Asianet News Hindi

वैक्सीनेशन के लिए साथ आए सीरम इंस्टीट्यूट और भारत बायोटेक, कहा- जिंदगी बचाना सबसे जरूरी काम

अदर पूनावाला ने पिछले दिनों भारत बायोटेक की कोवैक्सीन पर सवाए उठाए थे। उन्होंने वैक्सीन को मंजूरी मिलने पर भी आपत्ति जताई थी। इसे लेकर भारत बायोटेक ने भी कोविशील्ड को लेकर कड़ी आपत्ति जताई थी। 

Serum Institute Bharat Biotech jointly pledge for smooth roll out of COVID-19 vaccines KPP
Author
New Delhi, First Published Jan 5, 2021, 4:09 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई दिल्ली. ड्रग्स कंट्रोलर जनरल ऑफ इंडिया यानी DCGI से इमरजेंसी अप्रूवल मिलने के एक दिन बाद ही सीरम इंस्टीट्यूट और भारत बायोटेक ने देश और दुनिया में सुचारू रूप से वैक्सीनेशन के लिए साथ आने की बाद कही है। सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया और भारत बायोटेक ने साझा बयान जारी किया है। इसमें कहा गया है कि कंपनियों का मुख्य उद्देश्य देश और दुनिया में जिंदगियों को बचाने का है। इस बयान के साथ सीरम और भारत बायोटेक में आपसी तकरार भी खत्म होती नजर आ रही है।

दरअसल, अदर पूनावाला ने पिछले दिनों भारत बायोटेक की कोवैक्सीन पर सवाए उठाए थे। उन्होंने वैक्सीन को मंजूरी मिलने पर भी आपत्ति जताई थी। इसे लेकर भारत बायोटेक ने भी कोविशील्ड को लेकर कड़ी आपत्ति जताई थी। 

ये भी पढ़ें:  असर से कीमत तक, जानिए कोविशील्ड और कोवैक्सीन के बारे में सब कुछ, जिन्हें मिली इस्तेमाल की मंजूरी

वैक्सीन में जीवन बचाने की शक्ति
लेकिन अब इस विवाद को खत्म करते हुए सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया के सीईओ अदर पूनावाला और भारत बायोटेक के चेयरमैन डॉ कृष्णा इल्ला ने साझा बयान में कहा, देश और दुनिया में सबसे अहम काम लोगों के जीवन और उनकी जीविका को बचाने का है। बयान में कंपनियों ने कहा, वैक्सीन वैश्विक हैं, और सार्वजनिक स्वास्थ्य के लिए अच्छी हैं और इनमें जीवन को बचाने और जल्द से जल्द आर्थिक स्थिति को बेहतर करने की शक्ति है। 

ये भी पढ़ें: कोरोना वैक्सीन को लेकर सबसे बड़ी खबर, भारत में दो वैक्सीन को मिली इमरजेंसी इस्तेमाल की मंजूरी
 
कंपनियों ने कहा, दोनों वैक्सीनों को भारत में  इमरजेंसी अप्रूवल मिल गया है। अब कंपनियों का फोकस, विनिर्माण, आपूर्ति और वितरण पर है। ताकि जनता को उच्च गुणवत्ता, सुरक्षित और प्रभावकारी वैक्सीन मिल सके। 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios