श्रीनगर. जम्म-कश्मीर के राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने कांग्रेस नेता राहुल गांधी की उस मांग को ठुकरा दिया है, जिसमें उन्होंने विपक्षी नेताओं के एक प्रतिनिधिमंडल को घाटी का दौरा करने की इजाजत मांगी थी। जम्म-कश्मीर राजभवन की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि विपक्षी पार्टी के नेताओं के दौरे से समस्याएं बढ़ेंगी। इससे स्थानीय लोगों को भी परेशानी का सामना करना पड़ेगा।

इससे पहले राहुल ने आरोप लगाया था कि घाटी से हिंसक घटनाओं की खबरें आ रही हैं। पीएम मोदी को इस मामले को पारदर्शिता और शांति से देखना चाहिए। इस पर राज्यपाल ने कहा था, ''मैंने राहुल गांधी को जम्मू-कश्मीर आने के लिए आमंत्रण दिया है। मैं उनके लिए एयरक्राफ्ट भेजूंगा ताकि वे कश्मीर आकर यहां के जमीनी हालात देख सकें।

राहुल ने दिया जवाब
राहुल ने ट्वीट किया था, मैं विपक्षी नेताओं के एक प्रतिनिधिमंडल के साथ जम्मू-कश्मीर और लद्दाख आने के आपके निमंत्रण को स्वीकार करता हूं। हमें एयरक्राफ्ट की जरूरत नहीं है। बस हमें वहां जनता, विपक्षी नेताओं और हमारे जवानों से मिलने की आजादी दीजिए।