Asianet News HindiAsianet News Hindi

भारत में कोई तीसरा मोर्चा चुनाव नहीं जीत सकता, सिर्फ दूसरा मोर्चा भाजपा को हरा सकता है: प्रशांत किशोर

चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर (Prashant Kishor) ने कहा कि भाजपा को लोकसभा चुनाव 2024 में सिर्फ दूसरा मोर्चा हरा सकता है। कोई तीसरा या चौथा मोर्चा चुनाव नहीं जीत सकता। उन्होंने कांग्रेस को दूसरी सबसे बड़ी पार्टी तो कहा, लेकिन उसे दूसरा मोर्चा मानने से इनकार किया।

No third front can win polls in India only a second front can defeat BJP Prashant Kishor vva
Author
New Delhi, First Published Apr 30, 2022, 3:46 PM IST

नई दिल्ली। चुनावी रणनीतिकार प्रशांत किशोर (Prashant Kishor) ने कहा है कि उन्हें विश्वास नहीं है कि कोई तीसरा या चौथा मोर्चा देश में चुनाव जीत पाएगा। अगर कोई पार्टी भाजपा को हराना चाहती है तो उसे दूसरे मोर्चे के रूप में उभरना होगा। एक न्यूज चैनल को दिए इंटरव्यू में उन्होंने यह बात उस सवाल के जवाब में कहा जिसमें पूछा गया था कि क्या वह पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की पार्टी टीएमसी को 2024 के आम चुनाव में तीसरे मोर्चे के रूप में उभरने में मदद कर रहे हैं।

प्रशांत किशोर ने कहा कि मैंने कभी नहीं माना था कि इस देश में कोई तीसरा या चौथा मोर्चा चुनाव जीत सकता है। अगर हम भाजपा को पहला मोर्चा मानते हैं तो उस पार्टी को हराने के लिए दूसरा मोर्चा होना चाहिए। अगर कोई पार्टी भाजपा को हराना चाहती है तो उसे दूसरे मोर्चे के रूप में उभरना होगा। जब उनसे पूछा गया कि क्या वह कांग्रेस को दूसरा मोर्चा मानते हैं तो उन्होंने कहा कि नहीं। उन्होंने कहा कि कांग्रेस देश की दूसरी सबसे बड़ी पार्टी है, लेकिन वह उसे दूसरा मोर्चा नहीं मानते।

इससे पहले उन्होंने कहा था कि कांग्रेस नेतृत्व और मैं पार्टी की भविष्य की योजना को लेकर कई बातों पर सहमत हुए, लेकिन वे इसे अपने दम पर कर सकते हैं। उनके पास इतने बड़े नेता हैं। उन्हें मेरी जरूरत नहीं है। उन्होंने पार्टी में शामिल होने के लिए पेशकश की, लेकिन मैं इसके लिए तैयार नहीं हुआ।

पार्टी में भूमिका नहीं चाहते प्रशांत किशोर 
प्रशांत किशोर ने कहा कि वह पार्टी में कोई भूमिका नहीं चाहते हैं। वह केवल यह चाहते हैं कि एक बार भविष्य के लिए एक खाका तैयार हो जाए तो इसे लागू किया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि मैं उन्हें जो बताना चाहता था बता दिया। 2014 के बाद पहली बार पार्टी ने अपने भविष्य पर इस तरीके से चर्चा की है, लेकिन मुझे एम्पावर्ड एक्शन ग्रुप के बारे में कुछ संदेह था। वे चाहते थे कि मैं इसका हिस्सा बनूं जो परिवर्तनों को लागू करने का प्रभारी होगा।

यह भी पढ़ें- मुख्यमंत्रियों-जजों के सम्मेलन में PM मोदी-HC-SC के अंग्रेजी फैसले समझना मुश्किल, इन्हें सरल बनाने की जरूरत

भविष्य में भाजपा के खिलाफ कांग्रेस की संभावनाओं पर बोलते हुए उन्होंने कहा कि यह एक बहुत गहरी जड़ें वाली पार्टी है। यह कहना गलत होगा कि उनके पास कोई मौका नहीं है, लेकिन उन्हें कुछ बदलाव करने की जरूरत है। मुझे नहीं पता कि 2024 में पीएम मोदी को कौन चुनौती देगा। राज्य के चुनाव लोकसभा चुनाव की भविष्यवाणी नहीं कर सकते।

यह भी पढ़ें- बिजली संकट के बीच कोल इंडिया ने दी Good News, प्रॉडक्शन 27% बढ़ा, यानी बत्ती नहीं, जल्द टेंशन होगी 'गुल'

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios