Asianet News HindiAsianet News Hindi

Southern Zonal Council meeting: गृहमंत्री Amit Shah ने की अध्यक्षता, 51 लंबित मामलों में से 40 पर बनी सहमति

शाह ने कहा कि गृह मंत्रालय का यह प्रयास है हर साल स्थायी समिति की कम-से-कम 10 बैठक आयोजित की जाएं, क्योंकि स्थायी समिति की बैठक न केवल एजेंडा निर्धारण करती है बल्कि बहुत सारे मुद्दों का स्थायी समिति स्तर पर ही निपटारा कर दिया जाता है।

Southern Zonal Council meeting amit shah said 40 out of 51 pending issues resolved pwt
Author
New Delhi, First Published Nov 14, 2021, 10:50 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई दिल्ली. केन्द्रीय गृह एवं सहकारिता मंत्री अमित शाह (Amit Shah) ने रविवार को तिरुपति में दक्षिण क्षेत्रीय परिषद की 29वीं बैठक की अध्यक्षता की। बैठक में आंध्र प्रदेश, कर्नाटक और पुडुचेरी के मुख्यमंत्री, पुडुचेरी व अंडमान एवं निकोबार द्वीप समूह के उपराज्यपाल तथा लक्षद्वीप के प्रशासक शामिल हुए। साथ ही परिषद में शामिल राज्यों के मंत्री, केन्द्रीय गृह सचिव, अन्तर राज्य परिषद की सचिव और संबंधित राज्यों व केंद्र शासित प्रदेशों के मुख्य सचिव और अन्य वरिष्ठ अधिकारी भी बैठक में उपस्थित थे।

शाह ने कहा कि गृह मंत्रालय का यह प्रयास है हर साल स्थायी समिति की कम-से-कम 10 बैठक आयोजित की जाएं, क्योंकि स्थायी समिति की बैठक न केवल एजेंडा निर्धारण करती है बल्कि बहुत सारे मुद्दों का स्थायी समिति स्तर पर ही निपटारा कर दिया जाता है। उन्होंने कहा कि पिछले 7 साल में 580 से ज्यादा मुद्दों का स्थायी समिति और क्षेत्रीय परिषदों की बैठकों में निपटाये हैं। केन्द्रीय गृह मंत्री की अध्यक्षता में दक्षिण क्षेत्रीय परिषद की आज तिरुपति में हुई बैठक में 51 लंबित मामलों में से 40 पर सहमति बन गई।

उन्होंने कहा कि यह 1956 से लेकर अब तक की सबसे बड़ी संख्या है। इससे पता चलता है कि सलाहकारी भूमिका होने के बावजूद क्षेत्रीय परिषदें कितनी सफल रही हैं। श्री अमित शाह ने कहा कि अनसुलझें मसलों की संख्या बहुत न्यूनतम स्तर पर आई है, लेकिन मैं चाहता हूँ कि यह लगभग शून्य हो। अमित शाह ने प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी जी के नेतृत्व में विश्व के सबसे बड़े कोविड टीकाकरण अभियान के अन्तर्गत 100 करोड वैक्सीन का लक्ष्य पार करने के लिए भारत सरकार की तरफ से सभी राज्यों के प्रतिनिधियों को बधाई और धन्यवाद दिया।

अमित शाह ने कहा कि दक्षिणी भारत के राज्यों की प्राचीन संस्कृति,परंपराएं और भाषाएं भारत की संस्कृति और प्राचीन विरासत को समृद्ध करती हैं, दक्षिण भारत के राज्यों के अत्यंत महत्वपूर्ण योगदान के बिना भारत के विकास की कल्पना भी नहीं की जा सकती है। उन्होंने कहा कि भारतीय संस्कृति अनेक विविधताओं से परिपूर्ण हैं और विशेषरूप से दक्षिण भारत की संस्कृति, भाषाएं और परम्पराएं ना केवल भारत बल्कि पूरी दुनिया को आकर्षित करती हैं।

इसे भी पढे़ं-  Janjatiya Gaurav Diwas: Pm Modi रांची में करेंगे संग्रहालय का उद्घाटन, 25 फीट ऊंची होगी बिरसा मुंडा की प्रतिमा
PM Modi करेंगे World class station का उद्घाटन, देखिए अंदर से कैसा दिखता है Rani Kamlapati Railway Station

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios