Asianet News HindiAsianet News Hindi

राजस्थान पर एक्टिव हुआ एंटीसाइक्लोन, मानसून की वापसी के संकेत, कुछ राज्यों में भारी बारिश का अलर्ट

भारत मौसम विज्ञान विभाग (IMD) ने कहा है कि राजस्थान पर एक प्रतिचक्रवात(anticyclone) बन रहा है, जिससे उत्तर पश्चिमी भारत के कुछ और हिस्सों और मध्य भारत के आसपास के हिस्सों से दक्षिण-पश्चिम मानसून की वापसी के लिए स्थितियां अब अनुकूल होती जा रही हैं।

Return of Southwest Monsoon, Meteorological Department forecast and heavy rain alert kpa
Author
First Published Sep 28, 2022, 10:16 AM IST

मौसम डेस्क. दक्षिण-पश्चिम मानसून(south west monsoon) लौटने को तैयार है। भारत मौसम विज्ञान विभाग (IMD) ने कहा है कि राजस्थान पर एक प्रतिचक्रवात(anticyclone) बन रहा है, जिससे उत्तर पश्चिमी भारत के कुछ और हिस्सों और मध्य भारत के आसपास के हिस्सों से दक्षिण-पश्चिम मानसून की वापसी के लिए स्थितियां अब अनुकूल होती जा रही हैं। इस बीच भारत मौसम विज्ञान विभाग (IMD) ने आजकल में  विदर्भ, मराठवाड़ा और उत्तरी तेलंगाना में हल्की से मध्यम बारिश के साथ एक या दो स्थानों पर भारी बारिश की चेतावनी दी है।

इन राज्यों में भी बारिश का अलर्ट
मौसम विभाग ने कहा है कि पूर्वोत्तर भारत, गंगीय पश्चिम बंगाल, ओडिशा के कुछ हिस्सों, झारखंड, छत्तीसगढ़, पूर्वी मध्य प्रदेश, तेलंगाना, आंध्र प्रदेश, तमिलनाडु, दक्षिण आंतरिक कर्नाटक और अंडमान और निकोबार द्वीप समूह में हल्की से मध्यम बारिश संभव है। बिहार, झारखंड, उप-हिमालयी पश्चिम बंगाल, मध्य प्रदेश के कुछ हिस्सों, कोंकण और गोवा, गुजरात, केरल, लक्षद्वीप, उत्तरी आंतरिक कर्नाटक और उत्तराखंड और उत्तर प्रदेश में एक या दो स्थानों पर हल्की बारिश संभव है।

दिल्ली: यमुना में बाढ़ से निचले इलाकों में बाढ़; सैकड़ों लोगों को निकाला गया
दिल्ली में नदी किनारे के निचले इलाकों में मंगलवार को यमुना में पानी भर गया, जिससे सैकड़ों लोगों को बाहर निकालना पड़ा और पुराने यमुना पुल पर रेल यातायात रोक दिया गया। मंगलवार शाम 7 बजे तक नदी का जलस्तर 206.38 मीटर तक पहुंच गया, जो खतरे के निशान 205.33 मीटर से काफी ऊपर है और अगस्त 2019 के बाद से सबसे ज्यादा है। दिल्ली में नदी के पास के निचले इलाकों को बाढ़ की चपेट में माना जाता है और लगभग 37,000 लोगों का घर है। एक सीनियर अधिकारी ने कहा, "ज्यादातर लोगों को सामुदायिक केंद्रों, स्कूलों और अस्थायी टेंटों में भेजा गया है। किसी को खतरा नहीं है।"

Return of Southwest Monsoon, Meteorological Department forecast and heavy rain alert kpa

नदी ने पिछले कुछ दिनों में ऊपरी जलग्रहण क्षेत्रों में भारी बारिश के बाद सोमवार रात दिल्ली में खतरे के निशान 205.33 मीटर और मंगलवार की सुबह 206 मीटर के खतरे के निशान को पार कर लिया है। पूर्वी दिल्ली के कलेक्टर अनिल बांका ने कहा कि मंगलवार सुबह लोगों को निकालने का अलर्ट जारी किया गया था। उन्होंने कहा, "नदी के किनारे के निचले इलाकों में रहने वाले करीब 12,000 लोग ऊंचे इलाकों में चले गए हैं। सरकारी स्कूलों और आसपास के इलाकों में रैन बसेरों में उनके ठहरने की व्यवस्था की गई है।"

Return of Southwest Monsoon, Meteorological Department forecast and heavy rain alert kpa

यमुना ने 12 अगस्त को 205.33 मीटर के खतरे के निशान को पार कर लिया था, जिसके बाद लगभग 7,000 लोगों को नदी के किनारे के निचले इलाकों से निकाला गया था। 13 अगस्त को नदी का जलस्तर घटने से पहले जलस्तर 205.99 मीटर तक पहुंच गया था। यमुना नदी सिस्टम के जलग्रहण क्षेत्र में उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, हिमाचल प्रदेश, हरियाणा, राजस्थान, मध्य प्रदेश और दिल्ली के कुछ हिस्से शामिल हैं। पिछले साल, यमुना 30 जुलाई को खतरे के निशान को पार कर गई थी और पुराने रेलवे ब्रिज पर जल स्तर बढ़कर 205.59 मीटर हो गया था।2019 में, 18-19 अगस्त को प्रवाह दर 8.28 लाख क्यूसेक पर पहुंच गई थी, और नदी में जल स्तर 206.60 मीटर के निशान तक पहुंच गया था। 1978 में, नदी 207.49 मीटर के सर्वकालिक रिकॉर्ड जल स्तर तक बढ़ गई थी। 2013 में यह बढ़कर 207.32 मीटर हो गया था।

दिल्ली में मौसम का मिजाज
दिल्ली में मंगलवार को धूप खिली रही और पारा 33.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। हालांकि, इससे पहले दिन में मौसम विभाग ने दिन में आसमान में आंशिक रूप से बादल छाए रहने की संभावना जताई थी। भारत मौसम विज्ञान विभाग (IMD) के अनुसार, शाम को सापेक्ष आर्द्रता 62 प्रतिशत दर्ज की गई, जबकि सुबह 8.30 बजे यह 90 प्रतिशत दर्ज की गई। राष्ट्रीय राजधानी में सुबह का न्यूनतम तापमान सामान्य से एक डिग्री कम 22.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। सोमवार को न्यूनतम तापमान 22.7 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया, जबकि अधिकतम तापमान सामान्य से एक डिग्री अधिक 33.4 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। आईएमडी के अनुसार, आमतौर पर बादल छाए रहने और हल्की बारिश के साथ बुधवार को न्यूनतम और अधिकतम तापमान क्रमश: 23 डिग्री सेल्सियस और 35 डिग्री सेल्सियस रहने की संभावना है। केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (सीपीसीबी) के आंकड़ों से पता चलता है कि दिल्ली का वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआई) रात करीब नौ बजे 'मध्यम' (110) श्रेणी में दर्ज किया गया। बता दें कि शून्य से 50 के बीच एक्यूआई अच्छा माना जाता है, 51 और 100 संतोषजनक, 101 और 200 मध्यम, 201 और 300 खराब, 301 और 400 बहुत खराब, और 401 और 500 गंभीर। 

Return of Southwest Monsoon, Meteorological Department forecast and heavy rain alert kpa

बीते दिन इन राज्यों में हुई बारिश
स्काईमेट वेदर(skymet weather) के अनुसार, बीते दिन पूर्वी मध्य प्रदेश और असम के कुछ हिस्सों में हल्की से मध्यम बारिश के साथ कुछ स्थानों पर भारी बारिश हुई। तेलंगाना, मराठवाड़ा, तमिलनाडु के गुजरात भागों, तटीय आंध्र प्रदेश, अंडमान और निकोबार द्वीप समूह और मेघालय में हल्की से मध्यम बारिश हुई। पश्चिम बंगाल, सिक्किम, बिहार, झारखंड, ओडिशा, छत्तीसगढ़, पूर्वी मध्य प्रदेश, दक्षिण आंतरिक कर्नाटक, कोंकण और गोवा, आंतरिक कर्नाटक, लक्षद्वीप, उत्तर प्रदेश के कुछ हिस्सों और राजस्थान में एक या दो स्थानों पर हल्की बारिश हुई।

यह भी पढ़ें-
मुफ्त अनाज योजना दिसंबर तक रहेगा जारी! 3 महीने के एक्सटेंशन को मंत्रालय ने मांगी अनुमति
Monsoon Activities:आजकल में कहीं भी भारी बारिश का अलर्ट नहीं, ओडिशा में झमाझम बारिश से होगी अक्टूबर की शुरुआत

 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios