Asianet News HindiAsianet News Hindi

सीबीआई के सवालों पर चुप रहे चिदंबरम, जानें कैसे लॉकअप में बीती पूरी एक रात

नई दिल्ली. देश के पूर्व वित्तमंत्री सीबीआई की गिरफ्त में हैं। उनपर INX मीडिया मामले में रिश्वत लेने का आरोप है। दो दिन से इस मामले में नटकीय घटनाक्रम चला। मंगलवार को दिल्ली हाईकोर्ट ने पी चिदंबरम की जमानत याचिका खारिज कर दी थी।

p chidambaram in cbi headquarter
Author
New Delhi, First Published Aug 22, 2019, 1:08 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई दिल्ली. देश के पूर्व वित्तमंत्री सीबीआई की गिरफ्त में हैं। उनपर INX मीडिया मामले में रिश्वत लेने का आरोप है। दो दिन से इस मामले में नटकीय घटनाक्रम चला। मंगलवार को दिल्ली हाईकोर्ट ने पी चिदंबरम की जमानत याचिका खारिज कर दी थी। तब से ही वे लापता थे। इस बीच सीबीआई मंगलवार और बुधवार को उनकी तलाश में दिल्ली स्थित आवास पर पहुंची थी। अचानक से बुधवार रात 8 बजे वह मीडिया के सामने आए। उन्होंने प्रेस कॉन्फ्रेंस की और थोड़ी देर में वहां से चले गए। सीबीआई उनके आवास पर पहुंची। मैन गेट नहीं खोलने पर सीबीआई की टीम दीवार फांदकर अंदर दाखिल हुई और एक घंटे की मशक्कत के बाद हिरासत में ले लिया। 

पूरी रात चुप रहे चिदंबरम

- चिदंबरम को हिरासत में लेकर अधिकारी उन्हें सीबीआई मुख्यालय लेकर आए। उन्हें लॉकअप नंबर पांच में रखा था। उन्होंने काफी कम बातचीत की। इस दौरान उनसे सीबीआई अफसर और डॉक्टर सवाल कर रहे थे, तब भी वह चुप ही रहे। वे कम ही बोले। 
- सीबीआई अफसरों ने जिस लॉकअप रूम में उन्हें रखा था, उसको लेकर जब सवाल पूछा गया कि आप ठीक हैं। तब भी उन्होंने कोई सवाल का जवाब नहीं दिया। 
-चिदंबरम के लॉकअप की निगरानी में 2 सीबीआई अफसर तैनात थे। रूम में सीसीटीवी कैमरा लगा हुआ था, जो कंट्रोल रूम की निगरानी में था। 
- गुरूवार को उनसे पूछताछ होनी है। उन्हें अदालत में पेश किया जाएगा। सीबीआई कोर्ट से न्यायिक हिरासत की मांग कर सकती है। 

क्या है मामला
दरअसल, यूपीए 1 में चिदंबरम वित्तमंत्री थी। इस दौरान एफआईपीबी ने दो एंटरप्राइस को मंजूरी दी। INX मीडिया मामले में सीबीआई ने 15 मई 2017 को एफआईआर दर्ज की। इसमें आरोप लगाया गया  कि वित्तमंत्री रहते चिदंबरम के कार्यकाल के समय साल 2007 में 305 करोड़ रुपये की विदेशी धनराशी प्राप्त करने में एफआईपीबी मंजूरी में अनियमितताएं हुईं। ईडी ने पिछले साल उनपर मनी लॉन्ड्रिंग का मामला दर्ज किया। 
 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios