Asianet News HindiAsianet News Hindi

बेरोजगारी पर खड़गे बोले- लाखों युवाओं को है नौकरी की तलाश, पीएम चंद हजार को बांट रहे नियुक्ति पत्र

कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे (Mallikarjun Kharge) ने कहा है कि देश में बेरोजगारी की समस्या विकराल हो गई है। लाखों युवा नौकरी की तलाश कर रहे हैं। प्रधानमंत्री चंद हजार लोगों को नियुक्ति पत्र बांट रहे हैं।
 

PM handing over some thousand appointment letters when millions search for jobs Mallikarjun Kharge vva
Author
First Published Nov 5, 2022, 6:06 PM IST

नई दिल्ली। देश में बेरोजगारी को लेकर कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे (Mallikarjun Kharge) ने शनिवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर हमला बोला। उन्होंने कहा कि आज लाखों युवा नौकरी की तलाश कर रहे हैं। वहीं, पीएम सिर्फ कुछ हजार को नियुक्ति पत्र दे रहे हैं। 

खड़गे ने कहा कि नरेंद्र मोदी ने सत्ता में आने से पहले वादा किया था कि हर साल दो करोड़ युवाओं को नौकरी मिलेगी। उन्हें 10 लाख मौजूदा केंद्र सरकार के रिक्त पदों को भरने के बारे में सोचने में आठ साल लग गए। अब पीएम रोजगार मेला आयोजित कर रहे हैं। उन्होंने दिल्ली में 75,000 लोगों को नियुक्ति पत्र दिया था। इसी तरह गुजरात में 13,000 और जम्मू-कश्मीर में 3,000 लोगों को नियुक्ति पत्र दिए गए। आज जब लाखों युवा नौकरी तलाश रहे हैं पीएम कुछ हजार को नियुक्ति पत्र बांट रहे हैं। 

ग्रामीण इलाकों रिकॉर्ड स्तर पर पहुंची बेरोजगारी
कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि देश के ग्रामीण इलाकों में रिकॉर्ड बेरोजगारी है। सेंटर फॉर मॉनिटरिंग इंडियन इकोनॉमी (सीएमआईई) के अनुसार पिछले 6 साल में औसत ग्रामीण बेरोजगारी 7.02 प्रतिशत है। युवा सरकारी नौकरी पाने के लिए सालों तक इंतजार करने को मजबूर हैं। यह सब इच्छाशक्ति की कमी और भाजपा के झूठे वादों के कारण हुआ है। 

उन्होंने कहा कि बेरोजगारी की स्थिति इतनी गंभीर है कि अग्निपथ योजना के तहत होने वाली 40 हजार भर्ती के लिए 35 लाख आवेदन मिले। उत्तर प्रदेश में कुछ हजार पदों के लिए 37 लाख आवेदन मिले। छोटे पदों के लिए भी पोस्ट-ग्रेजुएट और पीएचडी की पढ़ाई करने वाले युवा आवेदन कर रहे हैं।

यह भी पढ़ें- भाजपा को सुबह नुकसान तो शाम को फायदा.. जयनारायण गए तो कांग्रेस का दामन छोड़ BJP में आए हिमांशु पटेल

खाली हैं 2 लाख पद
खड़गे ने कहा कि तीनों सेनाओं, सीआरपीएफ, केंद्र सरकार के स्कूलों, विश्वविद्यालयों, पुलिस,  स्वास्थ्य संस्थानों, सरकारी कंपनियों और बैंकों समेत सार्वजनिक क्षेत्र में वर्तमान में लाखों पद खाली हैं। सशस्त्र बल और सीआरपीएफ हमारे देश की सुरक्षा के महत्वपूर्ण स्तंभ हैं। इन दोनों में वर्तमान में 2 लाख से अधिक पद खाली हैं।

यह भी पढ़ें- RSS ने तमिलनाडु में रूटमार्च को किया स्थगित, कहा-HC का आदेश स्वीकार नहीं, कश्मीर से केरल तक करते...

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios