Asianet News HindiAsianet News Hindi

एक लूट ऐसी भी : कोरोना में फ्लाइट से महंगी एंबुलेंस, 10 किमी दूर जाने के लिए मरीज से मांगे 10 हजार रु

कोरोना महामारी में जहां एक तरफ लोग परेशान हैं, वहीं दूसरी तरफ संक्रमित मरीजों से लूट की भी शिकायत सामने आई है। आरोप लगे हैं कि कोरोना मरीजों से एंबुलेंस ऑपरेटर मनमाना किराया वसूल रहे हैं। हालांकि कई राज्यों ने अधिकतम किराए की सीमा भी तय की है, लेकिन मरीजों से लूट जारी है। 10 किलोमीटर तक की दूरी के लिए 10 हजार रुपए तक वसूले जा रहे हैं।

Private ambulances are taking 10 thousand rupees for 10 km in the corona epidemic kpn
Author
New Delhi, First Published Jul 20, 2020, 1:11 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई दिल्ली. कोरोना महामारी में जहां एक तरफ लोग परेशान हैं, वहीं दूसरी तरफ संक्रमित मरीजों से लूट की भी शिकायत सामने आई है। आरोप लगे हैं कि कोरोना मरीजों से एंबुलेंस ऑपरेटर मनमाना किराया वसूल रहे हैं। हालांकि कई राज्यों ने अधिकतम किराए की सीमा भी तय की है, लेकिन मरीजों से लूट जारी है। 10 किलोमीटर तक की दूरी के लिए 10 हजार रुपए तक वसूले जा रहे हैं।

मुंबई में 10-15 किमी. के लिए 30 हजार रु. 
मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, मुंबई में 10-15 किमी. तक की दूरी के लिए मरीजों से 30 हजार रुपए तक लिए गए। यानी एक किलोमीटर का 3 हजार रुपया। 

महाराष्ट्र सरकार ने दखल देना पड़ा
मनमाना पैसा वसूलने की वजह से महाराष्ट्र सरकार को दखल देना पड़ा। जून के आखिरी हफ्ते में पुणे में एक कोविड मरीज को शहर के भीतर ही 7 किलोमीटर तक के लिए 8 हजार रुपए लिए गए। 

बेंगलुरु में 6 किमी के लिए 15 हजार रुपए
वहीं बेंगलुरु की बात करें तो, यहां एक शख्स से अपनी 54 साल की मां को 6 किमी से भी कम दूरी पर ले जाने के लिए 15 हजार रुपए लिए गए। कोलकाता में तो कोरोना मरीजों को 5 किमी तक जाने के लिए 6 हजार से 8 हजार रुपए लिए गए। 

पीपीई किट के अलग से 3 हजार रुपए लिए
एंबुलेंस के अलावा पीपीई किट के अलग से भी पैसे लेने के आरोप लगे। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, प्राइवेट एंबुलेंस ने पीपीई किट के अलग से पैसे लिए। हैदराबाद में एक शख्स ने अपने चाचा को निजामपेट के एक हॉस्पिटल से 20 किमी दूर सिकंदराबाद के गांधी अस्पताल तक ले जाने के लिए एक प्राइवेट ऑपरेटर ने 11 हजार रुपए लिए। 

एंबुलेंस की कमी का उठा रहे हैं फायदा
विश्व स्वास्थ्य संगठन के मानक के मुताबिक, प्रति 1 लाख लोगों पर कम से कम 1 एंबुलेंस होनी चाहिए। बेंगलुरु में 1.4 लाख लोगों पर एक एंबुलेंस है। 

उत्तर प्रदेश में भी बढ़ा एंबुलेंस का किराया
मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, झारखंड और उत्तर प्रदेश में एंबुलेंस ऑपरेटर प्रति किलोमीटर 10 रुपए लेते थे, लेकिन अब 13 रुपए लेते हैं। बिहार में एंबुलेंस ऑपरेटर्स ने सामान्य किराया 5 गुना से 10 गुना तक बढ़ा दिया। बिहार के हेल्थ एक्टिविस्ट मुकेश हिसारिया ने भी एंबुलेंस पर मनमाना पैसा वसूलने का आरोप लगाया। 

पश्चिम बंगाल में 300 किमी के लिए 1.4 लाख रुपए लिए
पश्चिम बंगाल में तो एक शख्स से आरोप लगाया कि कोरोना मरीज को दुर्गापुर से गया तक करीब 300 किमी की दूरी के लिए 1.4 लाख रुपए देने पड़े। हालांकि शिकायत के बाद मरीज को 1 लाख रुपए लौटाए गए।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios