Asianet News Hindi

PM MODI ने कहा- जम्मू-कश्मीर में चुनी हुई सरकार विकास को देगी ताकत, मतभेद भूलकर राष्ट्र के लिए करें काम

पीएम मोदी ने कहा- मैंने जम्मू-कश्मीर के नेताओं से कहा कि लोगों को, खासकर युवाओं को जम्मू-कश्मीर को राजनीतिक नेतृत्व देना है और यह सुनिश्चित करना है कि उनकी आकांक्षाएं पूरी हों।

PM Modi said- elected government will give strength to development in Jammu and Kashmir pwa
Author
New Delhi, First Published Jun 24, 2021, 9:05 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई दिल्ली. जम्मू-कश्मीर की 14 पार्टियों के लीडर के साथ पीएम मोदी ने आज मीटिंग की। इस बैठक में पूर्व मुख्यमंत्री गुलाम नबी आजाद, फारूक अब्दुल्ला, महबूबा मुफ्ती समेत गुपकार अलायंस के बड़े नेता भी थे। बैठक में पीएम मोदी ने कहा- राजनीतिक मतभेद होंगे लेकिन सभी को राष्ट्रहित में काम करना चाहिए ताकि जम्मू-कश्मीर के लोगों को फायदा हो। उन्होंने जोर देकर कहा कि जम्मू-कश्मीर में सभी के लिए सुरक्षा और सुरक्षा का माहौल सुनिश्चित करने की जरूरत है।

लोकतंत्र को मजबूत करना है
पीएम मोदी ने ट्वीट कर कहा- जम्मू-कश्मीर के पॉलिटिकल लीडर के साथ आज की बैठक एक विकसित और प्रगतिशील जम्मू-कश्मीर की दिशा में चल रहे प्रयासों में एक महत्वपूर्ण कदम है, जहां सर्वांगीण विकास को आगे बढ़ाया गया है। हमारी प्राथमिकता जम्मू-कश्मीर में जमीनी स्तर पर लोकतंत्र को मजबूत करना है। परिसीमन तेज गति से होना चाहिए ताकि चुनाव हो सकें और जम्मू-कश्मीर को एक चुनी हुई सरकार मिले जो जम्मू-कश्मीर के विकास पथ को ताकत दे।

इसे भी पढ़ें- अमित शाह ने कहा- हम कश्मीर के लिए प्रतिबद्ध, संसद में किए गए वादे को पूरा करने के लिए ये बैठक मील का पत्थर

पीएम मोदी ने कहा- हमारे लोकतंत्र की सबसे बड़ी ताकत एक मेज पर बैठने और विचारों का आदान-प्रदान करने की क्षमता है। मैंने जम्मू-कश्मीर के नेताओं से कहा कि लोगों को, खासकर युवाओं को जम्मू-कश्मीर को राजनीतिक नेतृत्व देना है और यह सुनिश्चित करना है कि उनकी आकांक्षाएं पूरी हों।

दिल की दूरी को मिटाना है
बैठक को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने कहा- वह 'दिल्ली की दूरी' और 'दिल की दूरी' को हटाना चाहते हैं। पीएम ने कहा कि जब लोग भ्रष्टाचार मुक्त शासन का अनुभव करते हैं, तो यह लोगों में विश्वास जगाता है और लोग प्रशासन को अपना सहयोग भी देते हैं और यह आज जम्मू-कश्मीर में दिखाई देता है।

पूर्ण राज्य का दर्जा देने की मांग
बैठक में मौजूद सभी नेताओं ने जम्मू-कश्मीर को पूर्ण राज्य का दर्जा देने की मांग की। बता दें कि 5 अगस्त 2019 को जम्मू-कश्मीर से आर्टिकल 370 को समाफ्त करने के साथ ही इसके पूर्ण राज्य का दर्जा छीन लिया गया था। जम्मू-कश्मीर और लद्दाख को अलग-अलग केन्द्र शासित राज्यों में बांट दिया गया था।

 

 

परिसीमन के बाद होंगे चुनाव
बैठक में शामिल नेताओं ने बताया कि जम्मू-कश्मीर में परिसीमन के बाद जल्द ही चुनाव कराए जाएंगे। सभी नेता सामान्य तरीके से चुनाव चाहते हैं। प्रधानमंत्रीजी ने भरोसा दिलाया है कि हम जम्मू-कश्मीर के विकास पर काम करेंगे। प्रधानमंत्रीजी ने कश्मीर को पूर्ण राज्य का दर्जा दिए जाने की मांग पर भी पूरा भरोसा नेताओं को दिलाया है।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios