Asianet News HindiAsianet News Hindi

Monsoon Update: गुजरात, गोवा, राजस्थान, मध्य प्रदेश, छग, केरल, हिमाचल कई राज्यों में भारी बारिश का अलर्ट

मौसम विभाग ने आजकल में गुजरात, दक्षिण पश्चिम राजस्थान, दक्षिण पश्चिम मध्य प्रदेश, कोंकण और गोवा और तटीय कर्नाटक, छत्तीसगढ़, दक्षिण मध्य प्रदेश, केरल, हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड में कही-कहीं भारी बारिश का अलर्ट जारी किया है।
 

Southwest monsoon activity in India, heavy rain alert in many states kpa
Author
New Delhi, First Published Aug 11, 2022, 7:10 AM IST

मौसम डेस्क. दक्षिण पश्चिमी मानसून(south west monsoon) की एक्टिविटी बनी रहने से कई राज्यों में मध्यम या भारी बारिश का दौर जारी है। भारत मौसम विज्ञान विभाग(IMD) ने कहा है कि आजकल में गुजरात, दक्षिण पश्चिम राजस्थान, दक्षिण पश्चिम मध्य प्रदेश, कोंकण और गोवा और तटीय कर्नाटक में हल्की से मध्यम बारिश के साथ कुछ स्थानों पर भारी बारिश हो सकती है। छत्तीसगढ़, दक्षिण मध्य प्रदेश के कुछ हिस्सों और केरल, हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड में हल्की से मध्यम बारिश के साथ एक या दो स्थानों पर भारी बारिश के आसार हैं। (पहली तस्वीर जम्मू के कालिका कॉलोनी क्षेत्र की है। यहां भारी मानसून की बारिश के कारण अचानक आई बाढ़ के बाद पुल डैमेज हो गए।)

Southwest monsoon activity in India, heavy rain alert in many states kpa

यह तस्वीर कुल्लू के एनी सबडिविजन की है। यहां लगातार मानसूनी बारिश के कारण अचानक आई बाढ़ के बाद कई घर डैमेज हो गए।

इन राज्यों में हल्की या मध्यम बारिश का अलर्ट
मौसम विभाग के अनुसार, आजकल में केरल, अंडमान और निकोबार द्वीप समूह के कुछ हिस्सों, गंगीय पश्चिम बंगाल, ओडिशा, पंजाब, हरियाणा और पूर्वी राजस्थान में हल्की से मध्यम बारिश हो सकती है। पूर्वोत्तर भारत, उप-हिमालयी पश्चिम बंगाल, जम्मू कश्मीर लद्दाख, उत्तर प्रदेश के कुछ हिस्सों, बिहार, तटीय ओडिशा, आंतरिक कर्नाटक और लक्षद्वीप में हल्की बारिश संभव है।

इन वजहों से बदल रहा मौसम
स्काईमेट वेदर(skymet weather) के अनुसार, ओडिशा के ऊपर बना डिप्रेशन पश्चिम उत्तर-पश्चिम दिशा में बढ़ गया है। यह छत्तीसगढ़ और पूर्वी मध्य प्रदेश के ऊपर है। यह पश्चिम उत्तर-पश्चिम दिशा में आगे बढ़ना जारी रखेगा। मानसून की ट्रफ रेखा राजकोट, अहमदाबाद, भोपाल, कम दबाव के केंद्र, चांदबली और फिर दक्षिण-पूर्व की ओर उत्तर अंडमान सागर से गुजर रही है। पूर्व पश्चिम विंडशियर जोन क्षेत्र लगभग 20 डिग्री उत्तर में चल रहा है। गुजरात तट से केरल तट तक अपतटीय ट्रफ बनी हुई है।

बीते दिन इन राज्यों में बारिश हुई
पिछले दिन उत्तरी पंजाब में एक या दो स्थानों पर भारी बारिश हुई। तटीय कर्नाटक, केरल, आंतरिक तमिलनाडु, मध्य महाराष्ट्र, तेलंगाना, राजस्थान के कुछ हिस्सों, झारखंड, सिक्किम और पूर्वोत्तर भारत में हल्की से मध्यम बारिश दर्ज की गई। उत्तर प्रदेश, तटीय ओडिशा, आंतरिक कर्नाटक, अंडमान और निकोबार द्वीप समूह, उप-हिमालयी पश्चिम बंगाल, गुजरात और बिहार में हल्की बारिश और दिल्ली में एक या दो स्थानों पर हल्की बारिश हुई। गंगीय पश्चिम बंगाल, कोंकण और गोवा और गुजरात में हल्की से मध्यम बारिश के साथ कुछ स्थानों पर भारी बारिश हुई। ओडिशा, छत्तीसगढ़, विदर्भन और दक्षिण मध्य प्रदेश में मध्यम से भारी तथा एक-दो स्थानों पर बहुत भारी बारिश रिकॉर्ड की गई।

दिल्ली में मौसम का हाल
दिल्ली में बुधवार को गर्म और उमस भरा दिन रहा और अधिकतम तापमान सामान्य से तीन डिग्री अधिक 37.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया, जबकि मौसम कार्यालय ने 11 अगस्त को हल्की बारिश की भविष्यवाणी की थी। भारत मौसम विज्ञान विभाग ने कहा कि दिल्ली में सुबह धूप खिली और न्यूनतम तापमान एक डिग्री बढ़कर 27.8 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। मौसम विभाग ने कहा कि अगले कुछ दिनों में अच्छी बारिश की संभावना कम है जो गर्म हो सकती है। आईएमडी के एक अधिकारी ने कहा, आम तौर पर आसमान में बादल छाए रहेंगे और गुरुवार को हल्की बारिश या बूंदाबांदी होगी। गुरुवार को अधिकतम और न्यूनतम तापमान क्रमश: 35 और 28 डिग्री सेल्सियस के आसपास रहने की संभावना है।

ओडिशा को मिलेगी भारी बारिश से राहत
ओडिशा के कई जिलों में मूसलाधार बारिश के कारण उफनती नदियों पर बने कुछ पुल ढह गए और सड़क संपर्क टूट गया।  भुवनेश्वर मौसम विज्ञान केंद्र ने कहा कि एक दबाव, जो एक दिन पहले ओडिशा के ऊपर था, छत्तीसगढ़ और पूर्वी मध्य प्रदेश के ऊपर एक अच्छी तरह से चिह्नित निम्न दबाव क्षेत्र (लोपर) में कमजोर हो गया। इसके पश्चिम-उत्तर-पश्चिम की ओर बढ़ने और धीरे-धीरे कमजोर होने की संभावना है। हालांकि मौसम ने गुरुवार सुबह तक सुंदरगढ़, मयूरभंज, बालासोर, भद्रक, जाजपुर, केंद्रपाड़ा, जगतसिंहपुर, कटक, ढेंकनाल और क्योंझर में बहुत भारी बारिश की नारंगी चेतावनी जारी की। इसने गुरुवार को बरगढ़, झारसुगुड़ा, संबलपुर, देवगढ़, सुंदरगढ़, क्योंझर, मयूरभंज और बालासोर में भारी बारिश की चेतावनी दी है। अगले तीन दिनों तक कई जिलों में भारी से बहुत भारी बारिश का अनुमान है। मछुआरों को गुरुवार तक तट से दूर न जाने की सलाह दी गई है, क्योंकि पश्चिमोत्तर और मध्य बंगाल की खाड़ी में 45-55 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से हवा चलने की संभावना है। 

राजस्थान में अगले सप्ताह जारी रहेगी मानसून गतिविधि
मौसम विभाग ने कहा है कि राजस्थान में मानसून की गतिविधि अगले सप्ताह जारी रहेगी और 12 अगस्त से बारिश की तीव्रता बढ़ेगी। जयपुर में मौसम विज्ञान केंद्र के एक प्रवक्ता के अनुसार, मंगलवार को ओडिशा के ऊपर बना डिप्रेशन सिस्टम कम दबाव के क्षेत्र में कमजोर हो गया और वर्तमान में पूर्वी मध्य प्रदेश और आसपास के क्षेत्रों में स्थित है। अगले 48 घंटों में इसके पश्चिम की ओर और तेज होने की संभावना है। इसी तरह, 13 अगस्त के आसपास बंगाल की खाड़ी में एक और नया निम्न दबाव का क्षेत्र बनने की संभावना है। इन मौसम प्रणालियों के प्रभाव में, अगले एक सप्ताह के दौरान राजस्थान में मानसून की गतिविधि जारी रहेगी। उन्होंने कहा कि राज्य में 12 अगस्त को बारिश की गतिविधि और बढ़ जाएगी, जहां ज्यादातर जगहों पर हल्की से मध्यम बारिश और अलग-अलग जगहों पर भारी से बहुत भारी बारिश होने की संभावना है। मौसम विभाग ने बारां, झालावाड़ और कोटा में मध्यम से भारी बारिश की चेतावनी जारी की है।

यह भी पढ़ें
Monsoon Update: मुंबई, गुजरात, मध्यप्रदेश, छत्तीसगढ़, राजस्थान सहित कई राज्यों में हो सकती है तेज बारिश
चीन में मिला जूनोटिक लैंग्या वायरस, अब तक 35 लोग संक्रमित मिले, ह्यूमन टू ह्यूमन संक्रमण का खतरा नहीं

 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios