Asianet News Hindi

33वें दीक्षान्त समारोह में राष्ट्रपति ने कहा- नशे से दूर रहें युवा

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने आज रांची विश्वविद्यालय के 33वें दीक्षान्त समारोह में कहा कि झारखंड देश के 40 प्रतिशत खनिजों से भरा पूरा तो है ही, बल्कि यहां की मानवीय प्रतिभा भी अप्रतिम है, क्योंकि यहीं से परमवीर चक्र विजेता शहीद एल्बर्ट एक्का, क्रिकेट की दुनिया के अनमोल हीरे महेन्द्र सिंह धोनी, हॉकी टीम के कप्तान जयपाल सिंह मुंडा और तीरंदाज दीपिका कुमारी जैसी विश्व प्रतिभाओं ने भी जन्म लिया है।
 

President Ramnath Kovind attended 33th convocation ceremony of Ranchi University
Author
Ranchi, First Published Sep 30, 2019, 4:20 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

रांची(Ranchi). राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने आज रांची विश्वविद्यालय के 33वें दीक्षान्त समारोह में कहा कि झारखंड देश के 40 प्रतिशत खनिजों से भरा पूरा तो है ही, बल्कि यहां की मानवीय प्रतिभा भी अप्रतिम है, क्योंकि यहीं से परमवीर चक्र विजेता शहीद एल्बर्ट एक्का, क्रिकेट की दुनिया के अनमोल हीरे महेन्द्र सिंह धोनी, हॉकी टीम के कप्तान जयपाल सिंह मुंडा और तीरंदाज दीपिका कुमारी जैसी विश्व प्रतिभाओं ने भी जन्म लिया है।

"हमें बिरसा मुंडा के जीवन से प्रेरणा लेनी चाहिए : राष्ट्रपति कोविंद
राष्ट्रपति ने कहा, "हमें बिरसा मुंडा के जीवन से प्रेरणा लेते हुए झारखंड के आदिवासी समाज से भी प्रकृति के साथ सामंजस्य का जीवन जीने के लिए बहुत कुछ सीखना होगा। आदिवासी समाज भलीभांति जानता है कि प्रकृति से मिलजुल कर कैसे अपना जीवन जीया जाता है। इससे न सिर्फ उसकी भलाई होती है, बल्कि प्रकृति का भी संरक्षण और प्रवर्धन होता है। आज के युवा वर्ग को रोजगार देने वाला बनने के साथ समाज के तमाम वर्गों एवं अन्य युवाओं को भी अपने साथ जोड़ने का काम करना चाहिए।"

बेटियों के प्रदर्शन में भारत का भविष्य झलकता है
उन्होंने राज्य की बेटियों की उपलब्धियों का उल्लेख करते हुए कहा कि बेटियों के प्रदर्शन में भारत का भविष्य झलकता है। उन्होंने इस बात को रेखांकित किया कि आज रांची विश्वविद्यालय के दीक्षान्त समारोह में कुल 56 स्वर्ण पदक विजेताओं में 47 बेटियां और सिर्फ नौ बेटे हैं।

किसी भी तरह के व्यसन से दूर रहने की दी सलाह
राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की आगामी 150वीं जयन्ती का उल्लेख करते हुए राष्ट्रपति ने युवाओं का आह्वान किया, "आप किसी भी तरह के व्यसन से दूर रहें और विशेषकर ई-सिगरेट का कतई इस्तेमाल न करें क्योंकि यह स्वास्थ्य के लिए हानिकारक है। इसीलिए वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गनाईजेशन की अनुशंसा पर इस पर पूरे देश में पूर्ण प्रतिबंध लगा दिया गया है।"

राष्ट्रपति ने की राज्य सरकार की तारीफ
राष्ट्रपति ने झारखंड को पिछले तीन वर्ष के भीतर 16 प्रतिशत खुले में शौच से मुक्त 'ओडीएफ' से आगे बढ़कर सौ प्रतिशत तक खुले में शौच से मुक्त बनाने के लिए राज्य सरकार की तारीफ की। राष्ट्रपति ने विश्वविद्यालयों एवं उसके स्टूडेंट्स से अपने क्षेत्र में यूनिवर्सिटी सोशल रिस्पांसिबिलिटी (यूएसआर) का निर्वहन करने की अपील की और कहा कि वह अपने सामाजिक क्षेत्र में ग्रामीणों एवं आदिवासियों से नियमित मुलाकात करें और उन्हें देश और राज्य सरकार की विभिन्न योजनाओं एवं नये अवसरों के बारे में प्रशिक्षित करें।

राष्ट्रपति ने इस अवसर पर सर्वाधिक अंक प्राप्त करने वाले 11 स्टूडेंट्स को गोल्ड मेडल दिए। कार्यक्रम में राज्यपाल और विश्वविद्यालय की कुलाधिपति द्रौपदी मुर्मू, मुख्यमंत्री रघुवर दास तथा कुलपति डा. रमेश पांडेय ने भी स्टूडेंट्स को संबोधित किया।

 

[यह खबर समाचार एजेंसी भाषा की है, एशियानेट हिंदी टीम ने सिर्फ हेडलाइन में बदलाव किया है]

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios