Asianet News HindiAsianet News Hindi

कोरोना से लड़ने के लिए पीएम मोदी ने 15 हजार करोड़ के पैकेज का ऐलान किया, हेल्थ इंफ्रास्ट्रक्चर होगा मजबूत

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को कोरोना के बढ़ते संकट को देखते हुए देश को संबोधित किया। इस दौरान उन्होंने 21 दिन के लॉकडाउन का ऐलान किया। यह लॉकडाउन आज रात 12 बजे से ही लागू होगा। इसके अलावा पीएम मोदी ने कोरोना से लड़ने के लिए 15 हजार करोड़ रुपए के पैकेज का ऐलान किया।

PM Modi says Rs 15,000 crore allotted for Coronavirus facilities, PPEs, ICUs, Ventilators KPP
Author
New Delhi, First Published Mar 24, 2020, 9:05 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को कोरोना के बढ़ते संकट को देखते हुए देश को संबोधित किया। इस दौरान उन्होंने 21 दिन के लॉकडाउन का ऐलान किया। यह लॉकडाउन आज रात 12 बजे से ही लागू होगा। इसके अलावा पीएम मोदी ने कोरोना से लड़ने के लिए 15 हजार करोड़ रुपए के पैकेज का ऐलान किया।

पीएम मोदी ने कहा, अब कोरोना के मरीजों के इलाज के लिए, देश के हेल्थ इंफ्रास्ट्रक्चर को और मजबूत बनाने के लिए केंद्र सरकार ने आज 15 हजार करोड़ रुपए का प्रावधान किया है।

लॉकडाउन से आगे है जनता कर्फ्यू
पीएम मोदी ने साफ कर दिया कि यह लॉकडाउन कर्फ्यू जैसा ही है। यह लॉकडाउन जनता कर्फ्यू से ज्यादा आगे का है। यह लॉकडाउन 21 दिन तक लागू रहेगा। पीएम मोदी ने कहा, आप अपने आप को, परिवार को, अपने बच्चों को, दोस्तों को सुरक्षित रखने के लिए घर पर रहें। पीएम मोदी ने कहा, अगर हम इस 21 दिन के लॉकडाउन को नहीं मानेंगे तो देश 21 साल पीछे हो जाएगा। 

21 दिन का वक्त अहम 
पीएम ने कहा, आने वाले 21 दिन हमारे लिए बहुत अहम हैं। हेल्थ एक्सपर्ट्स की मानें तो, कोरोना वायरस की संक्रमण सायकिल तोड़ने के लिए कम से कम 21 दिन का समय बहुत अहम है। साथियों आज के फैसले ने देशव्यापी लॉकडाउन ने आपके घर के दरवाजे पर एक लक्ष्मण रेखा खींच दी है। आपको ये याद रखना है कि कई बार कोरोना से संक्रमित व्यक्ति शुरुआत में बिल्कुल स्वस्थ लगता है, वो संक्रमित है इसका पता ही नहीं चलता। इसलिए ऐहतियात बरतिए, अपने घरों में रहिए।

एक एक भारतीय को बचाना मेरी जिम्मेदारी
निश्चित तौर पर इस लॉकडाउन की एक आर्थिक कीमत देश को उठानी पड़ेगी। लेकिन एक-एक भारतीय के जीवन को बचाना इस समय मेरी, भारत सरकार की, देश की हर राज्य सरकार की, हर स्थानीय निकाय की, सबसे बड़ी प्राथमिकता है। मेरी प्रार्थना है कि आप इस समय देश में जहां भी हैं, वहीं रहें। अभी के हालात को देखते हुए, देश में ये लॉकडाउन 21 दिन का होगा। 

'तेजी से फैल रहा संक्रमण'
मोदी ने बताया, सोचिए, पहले एक लाख लोग संक्रमित होने में 67 दिन लगे और फिर इसे 2 लाख लोगों तक पहुंचने में सिर्फ 11 दिन लगे। ये और भी भयावह है कि दो लाख संक्रमित लोगों से तीन लाख लोगों तक ये बीमारी पहुंचने में सिर्फ चार दिन लगे। 

'अफवाहों पर ध्यान ना दें'
पीएम मोदी ने कहा- किसी भी तरह का खिलवाड़, आपके जीवन को और खतरे में डाल सकता है। लेकिन साथियों, ये भी ध्यान रखिए कि ऐसे समय में जाने-अनजाने कई बार अफवाहें भी फैलती हैं। मेरा आपसे आग्रह है कि किसी भी तरह की अफवाह और अंधविश्वास से बचें। 

पीएम ने कहा- मुझे विश्वास है हर भारतीय संकट की इस घड़ी में सरकार के, स्थानीय प्रशासन के निर्देशों का पालन करेगा। 21 दिन का लॉकडाउन, लंबा समय है, लेकिन आपके जीवन की रक्षा के लिए, आपके परिवार की रक्षा के लिए, उतना ही महत्वपूर्ण है। 

कोरोना ने फैलना शुरू किया तो बड़े देशों की हालत काबू से बाहर हो गई
पीएम ने कहा- साथियों यही वजह है कि चीन, अमेरिका, फ्रांस, जर्मनी, स्पेन, इटली-ईरान जैसे देशों में जब कोरोना वायरस ने फैलना शुरू किया, तो हालात बेकाबू हो गए। इस महामारी के उपाय क्या हैं, विकल्प क्या हैं? कोरोना से निपटने के लिए उम्मीद की किरण, उन देशों से मिले अनुभव हैं जो कोरोना को कुछ हद तक नियंत्रित कर पाए। 

जनता कर्फ्यू को सफल बनाने में सभी हकदार
इससे पहले पीएम मोदी ने कहा, मैं एक बार फिर कोरोना को लेकर बात करने के लिए आया हूं। जनता कर्फ्यू में हर भारतवासी ने पूरी जिम्मेदारी के साथ योगदान दिया। बच्चे, बुजुर्ग, गरीब, अमीर, हर वर्ग ने इसका समर्थन किया। हर भारतवासी ने इसे सफल बनाया। एक दिन के जनता कर्फ्यू से भारत ने दिखा दिया, कि जब देश पर संकट आता है, मानवता पर संकट आता है, हम कैसे सभी भारतीय उसका मुकाबला करते हैं। आप सभी जनता कर्फ्यू की सफलता के लिए हकदार हैं। 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios