Asianet News Hindi

कोविड समीक्षा मीटिंग में PM की चेतावनी-अगर संक्रमण काबू में नहीं आया, तो नए वेरिएंट्स का खतरा बढ़ेगा

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए तमिलनाडु, आंध्र प्रदेश, कर्नाटक, ओडिशा, महाराष्ट्र, केरल के मुख्यमंत्रियों के साथ राज्यों में कोविड की स्थिति पर चर्चा की। उन्होंने तीसरी लहर को राेकने प्रभावी कदम उठाने पर जोर दिया।

Prime Minister Narendra Modi will hold review meeting with 6 states today kpa
Author
New Delhi, First Published Jul 16, 2021, 9:16 AM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज कोविड 19 पर नियंत्रण पाने की दिशा में विभिन्न सरकारों की ओर से की जा रहीं कोशिशों को जाना। वे वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए तमिलनाडु, आंध्र प्रदेश, कर्नाटक, ओडिशा, महाराष्ट्र, केरल के मुख्यमंत्रियों के साथ राज्यों में कोविड की स्थिति पर चर्चा कर रहे थे। इससे पहले 13 जुलाई को PM ने पूर्वोत्तर के राज्यों असम, नगालैंड, त्रिपुरा, सिक्किम, मणिपुर, मेघालय, अरूणाचल प्रदेश, मिजोरम के मुख्यमंत्रियों से वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये बात की थी। यह मीटिंग ऐसे समय में हो रही है, जब विश्व स्वास्थ्य संगठन ने तीसरी लहर को लेकर दुनियाभर को चेतावनी जारी की है। 

काबू में नहीं कोरोना तो नए वेरिएंट का खतरा
मोदी ने कहा कि विशेषज्ञ बताते हैं कि लंबे समय तक लगातार मामले बढ़ने से कोरोना वायरस में म्यूटेशन की आशंका बढ़ जाती है, नए वेरिएंट का खतरा बढ़ जाता है। इसलिए तीसरी लहर को रोकने के लिए कोरोना के खिलाफ प्रभावी कदम उठाया जाना आवश्यक है।

महाराष्ट्र और केरल का लेकर चिंता
महाराष्ट्र और केरल में लगातार केस बढ़ रहे हैं, यह चिंता का विषय है। हम इस समय एक ऐसे मोड़ पर खड़े हैं, जहां तीसरी लहर की आशंका लगातार जताई जा रही है। कुछ राज्यों में मामलों की बढ़ती हुई संख्या अभी भी चिंताजनक बनी हुई है।

यूपी सरकार की तारीफ
मोदी ने कोरोना संक्रमण रोकने की दिशा में यूपी सरकार की योजना का तारीफ की। उन्होंने कहा कि कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए उत्तर प्रदेश सरकार ने टेस्ट, ट्रेस और ट्रीट की रणनीति पर काम किया। 5.7 करोड़ टेस्ट किए। रोज टेस्टिंग क्षमता 1.5 लाख है। 

पॉजिटिविटी रेट वाले जिलों पर ध्यान दें
प्रधानमंत्री ने कहा कि जिन जिलों में पॉजिटिविटी रेट अधिक है, वहां जो नियम पहले से ही अपनाए जा रहे हैं, उन पर ध्यान दें।  मोदी का आशय माइक्रो कंटेनमेंट जोन पर अधिक ध्यान देने पर था। पिछले हफ़्ते के क़रीब 80% नए मामले आप जिन राज्यों (तमिलनाडु, आंध्र प्रदेश, कर्नाटक, ओडिशा, महाराष्ट्र, केरल) में हैं, उन्हीं राज्यों से आए हैं। महाराष्ट्र और केरल में मामलों में लगातार इज़ाफ़ा देखने को मिल रहा है।

यह भी पढ़ें
पूर्वोत्तर राज्य: PM ने हिल स्टेशनों और बाजार में उमड़ती भीड़ को माना खतरनाक, 16 को फिर 6 राज्यों की समीक्षा
कंट्रोल से बाहर हुआ केरल में कोरोना, 24 घंटे में मिले 15 हजार से अधिक मामले; 1.17 लाख एक्टिव, मौतें भी 128

 

https://t.co/NKHL3Mz0yk

 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios