Asianet News HindiAsianet News Hindi

कभी दामाद के तौर नारायण मूर्ति को कबूल नहीं थे ऋषि सुनक, ऐसी रही है अक्षता के साथ उनकी लव स्टोरी

भारतीय मूल के ऋषि सुनक ब्रिटेन के नए प्रधानमंत्री बन गए हैं। सुनक ने मंगलवार को बकिंघम पैलेस में किंग चार्ल्स से मुलाकात की। चार्ल्स ने उन्हें अपॉइंटमेंट लेटर सौंपा और नई सरकार बनाने को कहा। बता दें कि  42 साल के ऋषि सुनक इन्फोसिस के फाउंउर नारायण मूर्ति के दामाद हैं। हालांकि, एक वक्त ऐसा भी था जब दामाद के रूप में नारायण मूर्ति ऋषि सुनक को पसंद नहीं करते थे। 

Rishi Sunak did not accept Narayan Murthy as son in law kpg
Author
First Published Oct 25, 2022, 7:04 PM IST

Rishi Sunak: भारतीय मूल के ऋषि सुनक ब्रिटेन के नए प्रधानमंत्री बन गए हैं। सुनक ने मंगलवार को बकिंघम पैलेस में किंग चार्ल्स से मुलाकात की। चार्ल्स ने उन्हें अपॉइंटमेंट लेटर सौंपा और नई सरकार बनाने को कहा। बकिंघम पैलेस से ऋषि प्राइम मिनिस्टर की ऑफिशियल कार से ऑफिशियल रेसिडेंस 10 डाउनिंग स्ट्रीट पहुंचे। यहां उन्होंने बतौर प्रधानमंत्री देश के नाम पहला संबोधन दिया। बता दें कि 42 साल के ऋषि सुनक इन्फोसिस के फाउंउर नारायण मूर्ति के दामाद हैं। हालांकि, एक वक्त ऐसा भी था जब दामाद के रूप में नारायण मूर्ति ऋषि सुनक को पसंद नहीं करते थे। 

बेटी अक्षत को लेकर बेहद पजेसिव थे नारायण मूर्ति : 
इन्फोसिस के नारायण मूर्ति ने खुद एक इंटरव्‍यू में बताया था कि पहली बार जब उनकी बेटी अक्षता ने ऋषि के बारे में बताया तो उन्‍हें काफी बुरा लगा। बेटी के लिए वो बहुत पजेसिव थे। हालांकि, जब वो ऋषि से मिले तो उनकी सोच बदल गई। उन्‍हें अहसास हुआ कि उनका होने वाला दामाद बेहद ईमानदार, तेज तर्रार और हैंडसम है। 

ऐसे हुई थी ऋषि-अक्षता की पहली मुलाकात : 
ऋषि सुनक जब स्टैनफोर्ड यूनिवर्सिटी में MBA की पढ़ाई कर रहे थे, तभी उनकी मुलाकात इन्फोसिस के को-फाउंडर नारायण मूर्ति की बेटी अक्षता से हुई थी। अक्षता एक फैशन डिजाइनर हैं और वो भी पढ़ाई के लिए अमेरिका गई थीं। कहते हैं कि एक कॉफी शॉप के बाहर पहली बार दोनों ने कई घंटे बिताए और यहीं से दोनों रिलेशनशिप में आ गए।

दो बेटियों के पिता हैं ऋषि सुनक : 
करीब 3 साल तक रिलेशनशिप में रहने के बाद ऋशि सुनक और अक्षता ने घर बसाने की सोची। इसके बाद दोनों ने 2009 में शादी कर ली। इनकी शादी बेंगलुरू में दो दिनों तक चली। शादी के बाद दोनों कुछ दिन अमेरिका के कैलिफोर्निया में रहे और बाद में यार्कशायर आ गए। ऋषि सुनक और अक्षता दो बेटियों कृष्णा और अनुष्का के पिता हैं।

ऐसा रहा सुनक का पॉलिटिकल करियर : 
42 साल के ऋषि सुनक अक्टूबर, 2014 में पहली बार सांसद बने। वो नॉर्थ यॉर्कशायर में रिचमंड (यार्क) से संसद सदस्य हैं। ब्रिटेन की प्रधानमंत्री रहीं थेरेसा मे की कैबिनेट में ऋषि ने जूनियर मिनिस्टर के तौर पर काम किया। कंजर्वेटिव पार्टी में उनके काम की तारीफ भी होने लगी। 2017 के चुनाव में वो एक बार फिर बहुमत के साथ चुने गए। 2019 से 2020 तक वो ट्रेजरी के मुख्य सचिव भी रहे। बता दें कि 2020 में ब्रिटेन की एक फर्म ने सर्वे करवाया था, जिसमें वहां की 60% जनता ने सुनक को पीएम पद के लिए अपना फेवरेट कैंडिडेट बताया था। 

तीन भाई-बहनों में सबसे बड़े हैं ऋषि सुनक : 
ऋषि सुनक के माता-पिता भारतीय मूल के हैं। हालांकि, उनका जन्म 12 मई 1980 को इंग्लैंड के साउथम्पैटन में हुआ था। ऋषि सुनक के पिता डॉक्टर हैं, जबकि मां मेडिकल चलाती थीं। ऋषि अपने तीन भाई बहनों में सबसे बड़े हैं। ऋषि सुनक के दादा-दादी का जन्म पंजाब प्रांत (ब्रिटिश इंडिया) में हुआ था लेकिन 60 के दशक में वो अपने बच्चों के साथ ब्रिटेन में आकर बस गए थे। शवीर सुनक ब्रिटेन की नेशनल हेल्‍थ सर्विस के साथ जनरल प्रैक्टिशनर थे तो मां फार्मेसी का काम करती थीं।

ये भी देखें : 

ऋषि सुनक ही नहीं, दुनियाभर में है इन 15 भारतवंशियों की धाक; कोई राष्ट्रपति तो कोई मल्टीनेशनल कंपनी का CEO

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios