Asianet News Hindi

पीएम मोदी ने कहा, बड़े पैमाने पर कोरोना वैक्सीन के लिए मोबाइल टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल होगा

प्रधानमंत्री श्री नरेन्‍द्र मोदी ने वीडियो कॉन्‍फ्रेंसिंग के माध्‍यम से वर्चुअल इंडिया मोबाइल कांग्रेस (आईएमसी) 2020 के उद्घाटन सत्र को संबोधित किया। आईएमसी 2020 का विषय समावेशी नवाचार स्मार्ट, सुरक्षित, स्थायी है। इसका उद्देश्य प्रधानमंत्री के आत्मनिर्भर भारत, डिजिटल समावेशिता, एवं सतत विकास, उद्यमिता और नवाचार के विजन को बढ़ावा देने में मदद करना है। पीएम मोदी ने कहा, महामारी के खिलाफ बड़े पैमाने पर टीकाकरण के लिए मोबाइल टेक्नोलॉजी का उपयोग किया जाएगा।
 

PM Modi Mobile technology to be used for COVID-19 vaccination drive kpn
Author
New Delhi, First Published Dec 8, 2020, 5:36 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई दिल्ली. प्रधानमंत्री श्री नरेन्‍द्र मोदी ने वीडियो कॉन्‍फ्रेंसिंग के माध्‍यम से वर्चुअल इंडिया मोबाइल कांग्रेस (आईएमसी) 2020 के उद्घाटन सत्र को संबोधित किया। आईएमसी 2020 का विषय समावेशी नवाचार स्मार्ट, सुरक्षित, स्थायी है। इसका उद्देश्य प्रधानमंत्री के आत्मनिर्भर भारत, डिजिटल समावेशिता, एवं सतत विकास, उद्यमिता और नवाचार के विजन को बढ़ावा देने में मदद करना है। पीएम मोदी ने कहा, महामारी के खिलाफ बड़े पैमाने पर टीकाकरण के लिए मोबाइल टेक्नोलॉजी का उपयोग किया जाएगा।

मोबाइल टेक्नोलॉजी ने महामारी में की मदद
प्रधानमंत्री ने कहा कि मोबाइल टेक्नोलॉजी के कारण हम लाखों भारतीयों को कई बिलियन डॉलर के लाभ प्रदान करने में सक्षम हैं। हम महामारी के दौरान गरीबों और कमजोर लोगों को शीघ्रता से मदद करने में सक्षम रहे और हम लाखों कैशलेस लेनदेन देख रहे हैं जो औपचारिकता तथा पारदर्शिता को प्रोत्साहित करता है। उन्होंने कहा कि हम टोल बूथों पर सहज संपर्क रहित बनाने में सक्षम होंगे।

प्रधानमंत्री ने भारत में मोबाइल बनाने में प्राप्त सफलता पर संतोष व्यक्त किया। उन्होंने कहा कि मोबाइल उत्पादन के लिए भारत एक पसंदीदा स्थान के रूप में उभर रहा है। उन्होंने बताया कि भारत में दूरसंचार उपकरण उत्पादन को प्रोत्साहित करने के लिए उत्पादकता से जुड़ी प्रोत्साहन योजना शुरू की गई। 

उन्होंने कहा कि सरकार का उद्देश्य अगले तीन वर्षों में प्रत्येक गांव में हाई स्पीड की फाइबर ऑप्टिक कनेक्टिविटी देना है। उन्होंने कहा कि इस दिशा में उन स्थानों पर विशेष रूप से फोकस किया जा रहा है जो ऐसी कनेक्टिविटी का सर्वाधिक लाभ उठा सकें- आंकाक्षी जिले, चरम पंथ प्रभावी जिले, पूर्वोत्तर राज्य, लक्ष्यद्वीप आदि। उन्होंने कहा कि निर्धारित लाइन की ब्रॉडबैंड कनेक्टिविटी तथा सार्वजनिक वाई-फाई हॉटस्पॉट का विस्तार सुनिश्चित किया जाएगा। 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios