Asianet News Hindi

बेटी ने पूरी की सुषमा स्वराज की आखिरी ख्वाहिश, देश के बड़े वकील साल्वे को दिया 1 रुपए का सिक्का

पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज की बेटी बांसुरी ने अपनी मां की आखिरी ख्वाहिश को पूरा किया। उन्होंने देश के जाने-माने वकील हरीश साल्वे को बुलाकर कुलभूषण मामले की फीस के तौर पर एक रुपए का सिक्का दिया। सुषमा के पति स्वराज कौशल ने ट्वीट कर यह जानकारी दी।

Sushma Swaraj Daughter Bansuri Fulfils mother last Promise,  Meets Harish Salve
Author
New Delhi, First Published Sep 28, 2019, 12:39 PM IST
  • Facebook
  • Twitter
  • Whatsapp

नई दिल्ली. पूर्व विदेश मंत्री सुषमा स्वराज की बेटी बांसुरी ने अपनी मां की आखिरी ख्वाहिश को पूरा किया। उन्होंने देश के जाने-माने वकील हरीश साल्वे को बुलाकर कुलभूषण मामले की फीस के तौर पर एक रुपए का सिक्का दिया। सुषमा के पति स्वराज कौशल ने ट्वीट कर यह जानकारी दी।

सुषमा स्वराज का निधन 6 अगस्त को हो गया। मौत के कुछ घंटे पहले ही सुषमा ने पाकिस्तान जेल में बंद कुलभूषण जाधव के अंतरराष्ट्रीय अदालत में वकील हरीश साल्वे को फोन किया था। उन्होंने कहा था कि कल आना और अपनी 1 रुपए फीस ले जाना। 
 


कुलभूषण का केस लड़ रहे हैं साल्वे
दरअसल,  हरीश कुलभूषण मामले में अंतरराष्ट्रीय अदालत में भारत की ओर से केस लड़ रहे हैं। उन्होंने इस केस के लिए सिर्फ एक रुपए फीस ली है।  साल्वे ने बताया था कि सुषमाजी ने निधन से करीब एक घंटे पहले उन्हें फोन किया था। उन्होंने कहा था कि वे उनसे मिलने आएंगीं। आपने जो केस जीता है, उसकी एक रुपए फीस आपको दूंगी। मैंने कहा, हां मैं अपनी कीमती फीस लूंगा। उन्होंने कहा, कल 6 बजे आकर मिलना।   

पाक जेल में बंद हैं जाधव 
पाकिस्तानी सेना ने जासूसी और आतंकवाद के आरोप में अप्रैल 2017 में कुलभूषण जाधव को मौत की सजा सुनाई थी। पाकिस्तान का आरोप है कि भारतीय नौसेना अधिकारी जाधव एक बिजनेसमैन नहीं बल्कि एक जासूस है। भारत ने मई 2017 में आईसीजे के समक्ष यह मामला उठाया था। साथ ही पाक पर राजनयिक मदद न मुहैया करवाने का आरोप लगाया था।

आईसीजे में मिली जीत को सुषमा ने महान बताया था 
अंतरराष्ट्रीय अदालत ने कुलभूषण की फांसी की सजा पर रोक लगा दी थी। साथ ही कहा था कि जब तक पाकिस्तान प्रभावी ढंग से फैसले की समीक्षा और उस पर पुनर्विचार नहीं कर लेता, फांसी पर रोक जारी रहेगी। सुषमा ने अंतरराष्ट्रीय अदालत में मिली भारत की इस जीत को महान जीत बताया था। 

Follow Us:
Download App:
  • android
  • ios