Asianet News Hindi

MP: पिता के हत्यारों को सजा दिलाने की मांग कर रही बेटी ने सिस्टम से हारकर आत्महत्या की कोशिश की

भोपाल की रहने वाली किरण राजपूत ने प्रशासन की अनदेखी की वजह से रविवार को आत्महत्या करने की कोशिश की है। दरअसल किरण अपने पिता के हत्यारों को सजा दिलाने की मांग कर रही थी। फिलहाल किरण को एक अस्पताल में भर्ती कराया गया है जहां वे जिंदगी और मौत से संघर्ष कर रहीं है।

MP Daughter, seeking punishment for the killers of father, attempted suicide
Author
Bhopal, First Published Nov 1, 2020, 7:29 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

भोपाल. मध्यप्रदेश में उपचुनावों को लेकर राजनीति चरम पर है। इसी बीच भोपाल की रहने वाली किरण राजपूत ने प्रशासन की अनदेखी की वजह से रविवार को आत्महत्या करने की कोशिश की है। दरअसल किरण अपने पिता के हत्यारों को सजा दिलाने की मांग कर रही थी। आज किरण ने ट्वीटर पर अपनी आत्महत्या के प्रयास का विडियो भी शेयर किया है जिसमें वह दोषियों को प्रशासन द्वारा बचाने के आरोप लगा रहीं हैं। फिलहाल किरण को एक अस्पताल में भर्ती कराया गया है जहां वे जिंदगी और मौत से संघर्ष कर रहीं है।

सीएम ऑफिस के चक्कर काट रहीं किरण को भगा देते थे पुलिस वाले

दरअसल, यह घटना भोपाल के उस गोविंदपुरा इलाके की है जहां से महज कुछ ही दूरी पर सभी मंत्रियों और अधिकारियों का निवास है। गोविंदपुरा इलाके की किरण राजपूत करीब 6 महीनों से अपने पिता तरुण सिंह राजपूत के हत्यारों को सजा दिलवाने और अपने परिवार के न्याय की मांग कर रहीं थीं। उन्होंने अपने सुसाइड नोड में और ट्वीटर पर शेयर किए विडियो में बताया कि वह लंबे समय से सीएम ऑफिस के चक्कर काट रही हैं पर उन्हें अब तक न्याय नहीं मिला। मुख्यमंत्री से मिलना तो दूर पुलिस वाले मुख्यमंत्री आवास के सामने भी खड़े नहीं होने दे रहे हैं। 

16 अप्रेल को हुई थी किरण के पिता की हत्या

सूत्रों के मुताबिक, किरण के पिता की 16 अप्रेल 2020 को करीब आधे दर्जन गुंडों ने उनके घर में घुसकर हत्या कर दी थी और उनके छोटे भाई का भी सिर फोड़कर उसे जख्मी कर दिया था। 16 अप्रेल के बाद से 2 दिनों तक गंभीर हालत में रहे तरुण सिंह ने 18 अप्रेल को दम तोड़ दिया था। बता दें कि मोहल्ले में रहने वाले ही कुछ मनचले युवक उसके घर के सामने हर रोज इकट्ठे होकर गाली गलौज करते थे। जिस पर जब उसने उन लोगों को मना किया तो उन्होंने किरण के पिता की जान ले ली। इस घटना के बाद से लगातार उनकी बेटी किरण मध्य प्रदेश सरकार से गुहार लगा रही थी कि उसके पिता के दोषियों के खिलाफ कार्रवाई हो लेकिन प्रशासन की अनदेखी की वजह से अब उन्होंने आत्महत्या का प्रयास किया है। 

किन अफसरों पर आरोप लगा रहीं है किरण?

किरण ने ट्वीट कर कहा कि 'प्रशासन के कुछ आला अधिकारियों ने हमारे गवाहों के बयानों में फेरबदल कर दिया गया है। उनकी बातों को तोड़ मरोड़ कर हत्यारों के पक्ष में किया और फिर चार्जशीट तैयार की है। किरण ने अपने 15 गवाहों के साथ पुलिस अधिकारी आर एन चौहान के खिलाफ कारवाई की मांग की है।' इसके साथ ही किरण ने कहा है कि आर एन चौहान रिश्वतखोर हैं और उनके बैंक बैलेंस और कॉल रिकॉर्ड की जांच होनी चाहिए। ट्वीट के माध्यम से यह भी बताया कि इन्वेस्टिगेशन ऑफीसर ने मेरा फोन नंबर ब्लॉक कर रखा है और अब चार्जशीट भी बिगाड़ दी है। 

सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, जब वे और उनकी मां ललिता राजपूत थाने में रिपोर्ट दर्ज कराने पहुंचे तो गोविंदपुरा में मौजूद ASI अरविन्द कौरव द्वारा दुर्व्यव्हार किया गया और उन्हें भागने का प्रयास किया गया। उन्होंने कहा था इसके अलावा एफआईआर और पोस्टमार्टम में भी कई सारी खामियां हैं।

क्या कहा गोविंदपुरा TI अशोक परिहार ने?

इस मामले में एशियानेट न्यूज से बात करते हुए गोविंदपुरा टीआई अशोक परिहार ने कहा कि किरण राजपूत के पिता की हत्या के मामले में अबतक कुल 12 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया गया है। टीआई परिहार के मुताबिक, पुलिस द्वारा सभी आरोपियों के खिलाफ धारा 302 के तहत मुकदमा दर्ज किया गया था। मामले में पुलिस ने सभी के खिलाफ चालान बनाकर कोर्ट में पेश कर दिया है। अब मामला कोर्ट की निगरानी में है। किरण द्वारा आज की गई आत्महत्या की कोशिश के सवाल पर उन्होंने कहा कि किरण जिस क्षेत्र में रहती है वह शाहपुरा थाने में आता है। शाहपुरा थाने ने अस्पताल में लड़की को इलाज के लिए भेज दिया है और आगे उनसे बयान लिया जाएगा।

मजदूरी करके घर का पेट पालते थे तरुण सिंह राजपूत

किरण राजपूत के पिता तरुण सिंह एक प्राइवेट कंपनी मे मजदूर थे अपने बीवी बच्चो के लिए सुबह 8 से शाम 8 तक मेहनत करते थे, अपनी पढाई का खर्च निकलने के लिए खुद किरण और उनकी सभी बहनें और उनकी माँ पार्क में खिलौने बेंचा करती थी।

किरण की मां का बुरा हाल

किरण राजपूत 3 बहन और दो भाई हैं जो 14 और 10 साल के हैं। पिताजी की ह्त्या के बाद माँ का बुरा हाल है, वे बार बार बेहोश हो जाती हैं और एक ही बात बार-बार कहती हैं की उन हत्यारो को उम्र कैद या फांसी की सजा दिलाऊँगी। किरण की दो बहने हैं और दो छोटे भाई हैं।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios