Asianet News HindiAsianet News Hindi

कोरोना से जंगः मोदी ने सामाजिक संगठनों से की बात, कहा-गरीबों की सेवा, देश सेवा का सबसे अच्छा तरीका

कोरोना के संक्रमण के चैन को तोड़ने के लिए पीएम मोदी लगातार लोगों से बातचीत कर रहे हैं। सोमवार को पीएम ने भिन्न-भिन्न सोशल वेल्फेयर संगठनों के सदस्यों से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए बात की।

PM Modi interacts with members of various social welfare organisations over COVID-19 kps
Author
New Delhi, First Published Mar 30, 2020, 5:26 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई दिल्ली. कोरोना वायरस से जारी जंग के बीच पीएम मोदी ने खुज मोर्चा संभाला हुई है। पीएम मोदी लगातार प्रत्येक स्थतियों की समीक्षा कर रहे हैं। कोरोना के संक्रमण के चैन को तोड़ने के लिए पीएम मोदी लगातार लोगों से बातचीत कर रहे हैं। इसी क्रम में उन्होंने आज सोमवार को भिन्न-भिन्न सोशल वेल्फेयर संगठनों के सदस्यों से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए बातचीत की।

'गरीबों की सेवा करना राष्ट्र की सेवा करने का सबसे अच्छा तरीका है'

पीएम मोदी ने कहा कि पूरा देश COVID-19 का सामना करने में  धैर्य दिखा रहा है। महात्मा गांधी कहते थे कि गरीबों की सेवा करना राष्ट्र की सेवा करने का सबसे अच्छा तरीका है, उन्होंने मानवता की सेवा करने के लिए सहभागी संगठन के समर्पण की प्रशंसा की थी। 

200 लोगों से रोज बात कर रहें PM  

कोरोना वायरस जिस प्रकार तेजी से पांव पसार रहा है। उससे पार पाने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी हर संभव कोशिश कर रहे हैं। इसी क्रम में कोरोना वायरस के खिलाफ भारत की लड़ाई पर सीधी प्रतिक्रिया प्राप्त करने के लिए पीएम रोजाना 200 से अधिक लोगों के साथ संवाद कर रहे हैं। पीएमओ ने कहा कि प्रधानमंत्री के इस तरह के संवाद में राज्यपालों, मुख्यमंत्रियों और राज्य के स्वास्थ्य मंत्रियों को किये जाने वाले फोन कॉल शामिल हैं। 

प्रोत्साहित करने के लिए पीएम करते हैं ऐसा

पीएमओ की ओर से जारी एक बयान में कहा गया है कि मोदी देश के विभिन्न हिस्सों में डॉक्टरों, नर्सों, स्वास्थ्य कर्मचारियों और स्वच्छता कर्मचारियों से भी फोन के माध्यम से संपर्क करते हैं। मोदी ऐसा ‘‘उन्हें प्रोत्साहित करने और देश एवं समाज के प्रति उनकी सेवा के लिए आभार जताने के लिए करते हैं।’’

भारत में कोरोना की स्थिति 

भारत में कोरोना का संक्रमण बढ़ता जा रहा है। सोमवार को देश के अलग-अलग राज्यों में 4 लोगों की मौत हुई है। जिससे मौत का आंकड़ा 34 तक पहुंच गया है। वहीं, देश के 25 से ज्यादा राज्यों में कोरोना का संक्रमण फैला है जिससे लगभग 1200 मरीज पॉजिटिव मिले हैं। 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios