नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को देश को संबोधित किया। इस दौरान पीएम मोदी ने कहा, दुनिया के अनेक देशों की तुलना में भारत संभली हुई स्थिति में है। समय पर किए गए लॉकडाउन और अन्य फैसलों ने भारत में लाखों लोगों का जीवन बचाया है। लेकिन जैसे ही अनलॉक हुआ, व्यक्तिगत और सामाजिक व्यवहार में लापरवाही भी बढ़ती ही चली जा रही है। 

पीएम मोदी ने कहा, ये बात सही है कि अगर कोरोना से होने वाली मृत्यु दर को देखें तो दुनिया के अनेक देशों की तुलना में भारत संभली हुई स्थिति में है। पहले हम मास्क को लेकर, दो गज की दूरी को लेकर,  20 सेकेंड तक दिन में कई बार हाथ धोने को लेकर बहुत सतर्क थे। लेकिन अनलॉक में लापरवाही बढ़ती ही चली जा रही है। 

'हमें रोकना होगा, टोकना होगा और समझाना होगा'
पीएम ने कहा, लॉकडाउन के दौरान बहुत गंभीरता से नियमों का पालन किया गया था। अब सरकारों को, स्थानीय निकाय की संस्थाओं को, देश के नागरिकों को, फिर से उसी तरह की सतर्कता दिखाने की जरूरत है। विशेषकर कन्टेनमेंट जोंस पर हमें बहुत ध्यान देना होगा। जो भी लोग नियमों का पालन नहीं कर रहे, हमें उन्हें टोकना होगा,  रोकना होगा और समझाना भी होगा। 

प्रधान हो या पीएम कोई भी नियमों से ऊपर नहीं
प्रधानमंत्री ने कहा, अभी आपने खबरों में देखा होगा कि एक देश के प्रधानमंत्री पर 13 हजार का जुर्माना इसलिए लग गया, क्योंकि वे सार्वजनिक स्थान पर मास्क पहने बिना गए थे। स्थानीय प्रशासन को ऐसी ही चुस्ती से काम करना चाहिए। यह 130 करोड़ भारतीयों की रक्षा का अभियान है। गांव का प्रधान हो या देश का प्रधानमंत्री, कोई भी नियमों से ऊपर नहीं है।

नवंबर तक लोगों को फ्री अनाज मिलेगा
पीएम मोदी ने कहा, त्योहारों का ये समय, जरूरतें भी बढ़ाता है, खर्चे भी बढ़ाता है। इन सभी बातों को ध्यान में रखते हुए ये फैसला लिया गया है कि प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना का विस्तार अब दीवाली और छठ पूजा तक, यानि नवंबर महीने के आखिर तक कर दिया जाए। 

पीएम मोदी ने कहा- प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना के इस विस्तार में  90 हजार करोड़ रुपए से ज्यादा खर्च होंगे। अगर इसमें पिछले तीन महीने का खर्च भी जोड़ दें तो ये  करीब-करीब डेढ़ लाख करोड़ रुपए हो जाता है। अब पूरे भारत के लिए एक राशन-कार्ड की व्यवस्था भी हो रही है। यानि एक राष्ट्र,  एक राशन कार्ड ‘one nation one ration card’से सबसे ज्यादा लाभ उन गरीब साथियों को मिलेगा, जो रोजगार या दूसरी आवश्यकताओं के लिए अपना गांव छोड़कर के कहीं और जाते हैं। 

क्या है पीएम गरीब कल्याण अन्न योजना?
देश में कोरोना वायरस और लॉकडाउन को देखते हुए केंद्र सरकार ने प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना की शुरुआत की थी। इस योजना के तहत सभी राशन कार्ड धारकों को मौजूदा राशन के मुकाबले 2 गुना राशन दिया जा रहा है। यह अतिरिक्त दिए जाने वाला अनाज बिल्कुल फ्री में दिया जा रहा है। इस योजना के तहत कार्ड में अंकित हर सदस्य को 5 किलो गेहूं या चावल दिया जा रहा है। इसके अलावा हर कार्ड पर 1 किलो चना या दाल भी मुफ्त मिल रहा है। 

पीएम मोदी का 6वां संबोधन
भारत में आज अनलॉक का पहला चरण खत्म हो रहा है। 31 जुलाई तक देश में लॉकडाउन बढ़ा दिया गया है। ऐसे में पीएम मोदी एक बार फिर देश की जनता को संबोधित करेंगे। प्रधानमंत्री का कोरोना के दौर में यह 6वां संबोधन है।

- 19 मार्च को पीएम मोदी ने 1 दिन के जनता कर्फ्यू का ऐलान किया था।
- 24 मार्च को अपने संबोधन में 21 दिन के लॉकडाउन की घोषणा की। 
- 03 अप्रैल को पीएम ने अपने तीसरे संबोधन में दीये जलाने की अपील की। 
- 14 अप्रैल को पीएम मोदी ने चौथी बार देश को संबोधित किया। उन्होंने लॉकडाउन-2 का ऐलान किया।
- 12 मई: 20 लाख करोड़ के आर्थिक पैकेज का ऐलान, लॉकडाउन 4.0 की घोषणा।

राहुल गांधी ने दी ये सलाह

 
भारत में कोरोना के 5.6 लाख मामले
भारत में कोरोना वायरस के अब तक 5.6 लाख मामले सामने आ चुके हैं। वहीं, 16919 लोगों की मौत हो चुकी है। भारत में अब तक 3.35 लाख लोग ठीक हो चुके हैं। वहीं, 2.15 लाख लोगों का अभी भी इलाज चल रहा है। भारत में कोरोना से रिकवरी रेट 58% से अधिक है।