Asianet News Hindi

कोविड में खत्म होती धार्मिक कटुताः अपनों ने छोड़ा साथ तो मीर अहमद ने किया हिंदू महिला का अंतिम संस्कार

महामारी में धार्मिक कटुता और द्वेष के इतर सांप्रदायिक सौहार्द की कहानी भी लिखी जा रही है। जहां कोविड के खौफ से लोग अपनों को मरने को छोड़ दे रहे वहीं कुछ ऐसे भी हैं जो जाति-धर्म और महामारी के खौफ से परे मदद के लिए आगे आ रहे। जम्मू-कश्मीर में एक हिंदू महिला का अंतिम संस्कार करने कोई आगे नहीं आया तो एक मुस्लिम ड्राइवर मीर अहमद ने हिंदू रीति-रीवाज से महिला को अंतिम विदाई दी।

 

Muslim ambulance driver performs last rites of hindu woman, body remained unclaimed in hospital DHA
Author
Mendhar, First Published May 6, 2021, 3:55 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

मेंधार। महामारी में धार्मिक कटुता और द्वेष के इतर सांप्रदायिक सौहार्द की कहानी भी लिखी जा रही है। जहां कोविड के खौफ से लोग अपनों को मरने को छोड़ दे रहे वहीं कुछ ऐसे भी हैं जो जाति-धर्म और महामारी के खौफ से परे मदद के लिए आगे आ रहे। जम्मू-कश्मीर में एक हिंदू महिला का अंतिम संस्कार करने कोई आगे नहीं आया तो एक मुस्लिम ड्राइवर मीर अहमद ने हिंदू रीति-रीवाज से महिला को अंतिम विदाई दी।

दो दिन पहले लावारिस हाल में मिली थी महिला

दो दिन पहले जम्मू-कश्मीर के मेंधार में सड़क के किनारे एक महिला पड़ी हुई थी। सड़क के किनारे पड़ी महिला को सांस के लिए संघर्ष कर रही थी। महिला की हालत को देखकर पुलिस और सिविल सोसाइटी की मदद से अस्पताल पहुंचाया गया। महिला का इलाज शुरू हुआ। डाॅक्टर्स ने बहुत कोशिश की लेकिन महिला को बचाया नहीं जा सका। 

अंतिम संस्कार करने कोई नहीं आया 

बुधवार को महिला ने दम तोड़ दिया। महिला की मौत के बाद उसकी डेड बाॅडी कोई लेने नहीं पहुंचा। महिला के अंतिम संस्कार के लिए मुश्किल खड़ी होने लगी। इसी बीच मुस्लिम समाज से ताल्लुक रखने वाला एंबुलेंस ड्राइवर मीर अहमद आगे आया। उसने अंतिम संस्कार महिला के हिंदू धर्म के अनुसार ही करने की जिम्मेदारी ली। मीर अहमद ने खुद पीपीई किट पहनकर महिला का हिंदू धर्म के अनुसार अंतिम संस्कार किया। 

Read this also:

COVID19 ने पिता को छीना, मां-भाई अस्पताल में, फिर भी सेवा में जुटे हैं डाॅ.मुकुंद

जानिए क्या है मुंबई का शानदार मॉडल, जिससे कोरोना को मिली मात; अब सुप्रीम कोर्ट ने भी की तारीफ

कोरोना से जंग में मदद के लिए फिर आगे रूस, भेज रहा Sputnik वैक्सीन की 1.5 लाख डोज ...

Asianet News का विनम्र अनुरोधः आईए साथ मिलकर कोरोना को हराएं, जिंदगी को जिताएं...। जब भी घर से बाहर निकलें माॅस्क जरूर पहनें, हाथों को सैनिटाइज करते रहें, सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें। वैक्सीन लगवाएं। हमसब मिलकर कोरोना के खिलाफ जंग जीतेंगे और कोविड चेन को तोडेंगे। #ANCares #IndiaFightsCorona

 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios