Asianet News Hindi

Oxygen का News मीटर: जर्मन ऑक्सीजन प्लांट का हुआ उद्घाटन, रोज 4 लाख लीटर ऑक्सीजन का होगा प्रोडक्शन

कोरोना संक्रमण के खिलाफ जारी लड़ाई निर्णायक मोड़ पर पहुंचती जा रही है। कुछ दिन पहले तक देश की स्वास्थ्य व्यवस्थाएं चरमरा गई थीं, लेकिन दुनियाभर की मदद के बाद स्थितियां काबू में आती जा रही हैं। स्वास्थ्य सेवाएं पहले से अधिक बेहतर होती जा रही हैं। कोरोना संकट में भारत के साथ मानों सारे मित्र देश कंधे से कंधा मिलाकर खड़े हुए हैं। स्थानीयस्तर पर औद्योगिक घरानों के अलावा स्वयंसेवी संगठन, तो मदद कर ही रहे हैं, दूसरे देशों से भी ऑक्सीजन, वेंटिलेटर और अन्य मेडिकल सामग्री की मदद मिल रही है। आइए जानते हैं देश और दुनिया की मदद से कैसे बदल रहीं भारत की स्वास्थ्य सेवाएं...

News meter of Oxygen, India is getting help from the country and world in the war against Corona kpa
Author
New Delhi, First Published May 12, 2021, 8:51 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई दिल्ली. कोरोना के खिलाफ लड़ाई में भारत अब अकेला नहीं है। दुनियाभर से मित्र देश लगातार ऑक्सीजन कंसंट्रेटर, टैंकर, वेंटिलेटर, दवाइयां और अन्य मेडिकल इक्विपमेंट्स पहुंचा रहे हैं। इस साम्रगी को जरूरतमंद राज्यों तक पहुंचाने भारत की तीनों सेनाएं युद्धस्तर पर जुटी हैं। रेलवे भी निरंतर लगा हुआ है। भारत के औद्योगिक घराने और स्वयंसेवी संगठन कंधे से कंधा मिलाकर काम कर रहे हैं। इस सामूहिक पहल का परिणाम यह है कि धीरे-धीरे स्वास्थ्य सेवाएं बेहतर होती जा रही हैं।

आइए जानते हैं देश और दुनिया की मदद से कैसे बदल रहीं भारत की स्वास्थ्य सेवाएं..

जर्मनी से आए ऑक्सीजन प्रोडक्शन प्लांट का शुभारंभ हो गया है। सरदार बल्लभ भाई पटेल कोविड अस्पताल दिल्ली में स्थापित किए गए इस प्लांट  से चार लाख लीटर ऑक्सीजन प्रतिदिन प्रोडक्शन हो सकेगा। ऑक्सीजन प्लांट को अस्पताल में इंस्टाल करने के लिए जर्मनी से एक 13 सदस्यीय टेक्निकल और पैरामेडिकल टीम भी आया था। भारत में जर्मनी के राजदूत वाल्टर जे. लिंडनर ने ऑक्सीजन प्लांट का उद्घाटन किया। 

कतर: से मेडिकल ऑक्सीजन कंसाइमेंट लेकर भारत पहुंचा INS तरकश।

दिल्ली: रामलीला मैदान में कोरोना मरीजों के लिए 500 बेड का ICU सेंटर आज से शुरू हो जाएगा।

सोनू सूद की मदद: सूद ने चीन की मदद से ऑक्सीजन कंसंट्रेटर के बाद फ्रांस से ऑक्सीजन प्लांट मंगाए हैं। ये प्लांट 10-12 दिन में भारत आ जाएंगे।

अमेरिका: ऑक्सीजन फॉर इंडिया नामक ग्रुप ने अमेरिका से 407 ऑक्सीजन कंसंट्रेटर भारत भेजे हैं, जिसमें से 8 कंसंट्रेटर KGMU लखनऊ को उपलब्ध हुए हैं। KGMU में एनसथीसिया विभाग के हेड डॉ. जीपी सिंह ने बताया, ''इस ग्रुप का मानना है कि इन कंसंट्रेटर का इस्तेमाल लाइब्रेरी की तरह किया जाए।''

दिल्ली: RSS सेवा भारती ने अशोक विहार फेस- 3 के लक्ष्मीबाई कॉलेज में कोरोना मरीजों के लिए 100 बेड का अस्पताल शुरू किया है। सह विभाग कार्यवाह ने कहा,''हमने 100 बेड की सुविधा उपलब्ध कराई है। हम हल्के लक्षण वाले मरीजों को ले रहे हैं। हमारे पास कंसंट्रेटर और ऑक्सीजन सिलेंडर भी हैं।''

उत्तराखंड: मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने हर्रावाला में रेलवे स्टेशन पर राज्य के विभिन्न स्टेशनों पर ऑक्सीजन एक्सप्रेस के माध्यम से केंद्र सरकार द्वारा भेजी गई 80 मीट्रिक टन ऑक्सीजन भेजी। उन्होंने कहा कि इस ऑक्सीजन को गढ़वाल मंडल और कुमाऊं मंडल में भेजा जाएगा।

दिल्ली: मेडिकल सहायता लेकर दक्षिण कोरिया की एक फ्लाइट दिल्ली एयरपोर्ट पर उतरी।

कोरिया गणराज्य: विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अरिंदम बागची ने बताया कि यहां से 200 आक्सीजन कंसंट्रेटर और मेडिकल इक्विपमेंट की खेप भारत पहुंची है।

यूके: यूके से मिले 200 ऑक्सीजन कंसंट्रेटर लेकर IAF C-130 विमान छत्तीसगढ़ के रायपुर पहुंचा। यह जानकरी रायपुर एयरपोर्ट के निदेशक राकेश रंजन सहाय ने दी।

सेना की मदद: दिल्ली कैंट में भारतीय सेना FOL डिपो दिल्ली में ऑक्सीजन की कमी को दूर करने और वितरित करने के लिए चौबीसों घंटे सहायता प्रदान कर रही है। 505 आर्मी बेस वर्कशॉप तकनीशियनों की टीम ने ऑक्सीजन टैंकरों से ऑक्सीजन को बर्बाद होने से रोकने इस्पात कपलिंगों का निर्माण किया है।

 

Asianet News का विनम्र अनुरोधः आइए साथ मिलकर कोरोना को हराएं, जिंदगी को जिताएं...। जब भी घर से बाहर निकलें माॅस्क जरूर पहनें, हाथों को सैनिटाइज करते रहें, सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें। वैक्सीन लगवाएं। हमसब मिलकर कोरोना के खिलाफ जंग जीतेंगे और कोविड चेन को तोडेंगे। #ANCares #IndiaFightsCorona

 

#COVID19 pic.twitter.com/PdzrTNDQfW

 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios