिति का सामना कर रहे हैं। दिल्ली में भी बहुत कम बारिश हुई है। मौसम विभाग ने आजकल में असम, मेघालय, अरुणाचल प्रदेश, उप-हिमालयी पश्चिम बंगाल, सिक्किम, उत्तरी बिहार, लक्षद्वीप के कुछ हिस्सों और अंडमान और निकोबार द्वीप समूह में मध्यम बारिश के साथ कहीं-कहीं भारी बारिश होने की संभावना जताई है। जबकि पूर्वी राजस्थान, मध्य प्रदेश के कुछ हिस्सों और केरल में हल्की से मध्यम बारिश के साथ एक या दो स्थानों पर भारी बारिश हो सकती है।

मौसम विभाग ने उत्तर प्रदेश और बिहार के सूखे इलाकों में मानसूनी की सक्रियता बढ़ने की संभावना जताई है। मौसम विभाग ने बंगाल की खाड़ी के ऊपर एक चक्रवाती परिसंचरण के बनने के संकेत दिए हैं। दक्षिण-पश्चिम मानसून के जल्दी वापसी के पिछले सप्ताह के पूर्वानुमान को खारिज कर दिया गया है।(तस्वीर दिल्ली की)

इन राज्यों में हल्की या मध्यम बारिश क अलर्ट
मौसम विभाग के अनुसार, आजकल में उत्तर छत्तीसगढ़, झारखंड, बिहार के शेष हिस्सों, उत्तराखंड, शेष मध्य प्रदेश, कर्नाटक, कोंकण और गोवा और मध्य महाराष्ट्र में हल्की से मध्यम बारिश की संभावना है। हिमाचल प्रदेश, उत्तर प्रदेश, गुजरात, तमिलनाडु और तेलंगाना में हल्की बारिश हो सकती है। 

सूखे जैसी स्थिति का सामना कर रहे झारखंड के 112 ब्लॉक
झारखंड के कुल 264 ब्लॉक में से 112 ब्लॉक सूखे जैसी स्थिति का सामना कर रहे हैं। एक अधिकारी ने शुक्रवार को यह जानकारी देते हुए बताया अन्य 131 ब्लॉक में मानसून के शुरुआती महीनों में कम बारिश के कारण सूखे जैसी स्थिति देखी जा रही है। राज्य में कुल बुवाई कवरेज 37.19 फीसदी और धान की बुवाई कवरेज अब तक के लक्ष्य के मुकाबले 30 फीसदी दर्ज हुआ है। मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने यहां स्थिति पर समीक्षा बैठक के दौरान आंकड़ों का खुलासा किया। मुख्यमंत्री ने स्थिति का जायजा लिया और अधिकारियों को ग्रामीण इलाकों में रहने वाले लोगों, पशुपालकों और मजदूरों को सूखे से राहत दिलाने के लिए जल्द से जल्द विस्तृत योजना तैयार करने का निर्देश दिया। उन्होंने कहा कि सोरेन ने अधिकारियों से स्थिति का मूल्यांकन करने के लिए संथाल परगना और पलामू संभागों में टीमों को भेजने के लिए कहा, क्योंकि कई क्षेत्र कृषि, पेयजल और पशुधन के लिए पानी के संकट का सामना कर रहे हैं।

औरंगाबाद के जयकवाड़ी डैम का वॉटर लेवल 99 फीसदी तक पहुंचा
महाराष्ट्र के औरंगाबाद जिले के जयकवाड़ी बांध में पानी की स्टोरेज कैपिसिटी 99.01 प्रतिशत तक पहुंच गई है। अधिकारियों ने कहा कि गोदावरी नदी के किनारे के इलाकों में अलर्ट जारी कर दिया गया है। बांध की कैपिसिटी 102. 73 टीएमसी (हजार मिलियन क्यूबिक फुट) है और यह औरंगाबाद और जालना शहरों और दो जिलों के इंडस्ट्रियल एरिया को पानी सप्लाई करता है।

दिल्ली में बारिश का हाल
दिल्ली के कुछ हिस्सों में शुक्रवार को हुई बारिश ने लोगों को गर्म और उमस भरे मौसम से काफी राहत दी। दिल्ली में सितंबर के महीने में यह पहली बारिश थी। राजधानी में अगस्त में सिर्फ 41.6 मिमी बारिश दर्ज की गई, जो कम से कम 14 वर्षों में सबसे कम है।भारत मौसम विज्ञान विभाग के अनुसार, अधिकतम तापमान सामान्य से तीन डिग्री अधिक 37.1 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया, जबकि न्यूनतम तापमान 27.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। दिन भर नमी 97 से 64 फीसदी के बीच रही।

इन राज्यों में बीते दिन हल्की या मध्यम बारिश हुई
स्काईमेट वेदर(skymet weather) के अनुसार, बीते दिन दक्षिण-पूर्वी राजस्थान, मध्य प्रदेश और केरल में हल्की से मध्यम बारिश के साथ कुछ स्थानों पर भारी बारिश दर्ज की गई। मराठवाड़ा और लक्षद्वीप में हल्की से मध्यम बारिश के साथ एक या दो स्थानों पर भारी बारिश हुई।  पूर्वोत्तर भारत, उप-हिमालयी पश्चिम बंगाल, सिक्किम, बिहार, उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, शेष मध्य प्रदेश, झारखंड, मध्य महाराष्ट्र, गुजरात, तमिलनाडु, कर्नाटक, अंडमान और निकोबार द्वीप समूह और पूर्वी राजस्थान में हल्की से मध्यम बारिश हुई। जबकि हिमाचल प्रदेश, तटीय आंध्र प्रदेश और तेलंगाना में हल्की बारिश होती रही।

यह भी पढ़ें
Good News: अभी नहीं होगा मानसून रिटर्न, यूपी-बिहार के सूखे इलाकों में हो सकती है जबर्दस्त बारिश
पाकिस्तान में डूबा UK के बराबर का एरिया, फिर भयंकर बारिश-बाढ़ का खतरा, ग्लोबल वार्मिंग को लेकर बढ़ा ALERT

 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios