Asianet News HindiAsianet News Hindi

फरीदाबाद में अमृता हॉस्पिटल के उद्घाटन पर बोले मोदी-भारत एक ऐसा राष्ट्र है, जहां, इलाज एक सेवा है

मोहाली का होमी भाभा कैंसर अस्पताल एवं अनुसंधान केंद्र 660 करोड़ रुपये की लागत से टाटा मेमोरियल सेंटर ने निर्मित किया है। जबकि फरीदाबाद के अमृता अस्पताल का मैनेजमेंट माता अमृतानन्दमयी मठ द्वारा किया जाएगा। यह सुपर स्पेशियलिटी अस्पताल 2600 बिस्तरों का है।

PM Narendra Modi to visit Haryana and Punjab on August 24 kpa
Author
Chandigarh, First Published Aug 24, 2022, 6:17 AM IST

चंडीगढ़. PM मोदी(PM Narendra Modi) आज पंजाब और हरियाणा के दौरे पर रहेंगे। इस दौरान वे देश को दो नए आधुनिक हॉस्पिटल और रिसर्च सेंटर सौंपेंगे। यानी इस दौरान प्रधानमंत्री दो महत्वपूर्ण स्वास्थ्य सुविधाओं का उद्घाटन/लोकार्पण करेंगे। प्रधानमंत्री ने सबसे पहले हरियाणा के फरीदाबाद में अमृता अस्पताल का उद्घाटन किया। उसके बाद प्रधानमंत्री मोहाली पहुंचे जहां मुल्लानपुर में ‘होमी भाभा कैंसर अस्पताल एवं अनुसंधान केंद्र’ का लोकार्पण किया।

मुझे खुशी है कि अमृत काल...
मोदी ने कहा-देश ने एक नई ऊर्जा के साथ आजादी के अमृत काल में प्रवेश किया है। हमारे इस अमृत काल में देश के सामूहिक प्रयास प्रतिष्ठित हो रहे हैं। देश के सामूहिक विचार जाग्रत हो रहे हैं। मुझे खुशी है कि अमृत काल की इस बेला में मां अमृतानंदमयी के आशीर्वाद का अमृत भी देश को मिल रहा है। भारत एक ऐसा राष्ट्र है, जहां, इलाज एक सेवा है, आरोग्य एक दान है। जहां आरोग्य आध्यात्म, दोनों एक दूसरे से जुड़े हुए हैं। हमारे यहां आयुर्विज्ञान एक वेद है। हमने हमारी मेडिकल साइन्स को भी आयुर्वेद का नाम दिया है। हम बार-बार सुनते आए हैं-न त्वहं कामये राज्यं न स्वर्गं नापुनर्भवम्। कामये दुःखतप्तानां प्राणिनामार्तिनाशनम्॥ अर्थात, न हमें राज्य की कामना है, न स्वर्ग के सुख की इच्छा है। हमारी कामना है कि हमें बस दुखियों की, रोगियों की पीड़ा दूर करने का सौभाग्य मिलता रहे।

वैक्सीन को लेकर दुष्प्रचार किया
आप सभी को ध्यान होगा कि जब भारत ने अपनी वैक्सीन बनाई थी, तो कुछ लोगों ने इसका दुष्प्रचार करने की कोशिश की थी। इस दुष्प्रचार की वजह से समाज में कई तरह की अफवाहें फैलने लगी थीं। हमारे धार्मिक और सामाजिक संस्थानों द्वारा शिक्षा-चिकित्सा से जुड़ी जिम्मेदारियों के निर्वहन की ये व्यवस्था एक तरह से पुराने समय का PPP मॉडल ही है। इसे Public Private Partnership तो कहते ही हैं लेकिन मैं इसे ‘परस्पर प्रयास’ के तौर पर भी देखता हूं। लेकिन जब समाज के धर्मगुरु, आध्यात्मिक गुरु एक साथ आए, उन्होंने लोगों को अफवाहों पर ध्यान ना देने को कहा, तो उसका तुरंत असर हुआ। भारत को उस तरह की वैक्सीन hesitancy का सामना नहीं करना पड़ा, जैसा अन्य देशों में देखने को मिला।
इस बार लाल किले से मैंने अमृतकाल के 'पंच प्रणों' का एक विजन देश के सामने रखा है। इन पंच प्रणों में से एक है- गुलामी की मानसिकता का संपूर्ण त्याग। इसकी इस समय देश में खूब चर्चा भी हो रही है। इस मानसिकता का जब हम त्याग करते हैं, तो हमारे कार्यों की दिशा भी बदल जाती है।

हरियाणा को लेकर कही ये बात
फिटनेस और खेल जैसे विषय तो हरियाणा के संस्कारों में ही हैं। इसी तरह, बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ में भी हरियाणा के लोगों ने बेहतरीन काम किया है। तीन वर्ष पहले देश ने जल जीवन मिशन जैसे देशव्यापी अभियान की शुरुआत की थी। इन तीन वर्षों में देश के 7 करोड़ नए ग्रामीण परिवारों को नल से जल पहुंचाया जा चुका है। हरियाणा आज देश के उन अग्रणी राज्यों में है, जहां घर-घर पाइप से पानी की सुविधा से जुड़ चुका है। 

https://t.co/Vlfh2zEaP6

प्रधानमंत्री ने हरियाणा में अमृता अस्पताल का उद्घाटन किया
प्रधानमंत्री द्वारा फरीदाबाद में अमृता अस्पताल के उद्घाटन के साथ ही राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में आधुनिक चिकित्सा इन्फ्रास्ट्रक्चर उपलब्ध हो जाएगा। इस अस्पताल का मैनेजमेंट माता अमृतानन्दमयी मठ द्वारा किया जाएगा। यह सुपर स्पेशियलिटी अस्पताल 2600 बिस्तरों का है। इस अस्पताल की निर्माण लागत करीब 6000 करोड़ रुपए है। इस अस्पताल से फरीदाबाद तथा पूरे राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र के लोगों को बेहतर हेल्थ फेसिलिटीज उपलब्ध होंगी।

प्रधानमंत्री पंजाब में वर्ल्ड क्लास कैंसर अस्पताल
प्रधानमंत्री पंजाब और पड़ोसी राज्यों तथा केंद्र शासित प्रदेशों के निवासियों को वर्ल्ड क्लास कैंसर सुविधा व उपचार उपलब्ध कराने वाले मुल्लानपुर, न्यू चंडीगढ़, साहिबज़ादा अजीत सिंह नगर जिला (मोहाली) स्थित ‘होमी भाभा कैंसर अस्पताल एवं अनुसंधान केंद्र’ का लोकार्पण करेंगे। इस अस्पताल को 660 करोड़ रुपए की लागत से टाटा मेमोरियल सेंटर ने तैयार किया है। यह केंद्र सरकार के परमाणु ऊर्जा विभाग के तहत सहायता-प्राप्त संस्थान है।

यह कैंसर अस्पताल तीसरे स्तर का अस्पताल है। इसमें 300 बिस्तरों की क्षमता है। यह अस्पताल सभी तरह के कैंसर के ट्रीटमेंट के लिए हर आधुनिक सुविधाओं से लैस है। यहां सर्जरी, रेडियोथेरेपी और मेडिकल ऑन्कोलॉजी–कीमोथेरेपी, इम्यूनोथेरेपी और बोन मैरो ट्रांसप्लांट की सुविधा उपलब्ध होगी। यह अस्पताल पूरे क्षेत्र में कैंसर सुविधा और ट्रीटमेंट के लिए एक बेहतर सेंटर के रूप में और संगरूर में 100 बिस्तरों वाला अस्पताल इसकी ब्रांच के रूप में कार्य करेगा।

यह भी पढ़ें
अनंग ताल राष्ट्रीय स्मारक घोषित, दिल्ली के संस्थापक सम्राट ने कराया था निर्माण, मोदी सरकार ने दी पहचान
देश में HIV/AIDS केस में टॉप पर है यह राज्य, इस वजह से राष्ट्रीय औसत से दस गुना है केस

 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios