नई दिल्ली. देश में कोरोना का ग्राफ तेजी से बढ़ता जा रहा है। कोरोना मरीज और हो रही मैात के आंकड़ों में वृद्धि हो रही है। मंगलवार को स्वास्थ विभाग के दिए ताजे आंकड़ों से अनुसार कोरोना की वजह से मरने वालों में सबसे ज्यादा 60 की उम्र से ज्यादा के लोग है, जिनकी संख्या कुल मृतकों में 50 प्रतिशत से ज्यादा है। 

18 साल की उम्र से कम लोगों में सिर्फ 1% की मौत
वहीं 37 प्रतिशत मृतकों की उम्र 45 से 60 साल के बीच है। इनमें 11 प्रतिशत 26 से 44 साल के लोग शामिल हैं जो कोरोना वायरस से जिंदगी की जंग हार गए। मात्र 1 प्रतिशत ऐसे मरीज हैं जिनकी उम्र 18 साल से नीचे हैं।

586298 कोरोना के एक्टिव केस
स्वास्थ मंत्रालय के सेक्रेटरी राजेश भूषण ने प्रेस कॉन्फ्रेस में जरिए भारत में कोरोना के ताजे आंकड़े बताए। वर्तमान में 5,86,298 कोरोना के एक्टिव केस हैं। 12 लाख से ज्यादा लोग कोरोना वायरस से रिकवर हो चुके हैं। 50 प्रतिशत से ज्यादा मृतकों की उम्र 60 साल से ऊपर है। 37 प्रतिशत मृतक 45 से 60 साल के हैं, उनमें 11 प्रतिशत मृतक ऐसे हैं जिनकी उम्र 26 साल से 44 साल के बीच हैं, सिर्फ 1 प्रतिशत मृतक हैं जो 18 साल से कम उम्र के थे।

68 प्रतिशत मेल कोरोना संक्रमित
देश भर में मिले कोरोना मरीजों में 68 प्रतिशत मरीज पुरूष हैं, मात्र 32 प्रतिशत महिलाएं कोरोना की चपेट में आई हैं। उन्होनें कहा भारत में कोरोना से मुक्ति पाने वाले मरीजों की संख्या तेजी से बड़ रही हैं लेकिन कोरोना मरीज मिलने की संख्या दोगुनी हो गई है।

2 करोड़ से ज्यादा कोरोना के टेस्ट
देश में अब तक 2 करोड़ से ज्यादा कोरोना टेस्ट हो चुके हैं। पिछले 24 घण्टे में 6 लाख ज्यादा टेस्ट हमने किए हैं। पहले लॉकडाउन के बाद से मृत्युदर में कमी आई है। पहले लॉकडाउन के बाद से पहली बाद देखने को मिला है कि मृत्युदर में कमी आई है।