Asianet News Hindi

'दुनिया संघर्ष कर रही, लेकिन भारत के किसानों ने प्रोडक्शन रिकॉर्ड तोड़ दिया', PM Modi ने क्या-क्या कहा?

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कृषि एवं खाद्य संगठन(FAO) की 75वीं वर्षगांठ के मौके पर वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए 75 रुपए का स्मारक सिक्का जारी किया। साथ ही उन्होंने हाल ही में विकसित 8 फसलों की 17 जैव-संवर्धित किस्मों को भी राष्ट्र को समर्पित किया। उन्होंने कहा, भारत के हमारे किसान साथी- हमारे अन्नदाता, हमारे कृषि वैज्ञानिक, हमारे आंगनबाड़ी-आशा कार्यकर्ता, कुपोषण के खिलाफ आंदोलन का आधार हैं। इन सभी के प्रयासों से ही भारत कोरोना के इस संकटकाल में भी कुपोषण के खिलाफ मजबूत लड़ाई लड़ रहा है।

PM Modi to release commemorative coin of 75 rs denomination to mark FAO 75th anniversary kpn
Author
New Delhi, First Published Oct 16, 2020, 7:35 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कृषि एवं खाद्य संगठन(FAO) की 75 वीं वर्षगांठ पर वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए 75 रुपए का स्मारक सिक्का जारी किया। साथ ही उन्होंने हाल ही में विकसित 8 फसलों की 17 जैव-संवर्धित किस्मों को भी राष्ट्र को समर्पित किया। उन्होंने कहा, भारत के हमारे किसान साथी- हमारे अन्नदाता, हमारे कृषि वैज्ञानिक, हमारे आंगनबाड़ी-आशा कार्यकर्ता, कुपोषण के खिलाफ आंदोलन का आधार हैं। इन सभी के प्रयासों से ही भारत कोरोना के इस संकटकाल में भी कुपोषण के खिलाफ मजबूत लड़ाई लड़ रहा है।

मोदी ने MSP पर कहा- जारी रहना स्वभाविक है 
किसानों को लागत का डेढ़ गुणा दाम MSP के रूप में मिले, इसके लिए अनेक कदम उठाए गए हैं। MSP और सरकारी खरीद, देश की फूड सिक्योरिटी का अहम हिस्सा हैं। इसलिए इनका जारी रहना स्वभाविक है।

भारत में अनाज की बर्बादी बहुत बड़ी समस्या है
पीएम ने कहा, भारत में अनाज की बर्बादी हमेशा से बहुत बड़ी समस्या रही है। अब जब एसेशियल कमोडिटीस एक्ट में संशोधन किया गया है, इससे स्थितियां बदलेंगी। 

किसानों के लिए फॉर्मर प्रोड्यूसर ऑर्गनाइजेशन
उन्होंने कहा, छोटे किसानों को ताकत देने के लिए फॉर्मर प्रोड्यूसर ऑर्गनाइजेशन यानि FPOs का एक बड़ा नेटवर्क देश में तैयार किया जा रहा है।

सरकार 80 करोड़ गरीबों को मुफ्त राशन दे रही
पीएम मोदी ने कहा, बीते कुछ महीनों में पूरे विश्व में कोरोना संकट के दौरान भुखमरी-कुपोषण को लेकर अनेक तरह की चर्चाएं हो रही हैं। बड़े-बड़े एक्सपर्ट्स अपनी चिंताएं जता रहे हैं कि क्या होगा, कैसे होगा? इन चिंताओं के बीच भारत पिछले 7-8 महीनों से लगभग 80 करोड़ गरीबों को मुफ्त राशन उपलब्ध करा रहा है।

आज भारत में निरंतर ऐसे रिफॉर्म्स किए जा रहे हैं जो ग्लोबल फूड सिक्योरिटी के प्रति भारत के कमिटमेंट को दिखाते हैं। खेती और किसान को सशक्त करने से लेकर भारत के पब्लिक डिस्ट्रिब्यूशन सिस्टम तक में एक के बाद एक सुधार किए जा रहे हैं

भारत के किसानों ने प्रोडक्शन रिकॉर्ड तोड़ दिया
उन्होंने कहा, क्या आप जानते हैं कि कोरोना के कारण जहां पूरी दुनिया संघर्ष कर रही है, वहीं भारत के किसानों ने इस बार पिछले साल के प्रोडक्शन के रिकॉर्ड को भी तोड़ दिया? क्या आप जानते हैं कि सरकार ने गेहूं, धान और दालें सभी प्रकार के खाद्यान्न की खरीद के अपने पुराने रिकॉर्ड तोड़ दिए हैं। भारत में पोषण अभियान को ताकत देने वाला एक और अहम कदम आज उठाया गया है। आज गेहूं और धान सहित अनेक फसलों के 17 नए बीजों की वैरायटी, देश के किसानों को उपलब्ध कराई जा रही हैं।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios