Asianet News HindiAsianet News Hindi

Monsoon Update: मप्र, छग, राजस्थान, गुजरात सहित कई राज्यों में भारी बारिश की चेतावनी, जानिए पूरी डिटेल्स

मौसम विभाग ने झारखंड, मध्य प्रदेश, छग, राजस्थान और गुजरात में भारी बारिश का अलर्ट जारी किया है। पश्चिमी हिमालय, पंजाब, सिक्किम, उप-हिमालयी पश्चिम बंगाल, उत्तर पूर्व भारत, केरल, कर्नाटक में हल्की बारिश के आसार हैं।

monsoon report, Heavy rain alert in Madhya Pradesh, Chhattisgarh, Rajasthan and Gujarat kpa
Author
New Delhi, First Published Aug 13, 2022, 7:28 AM IST

मौसम डेस्क. दक्षिण पश्चिमी मानसून(south west monsoon) की सक्रियता से देश के कई राज्यों में भारी बारिश का अलर्ट है। भारत मौसम विज्ञान विभाग (IMD) ने कहा है कि आजकल में झारखंड, छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश, दक्षिण-पूर्वी राजस्थान और गुजरात के कुछ हिस्सों में हल्की से मध्यम बारिश के साथ कुछ स्थानों पर भारी बारिश के आसार हैं। गंगीय पश्चिम बंगाल और तटीय महाराष्ट्र में हल्की से मध्यम बारिश के साथ एक या दो स्थानों पर भारी बारिश संभव है। (यह तस्वीर महाराष्ट्र के चंद्रपुर जिले की है। मानसून की बारिश के बाद बाढ़ प्रभावित इलाके में राहत अभियान के दौरान एनडीआरएफ के जवान)

इन राज्यों में हल्की या मध्यम बारिश संभव
दक्षिण उत्तर प्रदेश, उत्तरी और पश्चिमी राजस्थान, गुजरात के शेष हिस्सों, तटीय आंध्र प्रदेश, तेलंगाना, तटीय कर्नाटक और हरियाणा और दिल्ली के कुछ हिस्सों में हल्की से मध्यम बारिश हो सकती है। जबकि पश्चिमी हिमालय, पंजाब, सिक्किम, उप-हिमालयी पश्चिम बंगाल, उत्तर पूर्व भारत, केरल, लक्षद्वीप और आंतरिक कर्नाटक में एक या दो स्थानों पर हल्की बारिश के आसार हैं।

राजस्थान के कई हिस्सों में बारिश
मौसम विभाग ने अलवर, जयपुर, झुंझुनू, सवाई माधोपुर, सीकर, टोंक, चुरू, जैसलमेर और नागौर में भारी बारिश और वज्रपात के लिए येलो अलर्ट जारी किया है। वहीं, जोधपुर और बीकानेर में गरज के साथ बिजली गिरने की संभावना है। जयपुर मौसम विज्ञान केंद्र प्रभारी राधेश्याम शर्मा ने बताया कि बंगाल की खाड़ी और आसपास के इलाकों में 13 अगस्त को नया लो प्रेशर सिस्टम बनने की प्रबल संभावना है। इसके बाद, इसके ओडिशा, छत्तीसगढ़ और मध्य प्रदेश से होते हुए धीरे-धीरे पश्चिम की ओर बढ़ने की भी संभावना है। उन्होंने कहा कि इस नए लो प्रेशर सिस्टम के प्रभाव से राज्य के अधिकांश हिस्सों में 15 अगस्त से एक बार फिर बारिश की गतिविधियां बढ़ जाएंगी। कोटा, उदयपुर, अजमेर, जोधपुर संभाग के जिलों में एक या दो स्थानों पर भारी बारिश, जबकि बाकी संभागों में मध्यम बारिश होने की संभावना है। 

ओडिशा की नदियां उफान पर, अगले दो दिनों में और बारिश की संभावना
इस सप्ताह की शुरुआत में हुई मूसलाधार बारिश के कारण ओडिशा की लगभग सभी नदियां उफान पर हैं, लेकिन राज्य सरकार ने कहा है कि बाढ़ की आशंका नहीं है। हालांकि, बंगाल की खाड़ी के ऊपर एक नई कम दबाव प्रणाली बनने की संभावना के कारण अगले दो दिनों में आईएमडी के एक और भारी बारिश के पूर्वानुमान के मद्देनजर इसने कई जिलों को अलर्ट पर रखा है।

भुवनेश्वर मौसम विज्ञान केंद्र ने कहा कि अगर बारिश लगातार जारी रही तो बंसधारा, रुशिकुल्या और नागबली जैसी उफनती नदियां ओवरफ्लो हो सकती हैं। मौसम कार्यालय ने शनिवार को खुर्दा, कटक, पुरी, बालासोर, भद्रक, ढेंकनाल, गंजम, गजपति, जाजपुर, जगतसिंहपुर, कंधमाल, कालाहांडी, केंद्रपाड़ा और नयागढ़ जिलों में भारी से बहुत भारी बारिश का ऑरेंज अलर्ट जारी किया। 

रविवार को कालाहांडी, बोलांगीर, नुआपाड़ा और नबरंगपुर में कुछ स्थानों पर अत्यधिक भारी वर्षा के अलावा राज्य भर में भारी से बहुत भारी वर्षा की चेतावनी दी है। वेदरमैन के अनुसार, उप-हिमालयी पश्चिम बंगाल में शनिवार और रविवार को और रविवार को गंगीय बंगाल में भी भारी बारिश के साथ व्यापक बारिश होने की संभावना है। 

मौसम विभाग ने कहा कि दक्षिण 24 परगना और पुरबा मेदिनीपुर, पश्चिम मेदिनीपुर और झारग्राम के तटीय जिलों में भारी बारिश होने की संभावना है, जबकि उत्तर में दार्जिलिंग, जलपाईगुड़ी और अलीपुरद्वार में बारिश हो सकती है। मछुआरों को सलाह दी गई है कि वे सोमवार तक तट से दूर समुद्र में न जाएं क्योंकि पश्चिम-मध्य बंगाल की खाड़ी में 45-65 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से हवा चलने की संभावना है। 

दिल्ली उमस भरे मौसम की चपेट में है
बारिश के अभाव में दिल्ली में शुक्रवार को भीषण उमस बनी रही और अधिकतम तापमान 37.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। भारतीय मौसम विभाग (IMD) ने कहा कि दिल्ली और उत्तर पश्चिम भारत के अन्य हिस्सों में पिछले कुछ दिनों में ज्यादा बारिश नहीं हुई है, क्योंकि देश के मध्य भागों में मानसून की ट्रफ बनी हुई है। आईएमडी के अनुसार, शनिवार को आमतौर पर बादल छाए रहेंगे और हल्की बारिश की संभावना कम है। आईएमडी के एक अधिकारी ने कहा, "शनिवार को न्यूनतम और अधिकतम तापमान 27 डिग्री सेल्सियस और 37 डिग्री सेल्सियस रहने की संभावना है। ट्रफ कुछ समय के लिए उत्तर की ओर शिफ्ट होगी और शनिवार से दिल्ली और अन्य क्षेत्रों में हल्की से मध्यम बारिश हो सकती है।

हालांकि स्काईमेट वेदर के उपाध्यक्ष (मौसम विज्ञान और जलवायु परिवर्तन) महेश पलावत ने कहा, केवल मामूली राहत की उम्मीद है। पलावत ने कहा कि मॉडल बताते हैं कि यह कम दबाव का क्षेत्र पूरे उत्तर प्रदेश में उत्तर-पश्चिम की ओर बढ़ने की संभावना है, जिससे मानसून अपनी ओर खींच रहा है। इसके परिणामस्वरूप दिल्ली, पंजाब, हरियाणा, उत्तर प्रदेश और बिहार में फिर से बारिश हो सकती है।

बीते दिन इन राज्यों में हुई बारिश
स्काईमेट वेदर(skymet weather) के अनुसार, बीते दिन गुजरात के शेष हिस्सों, कोंकण और गोवा, केरल, तटीय कर्नाटक, छत्तीसगढ़, ओडिशा और हिमाचल प्रदेश के कुछ हिस्सों में हल्की से मध्यम बारिश दर्ज की गई। उत्तराखंड, उत्तर प्रदेश, बिहार के कुछ हिस्सों, झारखंड, दक्षिण राजस्थान, तेलंगाना के कुछ हिस्सों, तटीय आंध्र प्रदेश और आंतरिक कर्नाटक में हल्की बारिश हुई।

सिक्किम, पूर्वोत्तर भारत, लक्षद्वीप, अंडमान और निकोबार द्वीप समूह, दिल्ली और पंजाब में एक या दो स्थानों पर हल्की बारिश हुई। जबकि मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र के कुछ हिस्सों, गुजरात में जम्मू कश्मीर और गंगीय पश्चिम बंगाल में एक या दो स्थानों पर हल्की से मध्यम बारिश के साथ कुछ स्थानों पर भारी बारिश हुई।

यह भी पढ़ें
एक ऐसी शख्सियत जिसने बदल दी हजार गांवों की तस्वीर, पढ़िए राजेंद्र सिंह के 'जलपुरुष' बनने की कहानी
Monsoon Update: देश के कई राज्यों में फिर से भारी बारिश की चेतावनी, जानिए मौसम विभाग की भविष्यवाणी

 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios