Asianet News HindiAsianet News Hindi

Monsoon activities: दिल्ली से जल्द विदा लेगा मानसून, राजस्थान, यूपी, हरियाणा,असम में भारी बारिश का अलर्ट

मौसम विभाग का अनुमान है कि इस हफ्ते के अंत तक दिल्ली से मानसून की वापसी होने लगेगी। इधर,राजस्थान, दिल्ली एनसीआर के कुछ हिस्सों, पश्चिमी उत्तर प्रदेश, हरियाणा, असम, मेघालय, अरुणाचल प्रदेश और नागालैंड के कुछ हिस्सों में भारी बारिश का अलर्ट जारी किया है।

Southwest monsoon is likely to retreat from Delhi by weekend, Heavy rain alert in various states kpa
Author
First Published Sep 26, 2022, 7:29 AM IST

मौसम डेस्क. भारत मौसम विज्ञान विभाग (IMD) ने आजकल में पूर्वोत्तर राजस्थान, दिल्ली एनसीआर के कुछ हिस्सों, पश्चिमी उत्तर प्रदेश, हरियाणा, असम, मेघालय, अरुणाचल प्रदेश और नागालैंड में हल्की से मध्यम बारिश के साथ कुछ स्थानों पर भारी बारिश की चेतावनी दी है। इसके अलावा पंजाब के कुछ हिस्सों, उप-हिमालयी पश्चिम बंगाल, सिक्किम, बाकी पूर्वोत्तर भारत, बिहार, झारखंड, ओडिशा, पूर्वी राजस्थान, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़ और कोंकण और गोवा में हल्की से मध्यम बारिश हो सकती है। विदर्भ, मराठवाड़ा, तेलंगाना, आंतरिक कर्नाटक, अंडमान और निकोबार द्वीप समूह और लक्षद्वीप में हल्की बारिश संभव है। (तस्वीर शिमला की है)

दिल्ली में यमुना का जलस्तर चेतावनी के निशान के करीब
अपर कैचमेंट एरियाज में भारी बारिश के बाद रविवार को यहां यमुना का जलस्तर 204.5 मीटर के चेतावनी के निशान के करीब पहुंच गया। इसके और अधिक ऊपर जाने की आशंका है। दिल्ली फ्लड कंट्रोल रूम ने कहा कि रविवार रात रात 9 बजे जलस्तर 204.4 मीटर तक पहुंच गया था। दिल्ली में बाढ़ की चेतावनी तब दी जाती है, जब हरियाणा के यमुना नगर में हथिनीकुंड बैराज से डिस्चार्ज दर 1 लाख क्यूसेक के निशान को पार कर जाती है। तब बाढ़ के मैदानों और बाढ़ संभावित क्षेत्रों के आसपास रहने वाले लोगों को निकाला जाता है।

बता दें कि उत्तराखंड, हिमाचल प्रदेश और उत्तरी उत्तर प्रदेश के कुछ हिस्सों में पिछले कुछ दिनों से लगातार बारिश हो रही है। यमुना नदी सिस्टम के जलग्रहण क्षेत्र में उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, हिमाचल प्रदेश, हरियाणा, राजस्थान, मध्य प्रदेश और दिल्ली के कुछ हिस्से शामिल हैं। दिल्ली में नदी के पास के निचले इलाकों को बाढ़ की चपेट में माना जाता है। वे लगभग 37,000 लोगों के घर हैं। यमुना ने 12 अगस्त को 205.33 मीटर के खतरे के निशान को पार कर लिया था, जिसके बाद लगभग 7,000 लोगों को नदी के किनारे के निचले इलाकों से निकाला गया था। 

दक्षिण पश्चिम मानसून के इस हफ्ते के अंत तक दिल्ली से लौटने की संभावना
दक्षिण पश्चिम मानसून के इस हफ्ते के अंत तक दिल्ली और आसपास के इलाकों से पीछे हटने की संभावना है। यानी मानसून की वापसी होने लगेगी। मौसम विभाग ने कहा  कि दक्षिण-पश्चिम राजस्थान में एक एंटी-साइक्लोन स्थापित होने से राजस्थान, पंजाब, हरियाणा और दिल्ली में उत्तर-पश्चिमी हवाएं चलेंगी, जिससे वातावरण में नमी की मात्रा में गिरावट आएगी। Skymet Weather के वाइस प्रेसिडेंट (मौसम विज्ञान और जलवायु परिवर्तन) महेश पलावत ने कहा कि अगले दो-तीन दिनों में मानसून की वापसी के लिए परिस्थितियां अनुकूल हो जाएंगी। हमें उम्मीद है कि मानसून 30 सितंबर से 1 अक्टूबर तक दिल्ली से पीछे हट जाएगा।" 

भारत मौसम विज्ञान विभाग ने कहा कि वर्तमान में, दक्षिण-पश्चिम मानसून की वापसी की रेखा खाजूवाला, बीकानेर, जोधपुर और नलिया से होकर गुजरती है। दिल्ली में 21 सितंबर से 24 सितंबर तक लगातार बारिश ने राजधानी को पिछले डेढ़ महीने में भारी बारिश की कमी को पूरा करने में मदद की है। 

बीते दिन इन राज्यों में हुई बारिश
स्काईमेट वेदर(skymet weather) के अनुसार, बीते दिन हरियाणा, दिल्ली के कुछ हिस्सों, पूर्वी राजस्थान, असम और आंतरिक ओडिशा में हल्की से मध्यम बारिश के साथ कुछ स्थानों पर भारी बारिश हुई। शेष पूर्वोत्तर भारत, उप-हिमालयी पश्चिम बंगाल, छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश, दक्षिण-पूर्वी राजस्थान, कोंकण और गोवा, मध्य महाराष्ट्र, तटीय कर्नाटक, पंजाब के कुछ हिस्सों, उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड में हल्की से मध्यम बारिश हुई। बिहार, झारखंड, गंगीय पश्चिम बंगाल, तटीय आंध्र प्रदेश, केरल, अंडमान और निकोबार द्वीप समूह, आंतरिक कर्नाटक और लक्षद्वीप में हल्की बारिश हुई।

pic.twitter.com/acMv5nA3uc

यह भी पढ़ें
हिमाचल के कुल्लू में टेम्पो के खाई में गिरने से 7 पर्यटकों की मौत, Facebook Live के जरिये MLA ने दी जानकारी
उफनती नदी में कंधे पर बाइक और बाइक पर महिला, राजस्थान का Video Viral

 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios