Asianet News HindiAsianet News Hindi

कोरोना: कर्फ्यू और लॉकडाउन के दौरान किचन में राशन की कमी न आए, इसके लिए सरकार ने उठाया बड़ा कदम

कोरोना वायरस की वजह से 16 से अधिक राज्यों में लॉकडाउन किया गया है। पंजाब और महाराष्ट्र सहित मध्य प्रदेश के कई शहरों में लॉकडाउन फेल होने पर कर्फ्यू लगाने की नौबत आ गई। लोगों को घर के अंदर ही रहना पड़ा है।  

shortage of ration you can borrow ration from FCI for 3 months kpn
Author
New Delhi, First Published Mar 24, 2020, 4:51 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई दिल्ली. कोरोना वायरस की वजह से 16 से अधिक राज्यों में लॉकडाउन किया गया है। पंजाब और महाराष्ट्र सहित मध्य प्रदेश के कई शहरों में लॉकडाउन फेल होने पर कर्फ्यू लगाने की नौबत आ गई। लोगों को घर के अंदर ही रहना पड़ा है। ऐसे में राशन की कमी न आए, इससे निपटने के लिए सरकार ने बड़ा फैसला किया है। केंद्र ने खाद्य निगम (FCI) के गोदामों से तीन महीने का राशन उधार लेने की अनुमति दी है। इसका मतलब है कि अब राशन की दुकानें (PSD) तीन महीने के लिए खाद्य निगम (FCI) से उधार में अनाज ले सकते हैं। उत्तर प्रदेश, राजस्थान, कर्नाटक, दिल्ली, पंजाब, पश्चिम बंगाल और कई अन्य राज्यों ने COVID-19 संकट के मद्देनजर गरीबों के लिए अगले कुछ महीनों के लिए मुफ्त राशन वितरित करने का फैसला किया है।

सार्वजनिक वितरण प्रणाली (PSD) के तहत 75 करोड़ लाभार्थी 
सार्वजनिक वितरण प्रणाली (PDS) के तहत 75 करोड़ लाभार्थी आते हैं। वित्त मंत्री ने कहा, जनता को अनाज की पर्याप्त आपूर्ति सुनिश्चित करने और राज्य सरकारों को वित्तीय सहायता देने के लिए व्यय विभाग, खाद्य और सार्वजनिक वितरण विभाग के प्रस्ताव से सहमत हैं। FCI से तीन महीने के लिए फ्री में अनाज उधार पर ले जा सकते हैं। सरकारी आंकड़ों के मुताबिक, सरकार के पास 435 लाख टन अनाज के भंडार हैं। इसमें 272 लाख टन चावल और 162 लाख टन गेहूं है।

कस्टमर क्लियरेंस की सुविधा 24 घंटे की गई
वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा, लॉकडाउन के दौरान हम यह नहीं चाहते कि इंपोर्टर और एक्सपोर्टर के बीच कोई दिक्कत हो। इसलिए 30 जून तक कस्टमर क्लियरेंस की सुविधा भी 24 घंटे कर दी गई है। उन्होंने कहा, 5 करोड़ रुपए से कम टर्नओवर वाली कंपनियों को लेट जीएसटी फाइलिंग पर कोई ब्याज, पेनाल्टी और लेट फीस नहीं। मार्च-अप्रैल-मई में फाइलिंग की तारीख 30 जून तक बढ़ाई गई।

भारत में कोरोना की स्थिति 
भारत में कोरोना के 528 मामले सामने आ चुके हैं। संक्रमण से मरने वालों की संख्या अब 10 हो गई है। कोरोना वायरस का कहर सबसे ज्यादा महाराष्ट्र में हैं। जहां 97 मरीज अब तक संक्रमित हैं। जबकि केरल में भी मरीजों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। यहां अब तक 95 पॉजिटिव केस पाए गए हैं। हैरानी वाली बात यह है कि तमाम कवायदों के बाद भी 24 घंटे में 100 से अधिक मरीज सामने आए हैं।

पाकिस्तान सहित भारत के पड़ोसी देशों में कोरोना की स्थिति 
पाकिस्तान की हालत भारत से ज्यादा खराब है। यहां 875 मामले सामने आ चुके हैं। 6 लोगों की मौत हो चुकी है। नेपाल में सिर्फ 2 मामले सामने आए हैं। हालांकि किसी की मौत की नहीं हुई है। बाग्लादेश में कोरोना के 33 मामले सामने आ चुके हैं। इस खतरनाक वायरस से 3 लोगों की मौत हो चुकी है। भूटान में कोरोना के सिर्फ 2 मामले सामने आए हैं। वायरस से किसी की मौत नहीं हुई। अफगानिस्तान में कोरोना के 42 मामले सामने आ चुके हैं। इससे 1 की मौत हो चुकी है। श्रीलंका में कोरोना के 97 केस सामने आ चुके हैं। हालांकि किसी की मौत नहीं हुई है।

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios