Asianet News HindiAsianet News Hindi

निर्भया से दरिंदगी करने वाले फांसी से बचने की कर रहे कोशिश, कहा, अब इन दो तरीकों से मौत से बचेंगे

निर्भया के दोषियों को कोर्ट द्वारा भेजे गए नोटिस का जवाब तिहाड़ जेल प्रशासन को दिया गया है। जिसमें दोषियों ने कहा है कि पहले क्यूरेटिव याचिका दायर करेंगे यदि वह खारिज होती है तो दया याचिका दायर करेंगे। 

Nirbhaya scandal Every effort is made to avoid hanging by the culprits kps
Author
New Delhi, First Published Dec 24, 2019, 5:10 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई दिल्ली. फांसी पर चढ़ाए जाने की तमाम अटकलों बीच निर्भया कांड के दोषी लगातार बचने की तमाम कोशिशें कर रहे हैं। इन सब के बीचे पिछले दिनों कोर्ट में दायर याचिका पर हुई सुनवाई के बाद दोषियों के तरफ से कोर्ट को अपना जवाब भेजा गया है। जिसमें निर्भया के वकील एपी सिंह ने कहा कि तीन दोषियों की तरफ से अभी क्यूरेटिव याचिका दाखिल करनी है। दया याचिका दायर तब करेंगे जब क्यूरेटिव याचिका का निपटारा हो जाएगा। 

अंतिम विकल्प पर किया जाएगा विचार 

दोषियों के वकील ने कहा कि कहा कि अगर याचिका खारिज हुई तो अंतिम विकल्प आजमाया जाएगा। गौरतलब है कि कोर्ट के आदेश पर तिहाड़ जेल प्रशासन ने चारों दोषियों को नोटिस जारी किया था। 

डेथ वारंट जारी करने में होगी देरी 

तिहाड़ जेल प्रशासन को दिए इस जवाब के बाद 7 जनवरी को पटियाला हाउस कोर्ट में होने वाली सुनवाई में डेथ वारेंट जारी करना बेहद मुश्किल होगा। क्योंकि फिलहाल सुप्रीम कोर्ट में छुट्टी है और क्यूरेटिव पिटीशन 6 जनवरी के बाद ही लग पाएगी। क्यूरेटिव पिटीशन के खारिज होने के बाद अगर दोषी कहते हैं कि वो दया याचिका लगाना चाहते हैं तो फिर पटियाला हाउस कोर्ट को दया याचिका लगाने के लिए दोषियों को और वक्त देना होगा

कोर्ट ने खारिज की थी याचिका 

निर्भया गैंगरेप के गुनाहगार अक्षय ठाकुर की पुनर्विचार याचिका को सुप्रीम कोर्ट ने खारिज कर दिया था। सुप्रीम कोर्ट ने कहा था कि निर्भया केस में जांच और ट्रायल बिल्कुल सही हुआ है। जबकि दोषियों ने इस पर सवाल उठाए थे। इस मामले में सुनवाई के दौरान अक्षय के वकील ने निर्भया के दोस्त के कथित खुलासे का हवाला दिया था। कोर्ट ने इसे अप्रासंगिक बताया था। 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios