Asianet News HindiAsianet News Hindi

Birju Maharaj का निधन: PM Modi ने कहा- उनका जाना संपूर्ण कला जगत के लिए एक अपूरणीय क्षति

बिरजू महाराज के निधन पर पीएम मोदी ने ट्वीट करते हुए कहा- भारतीय नृत्य कला को विश्वभर में विशिष्ट पहचान दिलाने वाले पंडित बिरजू महाराज जी के निधन से अत्यंत दुख हुआ है। उनका जाना संपूर्ण कला जगत के लिए एक अपूरणीय क्षति है। 

Pandit Birju Maharaj demise Pm Narendra Modi expresses grief and offers condolences pwt
Author
New Delhi, First Published Jan 17, 2022, 9:19 AM IST

नई दिल्ली. प्रसिद्ध कथक नर्तक पंडित बिरजू महाराज (Birju Maharaj) का हार्ट अटैक से निधन हो गया है। बिरजू महाराज के निधन पर पीएम मोदी (PM modi) समेत देश की कई हस्तियों ने शोक प्रकट किया है। पीएम मोदी ने बिरजू महाराज के साथ एक फोटो शेयर करते हुए उन्हें श्रद्धांजलि दी है। पीएम ने कहा-  उनका जाना संपूर्ण कला जगत के लिए एक अपूरणीय क्षति है। इसके साथ के देश की कई हस्तियों ने ट्वीट कर शोक प्रकट किया है। 

क्या कहा पीएम मोदी ने
बिरजू महाराज के निधन पर पीएम मोदी ने ट्वीट करते हुए कहा- भारतीय नृत्य कला को विश्वभर में विशिष्ट पहचान दिलाने वाले पंडित बिरजू महाराज जी के निधन से अत्यंत दुख हुआ है। उनका जाना संपूर्ण कला जगत के लिए एक अपूरणीय क्षति है। शोक की इस घड़ी में मेरी संवेदनाएं उनके परिजनों और प्रशंसकों के साथ हैं। ओम शांति!

 

सीएम योगी ने किया ट्वीट
उत्तरप्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ ने ट्वीट करते हुए कहा- कथक सम्राट, पद्म विभूषण पंडित बिरजू महाराज जी का निधन अत्यंत दुःखद है। उनका जाना कला जगत की अपूरणीय क्षति है। प्रभु श्री राम से प्रार्थना है कि दिवंगत पुण्यात्मा को अपने श्री चरणों में स्थान व शोकाकुल परिजनों को यह दुःख सहने की शक्ति प्रदान करें। ॐ शांति!


बिरजू महाराज का जन्म 4 फरवरी 1938 को लखनऊ में हुआ था। उनका पूरा नाम पंडित बृजमोहन मिश्र था। लखनऊ घराने से ताल्लुक रखने वाले बिरजू महाराज कथक डांसर होने के साथ ही शास्त्रीय गायक भी थे। कथक नृतक बिरजू महाराज के निधन पर उनकी पोती रागिनी महाराज ने बताया कि पिछले एक महीने से उनका इलाज चल रहा था। बीती रात उन्होंने मेरे हाथों से खाना खाया, मैंने कॉफी भी पिलाई। इसी बीच उन्हें सांस लेने में तक़लीफ हुई हम उन्हें अस्पताल ले गए लेकिन उन्हें बचाया ना जा सका। उन्होंने बताया कि वह गैजेट्स से बहुत प्यार करते थे। वह हमेशा कहते थे अगर वह डांसर नहीं होते तो मैकेनिक होते। मेरे दिमाग में उनकी छवि हमेशा मुस्कुराती रहेगी।

फिल्मों में भी किया था डांस कोरियोग्राफ
बिरजू महाराज ने देवदास, डेढ़ इश्किया, उमराव जान और बाजी राव मस्तानी जैसी फिल्मों के लिए डांस कोरियोग्राफ किया था। इसके अलाव इन्होंने सत्यजीत रे की फिल्म 'शतरंज के खिलाड़ी' में म्यूजिक भी दिया था। बिरजू महाराज को 1983 में पद्म विभूषण से सम्मानित किया गया था। इसके साथ ही इन्हें संगीत नाटक अकादमी पुरस्कार और कालिदास सम्मान भी मिला है। काशी हिन्दू विश्वविद्यालय और खैरागढ़ विश्वविद्यालय ने बिरजू महाराज को डॉक्टरेट की मानद उपाधि भी दी थी।

इसे भी पढ़ें- पंडित Birju Maharaj का निधन: आखिरी बार पोती के हाथ से पी थी कॉपी, कहा था- डांसर नहीं होता तो मैकेनिक बनता

प्रसिद्ध कथक नर्तक पद्म विभूषण बिरजू महाराज का हार्ट अटैक से निधन

 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios