Asianet News Hindi

पीएम मोदी ने प्रवासी भारतीय दिवस पर कहा- भारत एक नहीं, बल्कि दो वैक्सीन के साथ मानवता की सुरक्षा के लिए तैयार

पीएम मोदी ने प्रवासी भारतीय दिवस सम्मेलन 2021 को संबोधित किया। पीएम ने कहा, नई पीढ़ी जड़ से भले ही दूर हो गई हो, लेकिन जुड़ाव बढ़ा है। उन्होंने कहा, आप सभी साथियों को हर साल प्रवासी भारतीय सम्मान देने की परंपरा है। अटल बिहारी वाजपेयी जी के मार्गदर्शन में जो यात्रा शुरू हुई उसमें अभी तक 60 अलग-अलग देशों में रहे करीब 240 लोगों को ये सम्मान दिया गया है, इस बार भी इसकी घोषणा की जाएगी। 

PM Narendra Modi at 16th Pravasi Bharatiya Divas convention kpn
Author
New Delhi, First Published Jan 9, 2021, 10:47 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई दिल्ली. पीएम मोदी ने प्रवासी भारतीय दिवस सम्मेलन 2021 को संबोधित किया। पीएम ने कहा, नई पीढ़ी जड़ से भले ही दूर हो गई हो, लेकिन जुड़ाव बढ़ा है। उन्होंने कहा, आप सभी साथियों को हर साल प्रवासी भारतीय सम्मान देने की परंपरा है। अटल बिहारी वाजपेयी जी के मार्गदर्शन में जो यात्रा शुरू हुई उसमें अभी तक 60 अलग-अलग देशों में रहे करीब 240 लोगों को ये सम्मान दिया गया है, इस बार भी इसकी घोषणा की जाएगी। 

इंटरनेट के जरिए जुड़े भारतीय

उन्होंने कहा, "आज हम दुनिया के विभिन्न कोनों से इंटरनेट से जुड़े हुए हैं, लेकिन हमारे मन हमेशा मां भारती ’से जुड़े हुए हैं। पिछले वर्षों में प्रवासी भारतीयों ने अन्य देशों में अपनी पहचान मजबूत की है। दुनियाभर से हजारों साथियों ने भारत को जानिए क्विज कॉम्पीटिशन में हिस्सा लिया है। ये संख्या बताती है कि जड़ से भले दूर हो जाएं, लेकिन नई पीढ़ी का जुड़ाव उतना ही बढ़ रहा है। इस क्विज के 15 विजेता भी आज इस वर्चुअल समारोह से जुड़े हुए है। मैं सभी विजेता को बधाई देता हूं।

भारत, मानवता की सुरक्षा के लिए तैयार

"कोरोना काल में आज भारत दुनिया के सबसे कम मृत्यु दर और सबसे अधिक रिकवरी रेट वाले देशों में है। आज भारत एक नहीं, बल्कि दो मेड इन इंडिया कोरोना वैक्सीन के साथ मानवता की सुरक्षा के लिए तैयार है। दुनियाभर में भारतीय समुदाय के साथ बेहतर कनेक्टिविटी के लिए रिश्ता नाम का नया पोर्टल शुरु किया गया है। इस पोर्टल से मुश्किल समय में अपने समुदाय से संपर्क करना, उन तक पहुंचना आसान होगा।"

भ्रष्टाचार के खात्मे के लिए टेक्नोलॉजी

"जब भारत आतंकवाद के सामने खड़ा हुआ तो दुनिया को भी इस चुनौती से लड़ने का नया साहस मिला। भारत आज भ्रष्टाचार को खत्म करने के लिए टेक्नोलॉजी का ज्यादा इस्तेमाल कर रहा है। लाखों करोड़ों रुपये जो पहले गलत हाथों में पहुंच जाते थे वो आज सीधे लाभार्थी के बैंक खाते में पहुंचे रहे हैं।" 

वैश्विक संस्थाओं ने भारत की तारीफ की

"भारत ने जो नई व्यवस्थाएं विकसित की हैं उनकी कोरोना की इस समय में वैश्विक संस्थाओं ने प्रशंशा की है। आधुनिक टेक्नोलॉजी ने गरीब से गरीब को मजबूत करने का जो अभियान आज भारत में चल रहा है उसकी चर्चा विश्व के हर कोने में है, हर स्तर पर है।" 

पीएम ने बताया, क्या है मिट्टी के संस्कार?

"बीता साल हम सभी के लिए बहुत चुनौतियों का साल रहा है, लेकिन इन चुनौतियों के बीच विश्वभर में फैले भारतीय मूल के साथियों ने जिस तरह काम किया है, अपना फर्ज निभाया है वो हम सभी के लिए गर्व की बात है। यही तो हमारी मिट्टी के संस्कार हैं।"

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios